ओवैसी ने आरोपित का दिया साथ तो मध्य प्रदेश के लोगों ने दे डाली नसीहत

एमपी के जबलपुर में एक दुकानदार अपनी दुकान के अंदर एक युवती के साथ आपत्तिजनक अवस्था में पकड़ा गया. इसके बारे में असदुद्दीन ओवैसी ने दुकानदार के पक्ष में अपने ट्विटर हैंडल अकाउंट से ट्वीट किया. यह ट्वीट करना ओवैसी को काफी महंगा पड़ गया. इस ट्वीट के वजह से उन्हें बीजेपी विधायक रामेश्वर शर्मा के साथ साथ आम लोगों के भी विरोध का सामना करना पड़ रहा है. ओवैसी ने अपने ट्वीट में दुकानदार को पीढ़ी और शहर के लोगों को कायर कह कर संबोधित किया था. उन्होंने लिखा कि,' एक मुसलमान दुकानदार को कुछ हिंदुत्ववादी कायरों ने झुंड बनाकर घेरा और फिर उसके कपड़े उतार कर बेरहमी से मारा.' इसके बाद उन्होंने शिवराज सरकार पर निशाना साधते हुए एक के बाद एक लगातार तीन पोस्ट किए. ध्यान देने वाली बात यह है की असदुद्दीन ओवैसी हैदराबाद के संसद और एआईएमआईएम के अध्यक्ष के पद पर हैं. उनके इस ट्वीट पर बीजेपी विधायक रामेश्वर शर्मा ने जवाब दिया कि,' एमपी की ओर देखने की जरूरत नहीं है. आप हैदराबाद मैं ही अपने पजामे में नाडा कसते रहें. अपराध करने वालों के खिलाफ कार्रवाई होनी चाहिए. इस मामले में भी कार्रवाई करने वाली पुलिस और जनता बधाई के पात्र हैं.' उनके साथ साथ आम जनता भी ओवैसी की निंदा कर रही है और साथ-साथ कईयों ने तो आरोपियों का साथ ना देने की नसीहत भी दे डाली. यह मामला 17 मई का है जब जबलपुर के गोहलपुर थाना क्षेत्र स्थित मालगुजार परिसर में लॉकडाउन के दौरान पूरा बाजार बंद था. परंतु इस दौरान एक मोबाइल दुकान बंद था और जब हिंदू परिषद के लोगों ने दुकान का शटर खुलवाया तो अंदर दुकानदार किसी महिला के साथ आपत्तिजनक अवस्था में रंगे हाथों पकड़ा गया.
 

ओवैसी ने आरोपित का दिया साथ तो मध्य प्रदेश के लोगों ने दे डाली नसीहत

एमपी के जबलपुर में एक दुकानदार अपनी दुकान के अंदर एक युवती के साथ आपत्तिजनक अवस्था में पकड़ा गया. इसके बारे में असदुद्दीन ओवैसी ने दुकानदार के पक्ष में अपने ट्विटर हैंडल अकाउंट से ट्वीट किया. यह ट्वीट करना ओवैसी को काफी महंगा पड़ गया. इस ट्वीट के वजह से उन्हें बीजेपी विधायक रामेश्वर शर्मा के साथ साथ आम लोगों के भी विरोध का सामना करना पड़ रहा है. ओवैसी ने अपने ट्वीट में दुकानदार को पीढ़ी और शहर के लोगों को कायर कह कर संबोधित किया था. उन्होंने लिखा कि,' एक मुसलमान दुकानदार को कुछ हिंदुत्ववादी कायरों ने झुंड बनाकर घेरा और फिर उसके कपड़े उतार कर बेरहमी से मारा.' इसके बाद उन्होंने शिवराज सरकार पर निशाना साधते हुए एक के बाद एक लगातार तीन पोस्ट किए. ध्यान देने वाली बात यह है की असदुद्दीन ओवैसी हैदराबाद के संसद और एआईएमआईएम के अध्यक्ष के पद पर हैं. उनके इस ट्वीट पर बीजेपी विधायक रामेश्वर शर्मा ने जवाब दिया कि,' एमपी की ओर देखने की जरूरत नहीं है. आप हैदराबाद मैं ही अपने पजामे में नाडा कसते रहें. अपराध करने वालों के खिलाफ कार्रवाई होनी चाहिए. इस मामले में भी कार्रवाई करने वाली पुलिस और जनता बधाई के पात्र हैं.' उनके साथ साथ आम जनता भी ओवैसी की निंदा कर रही है और साथ-साथ कईयों ने तो आरोपियों का साथ ना देने की नसीहत भी दे डाली. यह मामला 17 मई का है जब जबलपुर के गोहलपुर थाना क्षेत्र स्थित मालगुजार परिसर में लॉकडाउन के दौरान पूरा बाजार बंद था. परंतु इस दौरान एक मोबाइल दुकान बंद था और जब हिंदू परिषद के लोगों ने दुकान का शटर खुलवाया तो अंदर दुकानदार किसी महिला के साथ आपत्तिजनक अवस्था में रंगे हाथों पकड़ा गया.