चाहे कितने भी मोर्चे बना लो, पूरा विपक्ष इकट्ठा कर लो, नरेंद्र मोदी नंबर 1 बने रहेंगे: केंद्रीय मंत्री

0
67

बीते मंगलवार को एनसीपी प्रमुख शरद पवार के घर कई सारे विपक्ष के नेता नेताओं ने बैठक की यह बैठक राष्ट्र मंच के बैनर तले बुलाई गई थी. और इससे देश में वैकल्पिक सोच विकसित करने का प्रयास बताया गया.

इस बैठक से पहले कई नेताओं ने संकेत दिए कि यह केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार के खिलाफ विपक्षी गोलमंदी की कोशिश है. मगर इस बैठक के बाद ही कई नेता ने कहा कि यह दावा बिल्कुल भी सही नहीं है.

दूसरी तरफ भारतीय जनता पार्टी और उसके सहयोगी दलों ने भी इस मीटिंग पर नजर रखी थी. गौरतलब है कि केंद्रीय मंत्री और बीजेपी के सहयोगी रिपब्लिकन पार्टी ऑफ इंडिया के नेता रामदास अठावले ने विपक्षी एकता के सूत्रधार बताया जा रहे शरद पवार की पार्टी के राजनीतिक कद पर सवाल उठाते हुए कहा कि “प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी नंबर वन बने रहेंगे.”

तो वहीं दूसरी ओर भाजपा के सांसद मीनाक्षी लेखी ने विपक्षी एकता पर फिरकी लेते हुए कहा कि ‘जनता से बार-बार नकाब मारे गए नेता.ओं को दिन में सपने दिखाने से कोई रोक नहीं सकता है.’

गौरतलब है कि एनसीपी प्रमुख शरद पवार के घर मंगलवार शाम हुई मीटिंग को गैर बीजेपी और गैर कांग्रेसी दलों को साथ लाने की कोशिश के तौर पर बैठक की गई. मगर ढाई घंटे चले इस बैठक के बाद मीटिंग में शामिल रहे नेताओं ने मीटिंग खत्म होने पर दावा किया कि ,’यह बैठक ना तो केंद्र की मोदी सरकार के खिलाफ मोर्चाबंदी है और ना ही इस में कांग्रेस को अलग-थलग रखा गया.’

इस बैठक में शामिल हुए एनसीपी नेता माजिद मेनन ने अपने बयान में कहा कि ‘यह बैठक राष्ट्र मंच के प्रमुख यशवंत सिन्हा ने बुलाई थी यह कहा जा रहा है कि शरद पवार साहब कोई बड़ा राजनीतिक कदम उठा रहे हैं और कांग्रेस का बहिष्कार किया गया है यह सही नहीं है.’

ध्यान देने वाली बात यह है कि कांग्रेस का इस बैठक में कोई भी नेता शामिल नहीं हुआ था कांग्रेस पार्टी के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने भी मंगलवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस की थी और उनसे इस बैठक के बारे में सवाल किया गया तो उन्होंने कहा कि,’वह अभी कोविड-19 करना चाहते हैं और राजनीति की बात करते हुए ध्यान नहीं भटका ना चाहते हैं.’ राहुल गांधी ने इसके साथ कहा कि,’मैं बात करके आपका अपना ध्यान नहीं बैठने देना चाहता हूं आप जानते हैं कि राजनीतिक में क्या क्या होने जा रहा है. इसकी चर्चा के लिए एक वक्त और जहां होती है और मैं उस वक्त आपसे बात करके खुश हूं.’

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here