अपने जमाने की टॉप एक्ट्रेसेस में शुमार एक्ट्रेस नीतू कपूर ने महज 21 साल की उम्र में शादी के बाद एक्टिंग को अलविदा कह दिया था. लेकिन दो साल पहले पति ऋषि कपूर के गुजर जाने के बाद उन्होंने पर्दे पर जोरदार वापसी की है. एक तरफ वह बड़े पर्दे पर फिल्म ‘जुग जुग जियो’ में नजर आएंगी, वहीं दूसरी तरफ वह रियलिटी शो ‘डांस दीवाने जूनियर’ के जज के तौर पर छोटे पर्दे पर डेब्यू कर रही हैं। हाल ही में अपने निजी जीवन को लेकर उन्होंने एक साक्षात्कार में कई बातों का खुलासा किया.

इंटरव्यू में बात करते हुए वह कहती हैं कि जब मेरे पति (ऋषि कपूर) का निधन हुआ तो मेरे बच्चों ने कहा, ‘मम्मी, अब कुछ करो। हम नहीं चाहते कि आप घर पर रहें। उन्होंने मुझ पर ‘जुग-जुग जियो’ करने के लिए दबाव डाला, इसलिए मैंने वह फिल्म की। फिर मैंने दो-तीन शो किए, खूब मस्ती की और मेरा दिल भी बहल रहा था। सबसे जरूरी है कि आपका दिमाग व्यस्त हो, इसलिए मुझे अच्छा लगने लगा। कॉन्फिडेंस भी बढ़ा, वरना जब मैंने ‘जुग-जुग जियो’ की तो मेरा कॉन्फिडेंस जीरो था। मैंने डायलॉग मास्टर को घर पर बुलाया और संवादों का पूर्वाभ्यास किया, क्योंकि तब और आज का अभिनय बहुत अलग है। हमारे जमाने में एक्टिंग बहुत ही एनिमेटेड एक्टिंग हुआ करती थी, आमने-सामने, अब यह काफी रियल और नेचुरल हो गई है, इसलिए मुझे क्लास लेनी पड़ी।

वह बात करते हुए कहती है कि ‘दो दूनी चार’ के समय मेरा फिल्मों में आने का कोई इरादा नहीं था। उन लोगों को मेरी जरूरत थी इसलिए ऋषि जी ने इस फिल्म को करने का अनुरोध किया। मैंने मना कर दिया, तो उसने कहा कि अच्छा तुम बस कहानी सुनो, फिर फैसला करो। जब मैंने कहानी सुनी, तो मुझे यह इतना पसंद आया कि मैंने कहा कि मैं करूंगी । इस तरह मैंने उस फिल्म को किया । फिर, मैंने ‘बेशरम’ की क्योंकि मुझे इसमें अपने पति और बेटे का होने का लालच था लेकिन दुर्भाग्य से वह उतनी अच्छी नहीं निकली। मैंने ये फिल्में ये सोचकर ही नहीं की कि वापस आ जाऊं, काम करूं. तब मेरा जीवन बहुत व्यस्त था। ऋषि जी मुझे इतना व्यस्त रखते थे कि मुझे समय ही नहीं मिलता था, लेकिन अब मुझे काम करना है. मैं व्यस्त रहना चाहती हूं और खूब सारा काम करना चाहती हूं, ताकि मैं किसी और चीज के बारे में न सोचूं, व्यस्त रहूं। नहीं तो मेरी काम पर लौटने की कोई इच्छा नहीं थी।

अपने वर्तमान जीवन पर बात करते हुए वह कहती हैं कि अभी मैं इन सभी चीजों का लुफ्त उठा रही हूं. लोगों से मिल रही रही हो और उन्हें अपना दोस्त बना रही हूं. नहीं तो एक समय या सब मेरे लिए एक नौकरी की तरह था कि मुझे जाना है, काम करना, क्योंकि मुझे अभिनेत्री बनने की कोई इच्छा नहीं थी। मुझे अपने परिवार के लिए ऐसा करना पड़ा। लेकिन आज मैं यह कर रही हूं क्योंकि मैं करना चाहती हूं और यही कारण है कि मैं अपने भविष्य को लेकर ज्यादा उत्साहित हूं.

By Admin