हमारे इंडियन जान बूझकर करते हैं ऐसे काम? जिस काम को नहीं करना उसे पहले करते है..

indian rules breaker: अमिताभ बच्चन की फिल्म 'सरकार-3' का मशहूर dialogue है कि "मुझे जो सही लगता है, मैं करता हूँ। वो चाहे भगवान के खिलाफ हो, समाज के खिलाफ हो, पुलिस, कानून, या फिर पूरे सिस्टम के खिलाफ हो।" अगर आप सोचते हैं कि ऐसे dialogue सिर्फ फिल्मों में ही मुमकिन हैं तो आप पूरी तरह से गलत हैं। indian rules breaker ये इंडिया है जनाब! यहाँ कुछ भी नामुमकिन नहीं है। यहां लोग संसद में बैठकर porn देखते मिलते हैं तो कुछ ऐसे होते हैं जो वहां पेशाब करते नजर आ जाते हैं, जहां पहले से ही लिखा होता है कि "यहाँ पेशाब करना मना है", मानो सारे नियमों को इन्होंने पोटली बनाकर रख लिया हो. और पढ़े: हाईकोर्ट ने केजरीवाल से पूछा! जब जेटली से माफी मांग सकते हो फिर कांस्टेबल से क्यू नहीं.. कुल मिलाकर ऐसे लोग वही करते हैं जो इन्हें पसंद होता है। आज हम आपको ऐसे ही कुछ लोगों की तस्वीरें दिखाने वाले हैं। एक बार आप भी देखिए। यकीनन आपको यह तस्वीरें जरूर गुदगुदाएंगी। यही तो चाहिए कुछ लोगों को 'नो पार्किंग' में गाड़ी पार्क करने में सबसे ज्यादा मजा आता है। वो 'पार्किंग' का बोर्ड नहीं बल्कि 'नो पार्किंग' का बोर्ड. ट्रैफिक रूल्स की धज्जियाँ इन महाशय को देखिये, कितनी आसानी से ट्रैफिक रूल्स की धज्जियाँ उड़ा रहे हैं. और पढ़े: अवि डांडिया ने झूठी खबर फैलाने वाले अभिषेक मिश्रा की बजायी बैंड… Follow @Indiavirals ? ------
 

हमारे इंडियन जान बूझकर करते हैं ऐसे काम? जिस काम को नहीं करना उसे पहले करते है..

indian rules breaker: अमिताभ बच्चन की फिल्म 'सरकार-3' का मशहूर dialogue है कि "मुझे जो सही लगता है, मैं करता हूँ। वो चाहे भगवान के खिलाफ हो, समाज के खिलाफ हो, पुलिस, कानून, या फिर पूरे सिस्टम के खिलाफ हो।" अगर आप सोचते हैं कि ऐसे dialogue सिर्फ फिल्मों में ही मुमकिन हैं तो आप पूरी तरह से गलत हैं। हमारे इंडियन जान बूझकर करते हैं ऐसे काम? जिस काम को नहीं करना उसे पहले करते है..

indian rules breaker

ये इंडिया है जनाब! यहाँ कुछ भी नामुमकिन नहीं है। यहां लोग संसद में बैठकर porn देखते मिलते हैं तो कुछ ऐसे होते हैं जो वहां पेशाब करते नजर आ जाते हैं, जहां पहले से ही लिखा होता है कि "यहाँ पेशाब करना मना है", मानो सारे नियमों को इन्होंने पोटली बनाकर रख लिया हो. और पढ़े: हाईकोर्ट ने केजरीवाल से पूछा! जब जेटली से माफी मांग सकते हो फिर कांस्टेबल से क्यू नहीं.. कुल मिलाकर ऐसे लोग वही करते हैं जो इन्हें पसंद होता है। आज हम आपको ऐसे ही कुछ लोगों की तस्वीरें दिखाने वाले हैं। एक बार आप भी देखिए। यकीनन आपको यह तस्वीरें जरूर गुदगुदाएंगी। हमारे इंडियन जान बूझकर करते हैं ऐसे काम? जिस काम को नहीं करना उसे पहले करते है..

यही तो चाहिए

कुछ लोगों को 'नो पार्किंग' में गाड़ी पार्क करने में सबसे ज्यादा मजा आता है। वो 'पार्किंग' का बोर्ड नहीं बल्कि 'नो पार्किंग' का बोर्ड. हमारे इंडियन जान बूझकर करते हैं ऐसे काम? जिस काम को नहीं करना उसे पहले करते है..

ट्रैफिक रूल्स की धज्जियाँ

इन महाशय को देखिये, कितनी आसानी से ट्रैफिक रूल्स की धज्जियाँ उड़ा रहे हैं. और पढ़े: अवि डांडिया ने झूठी खबर फैलाने वाले अभिषेक मिश्रा की बजायी बैंड…

------