उत्तर प्रदेश में ओवैसी के खिलाफ FIR दर्ज, हिंदू मुस्लिम की एकता को तोड़ने की साजिश, योगी और मोदी पर किया अभद्र टिप्पणी

FIR registered against Owaisi in Uttar Pradesh: असदुद्दीन ओवैसी अभी 3 दिनों के उत्तर प्रदेश दौरे पर थे. इस दौरान ओवैसी (Owaisi) के खिलाफ यूपी में मामला दर्ज किया गया है. बता दें कि ओवैसी पर आरोप है कि एक कार्यक्रम के दौरान उन्होंने भड़काऊ भाषण दिया था. गौरतलब है कि यह मामला यूपी के बाराबंकी में दर्ज किया गया है.बृहस्पतिवार को बाराबंकी में एक कार्यक्रम में शामिल हुए थे. इस दौरान उन्होंने कई विवादित टिप्पणियां की. इस कार्यक्रम पर कोविड प्रोटोकॉल का भी उल्लघंन का आरोप है. असदुद्दीन ओवैसी पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) के खिलाफ अभद्र टिप्पणी करने का भी आरोप लगा है. बता दें कि, पुलिस अधीक्षक यमुना प्रसाद ने शुक्रवार को बताया कि नौ सितंबर को थाना कोतवाली क्षेत्र के मोहल्ला कटरा चन्दना में एआईएमआईएम के राष्ट्रीय अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी के कार्यक्रम में काफी संख्या में भीड़ इकट्ठा की गई. जिसके कारण कोविड प्रोटोकॉल का भी उल्लंघन हुआ. यमुना प्रसाद ने साथ ही यह भी बताया कि कार्यक्रम के दौरान न तो किसी ने मास्क पहन रखा था और न ही सामाजिक दूरी का पालन किया गया. ओवैसी ने अपने भाषण में साम्प्रदायिक सौहार्द बिगाड़ने की कोशिश की. उन्होंने कार्यक्रम में कहा कि कोतवाली रामसनेही घाट में प्रशासन ने 100 वर्ष पुरानी मस्जिद को तुड़वा दिया. उन्होंने इस बात से एक समुदाय विशेष को भड़काने और साम्प्रदायिक सौहार्द बिगाड़ने का प्रयास किया. गौरतलब है कि इस दौरान ओवैसी ने पीएम मोदी पर हमला करते हुए आरोप लगाया था कि देश को हिंदू राष्ट्र में बदलने के प्रयास किए जा रहे हैं. उन्होंने कहा, “जब से नरेंद्र मोदी प्रधानमंत्री बने हैं, धर्मनिरपेक्षता को खत्म करने और देश को हिंदू राष्ट्र बनाने के प्रयास जारी हैं.” पुलिस रिपोर्ट के अनुसार ओवैसी ने प्रधानमंत्री और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री के खिलाफ भी अभद्र टिप्पणी की. उन्होंने कहा कि इस संबंध में ओवैसी और आयोजकों के खिलाफ मामला दर्ज कर कानूनी कार्रवाई की जा रही है.
 

उत्तर प्रदेश में ओवैसी के खिलाफ FIR दर्ज, हिंदू मुस्लिम की एकता को तोड़ने की साजिश, योगी और मोदी पर किया अभद्र टिप्पणी

FIR registered against Owaisi in Uttar Pradesh: असदुद्दीन ओवैसी अभी 3 दिनों के उत्तर प्रदेश दौरे पर थे. इस दौरान ओवैसी ( Owaisi) के खिलाफ यूपी में मामला दर्ज किया गया है. बता दें कि ओवैसी पर आरोप है कि एक कार्यक्रम के दौरान उन्होंने भड़काऊ भाषण दिया था. गौरतलब है कि यह मामला यूपी के बाराबंकी में दर्ज किया गया है.बृहस्पतिवार को बाराबंकी में एक कार्यक्रम में शामिल हुए थे. इस दौरान उन्होंने कई विवादित टिप्पणियां की. इस कार्यक्रम पर कोविड प्रोटोकॉल का भी उल्लघंन का आरोप है. असदुद्दीन ओवैसी पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ( Narendra Modi) और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ( Yogi Adityanath) के खिलाफ अभद्र टिप्पणी करने का भी आरोप लगा है. बता दें कि, पुलिस अधीक्षक यमुना प्रसाद ने शुक्रवार को बताया कि नौ सितंबर को थाना कोतवाली क्षेत्र के मोहल्ला कटरा चन्दना में एआईएमआईएम के राष्ट्रीय अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी के कार्यक्रम में काफी संख्या में भीड़ इकट्ठा की गई. जिसके कारण कोविड प्रोटोकॉल का भी उल्लंघन हुआ. यमुना प्रसाद ने साथ ही यह भी बताया कि कार्यक्रम के दौरान न तो किसी ने मास्क पहन रखा था और न ही सामाजिक दूरी का पालन किया गया. ओवैसी ने अपने भाषण में साम्प्रदायिक सौहार्द बिगाड़ने की कोशिश की. उन्होंने कार्यक्रम में कहा कि कोतवाली रामसनेही घाट में प्रशासन ने 100 वर्ष पुरानी मस्जिद को तुड़वा दिया. उन्होंने इस बात से एक समुदाय विशेष को भड़काने और साम्प्रदायिक सौहार्द बिगाड़ने का प्रयास किया. गौरतलब है कि इस दौरान ओवैसी ने पीएम मोदी पर हमला करते हुए आरोप लगाया था कि देश को हिंदू राष्ट्र में बदलने के प्रयास किए जा रहे हैं. उन्होंने कहा, “जब से नरेंद्र मोदी प्रधानमंत्री बने हैं, धर्मनिरपेक्षता को खत्म करने और देश को हिंदू राष्ट्र बनाने के प्रयास जारी हैं.” पुलिस रिपोर्ट के अनुसार ओवैसी ने प्रधानमंत्री और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री के खिलाफ भी अभद्र टिप्पणी की. उन्होंने कहा कि इस संबंध में ओवैसी और आयोजकों के खिलाफ मामला दर्ज कर कानूनी कार्रवाई की जा रही है.