Neeloo Neelpari Rose Day Poem, Happy Rose Day 2018

Neeloo Neelpari Rose Day Poem

9 Days, 9 Colors, 9 Poems for Rose Day to Valentine Day Poem by Neeloo Neelpari

Rose day (07 Feb)

वो कहते हैं हम से, ओ परी !
मेरे ख्वाबो में तुम आती हो
दिन के उजाले में जो न कह पाएं,
तुम्हारे कचनारी गुलाबी होंठ,
मेरी तन्हा रातों में अक्सर
तुम्हारी खामोशी गुनगुनाती है
नीले गुलाब से चंचल नैना
मेरे सीने में बाण चलाते हैं
घनेरी ज़ुल्फ़ काले गुलाब सा जादू
तुम आयी ज़िन्दगी में लिए
पीले गुलाब सी पीताम्बरी रूह
तेरे आने की आमद से हो गयी
गुलाबी पंखुरी मेरे दिल की फ़िज़ा

सुन,आ देख, ओ नीलपरी!
इन महकते गुलाबों में
दिल के सब अहसास भर
इस रोज़ डे पर चाँद तारों संग
बिखेर लाखों सफेद गुलाब
सजाई है अरमानों की सेज
आ गुलाबों वाले नीले आसमान के तले
प्रेम के रंग में रंग जाएं
ज़िंदगी अपनी रूमानी बन जाये.. ?

और दूर fm पर गाना सुनाई दिया….
ख्वाब हो तुम या कोई हक़ीक़त कौन हो तुम बतलाओ… देर से कितनी दूर खड़ी हो और करीब आ जाओ…!!

© नीलू ‘नीलपरी’

Read also : Propose Day Poem by Neeloo Neelpari

By dp

You missed