कौन बनेगा करोड़पति भारत का एक रियालटी शो है और इसका पहला एपिसोड 2000 में सोनी टीवी पर हुआ था। बॉलीवुड के मेगास्टार अमिताभ बच्चन इस शो के होस्ट हैं। समय के साथ साथ इस शो में कई बदलाव भी किए गए हैं और यह शो टीवी जगत के फेमस रियालटी शो में से एक है। सोनी टीवी के इस रियालटी शो को हमेशा से लोगो का प्यार मिलता रहा है। 

कौन बनेगा करोड़पति में आज तक कुछ ही लोग पूरी रकम जीत पाए हैं क्यूंकि इस शो में पूछे जाने वाले सवालों का जवाब दे पाना इतना भी आसान नहीं होता है। कंटेस्टेंट की अपनी पूरी तैयारी होने पर भी उन्हें कई मुश्किलों का सामना करना पड़ता है। “कौन बनेगा करोड़पति “सीजन 14 की पहली करोड़पति कोल्हापुर की कविता चावला है।

कौन बनेगा करोड़पति में अमिताभ बच्चन ने KBC में छत्तीसगढ़ के कोरिया जिले से जुड़ा एक सवाल पूछा। सवाल ये था- ‘माना जाता है कि 1947 में, कोरिया के महाराजा द्वारा भारत में किस पशु प्रजाति के अंतिम ज्ञात जीवित सदस्यों को गोली मार दी गई थी।’ सही जवाब देने पर हॉट सीट बैठे उत्तर प्रदेश के प्रतिभागी को 75 लाख रुपए मिलते, लेकिन प्रतिभागी ने खेल से क्वीट कर लिया। क्या आप इसका जवाब जानते हैं। अगर नहीं जानते तो हम आपको इसका जवाब बताएंगे।

जाने इस सवाल का क्या है जवाब :

सोनी टीवी के फेमस शो कौन बनेगा करोडपति को लोग बेहद पसंद करते है और पुरे भारत में एषो हर घर में देखा जाता है। आज तक इस शो में कई ऐसे सवाल पूछे गए हैं जिनके बारे में कम ही जानते होंगे। हालहि में इस शो पर एक ऐसा ही सवाल पूछा गया जिसका जवाब शायद ही किसी को पता होगा।

सोनी टीवी के सुपरहिट शो ‘कौन बनेगा करोड़पति’ लोग अपने-अपने घरों में देख रहे थे। इसी बीच अचानक कोरिया से जुड़ा एक सवाल स्क्रीन पर नजर आया और कोरियावासी आश्चर्यचकित रह गए। दरअसल होस्ट महानायक अमिताभ बच्चन के सामने हॉट सीट पर उत्तर प्रदेश के ‘वेल्डिंग मैकेनिक ऋषभ’ केबीसी खेल रहे थे।

अमिताभ बच्चन भी इस कंटेस्टेंट की प्रतिभा देख काफी प्रभावित हो गए थे। ‘वेल्डिंग मैकेनिक ऋषभ’ शो में पुरे ध्यान और धर्य के साथ 14 सवालों का जवाब देकर 50 लाख जीत चुके थे। केबीसी के 15वें प्रश्न में सवाल पूछा गया, जिसका सही जवाब देने पर 75 लाख मिलते। लेकिन ऋषभ सवाल का जवाब नही दे पाए और खेल से क्विट कर लिया।

फिर अमिताभ बच्चन ने दर्शकों को बताया कि इस प्रश्न का सही जवाब ऑप्शन-बी एशियाई चीता है। कोरिया के महाराजा रामानुज प्रताप सिंहदेव ने वर्ष 1947 में शिकार किया था। वर्तमान में कोरिया, छत्तीसगढ़ में एक जिला के रूप में स्थापित है।

यह सवाल पूछा गया था

माना जाता है कि 1947 में, कोरिया के महाराजा द्वारा भारत में किस पशु प्रजाति के अंतिम ज्ञात जीवित सदस्यों को गोली मार दी गई थी। इसके 4 ऑप्शन थे-

ए-नीलगिरि तहर

बी-एशियाई चीता

सी-सुमात्रा गैंडा

डी-गुलाबी सिर वाला बत्तख

ये है मामला

बॉम्बे नेचुरल हिस्ट्री के दस्तावेज के अनुसार वर्ष 1947 में भारत के आखिरी चीते का रामगढ़ के जंगल शिकार करने का उल्लेख है।

कोरिया रियासत के महाराजा रामानुज प्रताप सिंहदेव ने गांव की रक्षा करने आदमखोर चीते का शिकार किया था। महाराजा ने शिकार करने के बाद 3 मृत चीते के साथ फोटो खिंचवाई थी।

यह कोरिया जिला एवं भारत में चीता देखने की अंतिम घटना मानी जाती है। कोरिया पैलेस में आज भी महाराजा की खिंचवाई फोटो और चीतों के सिर लगे हुए हैं। वहीं भारत में वर्ष 1952 में वन्यजीव प्राणी चीता को विलुप्त घोषित कर दिया गया है।