बहुमत साबित करना होगा ममता बनर्जी को, TMC के 62 विधायक हमारे संपर्क में: BJP सांसद

पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव अगले साल होने वाले हैं। राज्य में भाजपा और सत्तारूढ़ पार्टी तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) के बीच राजनीतिक उठापटक और दलबदल जारी है। इस बीच, भाजपा सांसद सौमित्र खान ने दावा किया है कि 62 टीएमसी विधायक पार्टी के संपर्क में हैं। ये टीमें कभी भी बदल सकती हैं। भाजपा सांसद सौमित्र खान ने दावा किया है कि वह 15 दिसंबर तक टीएमसी को तोड़ देंगे। ममता बनर्जी की हालत ऐसी होगी कि सरकार चलाना भी मुश्किल हो जाएगा। इससे पहले, सौमित्र खान ने कहा है कि ऐसी संभावना है कि राज्यपाल जगदीप धनखड़ राज्य की विधानसभा में बहुमत साबित करने के लिए मुख्यमंत्री ममता बनर्जी से पूछ सकते हैं। खान ने 28 नवंबर को यहां एक कार्यक्रम में कहा, 'राज्यपाल अचानक मुख्यमंत्री से 149 का आंकड़ा (बहुमत) साबित करने के लिए कह सकते हैं। इसकी संभावना है। दरअसल, ममता सरकार में मंत्री रहे शुभेंदु अधिकारी के इस्तीफे के बाद से कयास लगाए जा रहे हैं कि वह भाजपा में शामिल हो सकते हैं। ऐसे में राज्य की मुख्यमंत्री और टीएमसी अध्यक्ष ममता बनर्जी के लिए यह सबसे बड़ा झटका होगा। शुभेंदु मिदनापुर के एक दबंग नेता हैं, जिनका सिक्का आसपास के जिलों में भी चलता है। शुभेंदु के इस्तीफे के बाद अफवाहों का बाजार गर्म है। अब भाजपा ने यह कहकर राजनीतिक गलियारों में हलचल बढ़ा दी है कि तृणमूल कांग्रेस 62 विधायकों के संपर्क में है।
 

बहुमत साबित करना होगा ममता बनर्जी को, TMC के 62 विधायक हमारे संपर्क में: BJP सांसद

पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव अगले साल होने वाले हैं। राज्य में भाजपा और सत्तारूढ़ पार्टी तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) के बीच राजनीतिक उठापटक और दलबदल जारी है। इस बीच, भाजपा सांसद सौमित्र खान ने दावा किया है कि 62 टीएमसी विधायक पार्टी के संपर्क में हैं। ये टीमें कभी भी बदल सकती हैं। भाजपा सांसद सौमित्र खान ने दावा किया है कि वह 15 दिसंबर तक टीएमसी को तोड़ देंगे। ममता बनर्जी की हालत ऐसी होगी कि सरकार चलाना भी मुश्किल हो जाएगा। इससे पहले, सौमित्र खान ने कहा है कि ऐसी संभावना है कि राज्यपाल जगदीप धनखड़ राज्य की विधानसभा में बहुमत साबित करने के लिए मुख्यमंत्री ममता बनर्जी से पूछ सकते हैं। खान ने 28 नवंबर को यहां एक कार्यक्रम में कहा, 'राज्यपाल अचानक मुख्यमंत्री से 149 का आंकड़ा (बहुमत) साबित करने के लिए कह सकते हैं। इसकी संभावना है। दरअसल, ममता सरकार में मंत्री रहे शुभेंदु अधिकारी के इस्तीफे के बाद से कयास लगाए जा रहे हैं कि वह भाजपा में शामिल हो सकते हैं। ऐसे में राज्य की मुख्यमंत्री और टीएमसी अध्यक्ष ममता बनर्जी के लिए यह सबसे बड़ा झटका होगा। शुभेंदु मिदनापुर के एक दबंग नेता हैं, जिनका सिक्का आसपास के जिलों में भी चलता है। शुभेंदु के इस्तीफे के बाद अफवाहों का बाजार गर्म है। अब भाजपा ने यह कहकर राजनीतिक गलियारों में हलचल बढ़ा दी है कि तृणमूल कांग्रेस 62 विधायकों के संपर्क में है।