गावस्कर ने बताया, शुरुआत में क्यों लेते हैं रोहित शर्मा समय अपने बल्लेबाजी में

0
104

वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप 2021 का फाइनल, 18 जून से शुरू होने वाला है. इसमें भारत और न्यूजीलैंड जैसी दो धाकड़ टीमों ने जगह बनाई है. इस फाइनल को लेकर कई क्रिकेट विश्लेषकों ने पहले ही अपने-अपने भविष्यवाणी और दावे करने शुरू कर दिए हैं. भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान सुनील गावस्कर की माने तो रोहित शर्मा पांच दिन की इस मैच के दौरान अभूतपूर्व प्रदर्शन करेंगे. सुनील गावस्कर का मानना है कि लय में आने के लिए रोहित शर्मा को कुछ ओवरों की जरूरत पड़ती है. एक बार जाऊंगा शुरुआती बाधा पार कर लेते हैं तो मुंबई के इस दिग्गज खिलाड़ी को विश्व का कोई भी गेंदबाज रोक नहीं सकता.

गावस्कर ने अपने इंटरव्यू में कहा कि,’ रोहित हमेशा अटैक करने के लिए देखते हैं. वह अपने शॉर्ट सिलेक्शन के कारण ही आउट हो जाते हैं. हालांकि वह अगर सही तरीके से खेलते हैं, तो वाह इस फाइनल में कम से कम 1 शतक तो जरूर लगा पाएंगे.’

वही देखा जाए तो रोहित शर्मा अभी तक विदेशी धरती पर टेस्ट में शतक बनाने में कामयाब नहीं हो पाए हैं. लेकिन उनके हालिया फॉर्म और उनके रिकॉर्ड को देखते हुए यह बहुत ज्यादा कठिन नहीं लग रहा है. पिछले कुछ सालों में जिस तरह से रोहित शर्मा ने प्रदर्शन किया है और आईसीसी के टूर्नामेंट में उन्होंने जिस तरह से खेल दिखाया है उससे सबको यही लग रहा है कि फाइनल में रोहित शर्मा दोहरा शतक जरूर लगाएंगे.

गावस्कर ने कहा कि,’ रोहित ने आस्ट्रेलिया में भी बहुत ज्यादा रन नहीं बनाए थे. हालांकि जिस तरह से वह तेज गेंदबाजों को वहां खेल रहे थे वह बेहतरीन था. वह गेंदबाज 90 मील प्रति घंटे की रफ्तार से गेंदबाजी करते थे. पर रोहित जिस तरह से उन गेंदबाजों को खेल रहे थे लग रहा था मानो गेंदबाज 40 मील प्रति घंटे की रफ्तार से बहुत फेक रहा हूं. उनके पास शॉट खेलने का बहुत समय रहता है.

लिमिटेड ओवर फॉर्मेट में अपनी प्रतिभा का लोहा मनवा चुके रोहित शर्मा ने बतौर टेस्ट ओपनर भी अपनी छाप छोड़ी है. वर्ष 2019 में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ टेस्ट में रोहित से पहली बार सलामी बल्लेबाज के तौर पर उतरे थे जिसके बाद से रोहित ने कई शानदार पारियां खेली हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here