किसानो के आंदोलन पर पाकिस्तान हाई कमान की साजिस का खुलासा

एक तरफ जहां कृषि कानूनों के खिलाफ कानून किसानों का प्रदर्शन (Farmers Protest) हो रहा है तो वहीं दूसरी तरफ पाकिस्तान (Pakistan) फिर से अपने नापाक इरादों को लेकर भारत के खिलाफ साजिश रचने की कोशिश कर रहा है. एक एक्सक्लूसिव जानकारी के अनुसार, दिल्ली में स्थित पाकिस्तानी हाई कमिशन लगातार किसान प्रदर्शन पर नजर जमाए हुए है और इसकी पल-पल की रिपोर्ट पाकिस्तान को भेज रहा है. जिससे भारत को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर बदनाम किया जा सके. खुफिया एजेंसियों की रिपोर्ट के अनुसार पाकिस्तान हाई कमीशन इस्लामाबाद में स्थित पाकिस्तानी विदेश मंत्रालय को यह सारी रिपोर्ट भेज रहा है, जहां पर हम रिपोर्ट के आधार पर पाक विदेश मंत्रालय आईएसआई (ISI) और पाक सेना के अधिकारी मिलकर भारत के खिलाफ साजिश रचते हैं. अभी पिछले ही महीने सुरक्षा एजेंसियों की रिपोर्ट के अनुसार यह बात सामने आई कि किसान प्रदर्शन की आड़ में पाकिस्तान की ISI ने दंगा फैलाने का षड्यंत्र रचा था. इसके लिए ISI ने कनाडा, यूके, और अमेरिका में स्थित पाकिस्तान दूतावास के जरिए खालिस्तानी आतंकियों के साथ कई रावण की बैठक की थी. वामपंथी न्यूज़ चैनल भी कर रहे हैं पाक की मदद भारत में हो रहे किसानों के प्रोटेस्ट को अंतरराष्ट्रीय रंग देने के लिए भारत के कुछ ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टल को इस साजिश में शामिल किया गया है. साथ ही इस बैठक में यह फैसला किया गया था कि उन्हीं न्यूज़ पोर्टल को प्लान में भी शामिल करना है जो मोदी सरकार के खिलाफ है और जो वामपंथी विचारधारा के हैं. एजेंसियों के मुताबिक, भारत विरोधी कई आर्टिकल को भारतीय न्यूज़ पोर्टल में एक साजिश के तहत जगह दी गई थी जिससे मोदी सरकार पर हमला किया जा सके. और इसका फायदा पाकिस्तान भारत की अंतरराष्ट्रीय स्तर पर छवि बिगाड़ने में उठा सके. भारत की साख खराब करने की साजिश सूत्रों के हवाले से यह पता चला है कि हाल ही में स्ट्रैटेजिक कम्युनिकेशन डिवीजन की एक बैठक में आईएसआई ने भारत को बदनाम करने के लिए कश्मीर के साथ-साथ कई नक्सल प्रभावित इलाकों और नार्थ ईस्ट में तैनात भारतीय सुरक्षा बलों के खिलाफ मानव अधिकार हनन के फर्जी मामलों को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर उठाने की मांग की है जिसके जरिए भारत की बढ़ती छवि को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर खराब किया जा सके.
 

किसानो के आंदोलन पर पाकिस्तान हाई कमान की साजिस का खुलासा

एक तरफ जहां कृषि कानूनों के खिलाफ कानून किसानों का प्रदर्शन (Farmers Protest) हो रहा है तो वहीं दूसरी तरफ पाकिस्तान (Pakistan) फिर से अपने नापाक इरादों को लेकर भारत के खिलाफ साजिश रचने की कोशिश कर रहा है. एक एक्सक्लूसिव जानकारी के अनुसार, दिल्ली में स्थित पाकिस्तानी हाई कमिशन लगातार किसान प्रदर्शन पर नजर जमाए हुए है और इसकी पल-पल की रिपोर्ट पाकिस्तान को भेज रहा है. जिससे भारत को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर बदनाम किया जा सके. खुफिया एजेंसियों की रिपोर्ट के अनुसार पाकिस्तान हाई कमीशन इस्लामाबाद में स्थित पाकिस्तानी विदेश मंत्रालय को यह सारी रिपोर्ट भेज रहा है, जहां पर हम रिपोर्ट के आधार पर पाक विदेश मंत्रालय आईएसआई (ISI) और पाक सेना के अधिकारी मिलकर भारत के खिलाफ साजिश रचते हैं. अभी पिछले ही महीने सुरक्षा एजेंसियों की रिपोर्ट के अनुसार यह बात सामने आई कि किसान प्रदर्शन की आड़ में पाकिस्तान की ISI ने दंगा फैलाने का षड्यंत्र रचा था. इसके लिए ISI ने कनाडा, यूके, और अमेरिका में स्थित पाकिस्तान दूतावास के जरिए खालिस्तानी आतंकियों के साथ कई रावण की बैठक की थी.

वामपंथी न्यूज़ चैनल भी कर रहे हैं पाक की मदद

भारत में हो रहे किसानों के प्रोटेस्ट को अंतरराष्ट्रीय रंग देने के लिए भारत के कुछ ऑनलाइन न्यूज़ पोर्टल को इस साजिश में शामिल किया गया है. साथ ही इस बैठक में यह फैसला किया गया था कि उन्हीं न्यूज़ पोर्टल को प्लान में भी शामिल करना है जो मोदी सरकार के खिलाफ है और जो वामपंथी विचारधारा के हैं. एजेंसियों के मुताबिक, भारत विरोधी कई आर्टिकल को भारतीय न्यूज़ पोर्टल में एक साजिश के तहत जगह दी गई थी जिससे मोदी सरकार पर हमला किया जा सके. और इसका फायदा पाकिस्तान भारत की अंतरराष्ट्रीय स्तर पर छवि बिगाड़ने में उठा सके.

भारत की साख खराब करने की साजिश

सूत्रों के हवाले से यह पता चला है कि हाल ही में स्ट्रैटेजिक कम्युनिकेशन डिवीजन की एक बैठक में आईएसआई ने भारत को बदनाम करने के लिए कश्मीर के साथ-साथ कई नक्सल प्रभावित इलाकों और नार्थ ईस्ट में तैनात भारतीय सुरक्षा बलों के खिलाफ मानव अधिकार हनन के फर्जी मामलों को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर उठाने की मांग की है जिसके जरिए भारत की बढ़ती छवि को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर खराब किया जा सके.