मुस्लिम वोट पाने के लालच में पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने दिया भाजपा और सरस्वती विद्या मंदिर को लेकर विवादित बयान, सोशल मीडिया पर वायरल

Digvijay Singh gave controversial statement about BJP: पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के राज्यसभा सदस्य दिग्विजय सिंह कई बार विवादित बयान देने से बाज नहीं आते. हाईवे हाल ही में उन्होंने भाजपा पर सांप्रदायिक सद्भाव बिगाड़ने के लिए स्कूलों का इस्तेमाल करने का आरोप लगाया है. इस दौरान दिग्विजय सिंह ने कहा कि सरस्वती शिशु मंदिर (Saraswati Shishu Mandir) में दूसरे धर्मों के खिलाफ नफरत का बीज बोया जा रहा है. इसी से फिर सांप्रदायिक कटुता और दंगे फसाद होते हैं. बता दें कि दिग्विजय सिंह (Digvijay Singh) ने भोपाल में एक कार्यक्रम के दौरान एक भाषण दिया था जो सोशल मीडिया पर काफी वायरल हो गया है इसमें वह कहते दिखाई दे रहे हैं कि भाजपा सरस्वती शिशु मंदिर के माध्यम से लोगों के दिल और दिमाग में दूसरे धर्मों के खिलाफ नफरत का बीज बोती है. उन्होंने कहा कि वह बचपन से यह नफरत का बीज बोने का काम करती है. उनका मानना है कि इससे देश में साम्प्रदायिक सद्भाव बिगड़ता है. लोगों के मन में सांप्रदायिक कटुता की भावना पैदा होती है. धार्मिक उन्माद फैलता है. उनके इस बयान को सोशल मीडिया पर कई तरह की टिप्पणियों और द्वेष का सामना करना पड़ रहा है. कई लोग उनके इस बयान को बेतुका और बेबुनियाद कह रहे हैं. बोला जा रहा है कि वह मुस्लिमों के वोट बैंक के लिए ही ऐसा बयान खुले मंच से दे रहे हैं. बता देगी दिग्विजय सिंह ने अभी हाल ही में मुस्लिम और हिंदू के जनसंख्या को लेकर भी एक विवादित बयान दिया था. उन्होंने कहा कि मुस्लिमों की जन्मदर हिंदुओं के मुकाबले ज्यादा कम हुई है. और यह 2028 तक बराबर हो जाएगी. बता दें कि इस रिपोर्ट में मुस्लिमों की जन्म दर 2.8 बताई गई है तो वहीं दूसरी ओर हिंदुओं की जन्म दर को 2.1 दिखाया गया है. उनके इस बयान से अभी हाल ही में हंगामा खड़ा हो गया था.
 

मुस्लिम वोट पाने के लालच में पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने दिया भाजपा और सरस्वती विद्या मंदिर को लेकर विवादित बयान, सोशल मीडिया पर वायरल

Digvijay Singh gave controversial statement about BJP: पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के राज्यसभा सदस्य दिग्विजय सिंह कई बार विवादित बयान देने से बाज नहीं आते. हाईवे हाल ही में उन्होंने भाजपा पर सांप्रदायिक सद्भाव बिगाड़ने के लिए स्कूलों का इस्तेमाल करने का आरोप लगाया है. इस दौरान दिग्विजय सिंह ने कहा कि सरस्वती शिशु मंदिर ( Saraswati Shishu Mandir) में दूसरे धर्मों के खिलाफ नफरत का बीज बोया जा रहा है. इसी से फिर सांप्रदायिक कटुता और दंगे फसाद होते हैं. बता दें कि दिग्विजय सिंह ( Digvijay Singh) ने भोपाल में एक कार्यक्रम के दौरान एक भाषण दिया था जो सोशल मीडिया पर काफी वायरल हो गया है इसमें वह कहते दिखाई दे रहे हैं कि भाजपा सरस्वती शिशु मंदिर के माध्यम से लोगों के दिल और दिमाग में दूसरे धर्मों के खिलाफ नफरत का बीज बोती है. उन्होंने कहा कि वह बचपन से यह नफरत का बीज बोने का काम करती है. उनका मानना है कि इससे देश में साम्प्रदायिक सद्भाव बिगड़ता है. लोगों के मन में सांप्रदायिक कटुता की भावना पैदा होती है. धार्मिक उन्माद फैलता है. उनके इस बयान को सोशल मीडिया पर कई तरह की टिप्पणियों और द्वेष का सामना करना पड़ रहा है. कई लोग उनके इस बयान को बेतुका और बेबुनियाद कह रहे हैं. बोला जा रहा है कि वह मुस्लिमों के वोट बैंक के लिए ही ऐसा बयान खुले मंच से दे रहे हैं. बता देगी दिग्विजय सिंह ने अभी हाल ही में मुस्लिम और हिंदू के जनसंख्या को लेकर भी एक विवादित बयान दिया था. उन्होंने कहा कि मुस्लिमों की जन्मदर हिंदुओं के मुकाबले ज्यादा कम हुई है. और यह 2028 तक बराबर हो जाएगी. बता दें कि इस रिपोर्ट में मुस्लिमों की जन्म दर 2.8 बताई गई है तो वहीं दूसरी ओर हिंदुओं की जन्म दर को 2.1 दिखाया गया है. उनके इस बयान से अभी हाल ही में हंगामा खड़ा हो गया था.