सुब्रमण्यम स्वामी की मांग: इस शहर का नाम नेताजी सुभाष चंद्र बोस के नाम पर रखा जाए, राज्यपाल को लिखा पत्र

0
122

प्रसिद्ध पर्यटन स्थल डलहौजी का नाम बदलने की मांग हो रही है. भाजपा के राज्यसभा सांसद सुब्रमण्यम स्वामी ने भी इस मांग के समर्थन राज्यपाल को पत्र लिखा है. उन्होंने अपनी मांग इस पर्यटन स्थल का नाम नेताजी सुभाष चंद्र बोस के नाम पर रखे जाने की अपील की है.

राज्यपाल को लिखे पत्र में सुब्रमण्यम स्वामी ने लिखा कि,’ मेरे सहयोगी पंजाब हरियाणा हाई कोर्ट के सीनियर अजय जग्गा की पुरानी मांग पर विचार करते हुए इस शहर का नाम नेताजी सुभाष चंद्र बोस के नाम पर कर दिया जाए.’ उन्होंने आगे लिखा है कि साल 1993 में राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री शांता कुमार के द्वारा इसे लेकर एक नोटिफिकेशन भी जारी किया गया था लेकिन बाद में वीरभद्र सिंह की तरफ से उस नोटिफिकेशन को रद्द कर आदेश को पलट दिया गया.

आगे उन्होंने अपने पत्र में लिखा कि नाम परिवर्तन को लेकर अजय जग्गा के पत्र में विस्तार से बताया गया. स्वामी ने राज्यपाल से निवेदन किया है की मुख्यमंत्री नाम परिवर्तन को लेकर आदेश जारी करें और 1993 के ही नोटिफिकेशन को लागू करें.

वहीं कुछ अन्य लोगों का मानना है कि स्थल का नाम डलहौजी होने पर काफी विदेशी लोग यहां पर आकर्षित होते हैं और इससे पर्यटन व्यवसाय को काफी ज्यादा बढ़ावा मिलता है.

कुछ अन्य लोगों का मानना है कि नाम बदलने से पर्यटन व्यवस्था में तेजी आ सकती है क्योंकि इलाहाबाद का नाम प्रयागराज करने के बाद पर्यटकों की संख्या में काफी ज्यादा बढ़ोतरी देखने को मिली है. गौरतलब है कि अभी हिमाचल प्रदेश में भाजपा की सरकार है बताते चलें कि 1937 में सुभाष चंद्र बोस पर स्वास्थ्य लाभ लेने के लिए आए थे तो वही 1873 में भी रविंद्र टैगोर ने भी यहां का दौरा किया था.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here