दुनिआ का सबसे ठंडा पठार अंटार्कटिका

0
1186

Earth’s most coldest super-continent.

Earth’s most coldest super-continent. सबसे ठंडी जगह की बात करने पर हमें बर्फ याद आती है. आज हम आप को उस जगह (महाद्वीप) का नाम बताने जा रहे है. उस जगह का नाम है अंटार्कटिका महाद्वीप. अंटार्कटिका महाद्वीप प्रथ्वी के दक्षिणी धुविये पट्टार में स्थित है.

 coldest super-continent.

Read also : Exams के दौरान महत्वपूर्ण बाते

Earth’s most coldest super-continent.

यहाँ हमेशा बर्फ जमी रहती है.इस पर जमी बर्फ की मोटाई3 हज़ार किलो मीटर तक हो सकती है. इस को एक बर्फ से जमा हुआ पट्टार कहना सही होगा. इतनी बर्फ जमा होने के कारण अंटार्कटिका के पहाड़ो की लम्बाई व् उचाई. हमेसा घटती बढ़ती रहती है. बर्फ के फैलाव के कारण पहाड़ की उचाई 10 हजार फ़ीट या उस से भी अधिक हो जाती है.

Earth's most coldest super-continent.

यहाँ का ताप-मान -48 से -49 तक पहुंच जाता है.इस महाद्वीप पर अगर सबसे बड़े पहाड़ की बात करे तो.वह है माउंट विन्सन .इस पहाड़ की उचाई है 16066 फ़ीट ( 4897) मीटर तक है. इस महाद्वीप पर कुल जगह के 44% पर बर्फ तैरती मिलती है. वही पर 38% बर्फ ज़मीन पर जमी हुई है. इसकी कुल ज़मीन के कुल भाग का 5% भाग चटानो से भरा हुआ है.

Read also : जानिए क्यों होता है हमारा रंग काला या भूरा !

अंटार्कटिका हमेसा एक ठंडा महाद्वीप नहीं था. अंटार्कटिका पहले गोंडवाना महाद्वीप का ही एक भाग था. लेकिन 25 मिलियन साल पहले ये गोंडवाना महाद्वीप से अलग हो गया. 170 मिलियन साल पहले यह जंगलो से घिरा एक बहुत बड़ा स्थान था. लेकिन वर्तमान में बर्फ से घिरा एक बहुत ही ठंडा पठार है.

Read also : इस ग्रह पर एक हजार वर्ष का एक साल जानिए क्यों ?

लेकिन धरती पर हो रहे मौसम में बदलाव से अंटार्कटिका महाद्वीप पर बर्फ काम हो रही है. ये हमें बताता है की किस तरह मानव ने पृथवी के संतुलन को बिगाड़ के राजहग दिया है. अंटार्कटिका महाद्वीप महारे मौसम के बदलाव में बहुत महत्वपूर्ण भूमिलका निभाता है. वायुमंडल में दिन प्रति दिन बढ़ते जा रहे पर्दूषण से न केवल पृथ्वी को हानि होगी. अपितु मानव के जीवन पर तो इसका बहुत ज्यादा असर होगा.

Read also :