इंडिया टुडे के पत्रकार ने फैलाया झूठ, बोला-पुलिस की गोली से मर गया किसान, जब सच सामने आया तो डिलीट कर दिया ट्वीट और नहीं मांगी माफी

आज किसानों के द्वारा की गई हरकत ने देश को शर्मसार कर रख दिया है! यही नहीं बल्कि जिस स्थान पर देश के प्रधानमंत्री तिरंगा लहरा कर देश का गौरव बढ़ाते हैं तो वहीं आज वहां पर किसानों ने पीले काले रंग के झंडे लगाकर देश की गौरव को आहत किया है! गणतंत्र दिवस की सुबह से ही किसानों का प्रदर्शन उग्र होता जा रहा है! इस बीच दिल्ली के डीडीयू मार्ग पर एक व्यक्ति की ट्रैक्टर पलटने के कारण से मौत हो गई! आईटीओ के पास पूरे चौक पर सैकड़ों की संख्या में किसान ट्रैक्टर लेकर खड़े रहे जिसको लेकर अब समाचार चैनल इंडिया टुडे के पत्रकार राजदीप सरदेसाई ने एक झूठी अफवाह फैला दी है और पोल खुलने पर अपनी ट्वीट को चुपके से डिलीट भी कर दिया! दरअसल इंडिया टुडे के पत्रकार राजदीप सरदेसाई ने तिरंगे में लिपटी मृतक की लाश की तस्वीर को ट्विटर अकाउंट से शेयर करते हुए लिखा है कि इसकी मौत पुलिस की गोली से हुई है! जी हां राजदीप सरदेसाई ने अपने ट्विटर पर लिखा है कि पुलिस फायरिंग में 45 साल के नवनीत की मौत हो गई किसानों ने मुझे बताया है कि उसका बलिदान व्यर्थ नहीं जाएगा! [embed]https://twitter.com/HashTagCricket/status/1354002819695566849[/embed] लेकिन हकीकत तो यह रही है कि आज जिस व्यक्ति की मौत हुई है वह पुलिस की फायरिंग में नहीं बल्कि तेज गति से चल रहे ट्रैक्टर पलटने से मारा गया! दरअसल ड्राइवर ने काफी तेज रफ्तार में ट्रैक्टर चलाया हुआ था अचानक से उसको मोड़ दिया जिसकी वजह से संतुलन बिगड़ गया और ट्रैक्टर पलट गया इस दौरान किसान की अचानक से मौत हो गई! सोशल मीडिया पर सवाल भी उठ रहे हैं कि क्या झूठी खबर को फैलाने और राजनीति में दंगे भड़काने का प्रयास कर रहे इंडिया टुडे के पत्रकार राजदीप सरदेसाई का अकाउंट प्रतिबंधित किया जाएगा या नहीं? राजदीप सरदेसाई ने अपने परिंडा के लिए इसका इस्तेमाल किया है और इस व्यक्ति की मौत का आरोप पुलिस के सर पर ठोक दिया है लेकिन इस खबर की वास्तविकता सामने आते ही राजदीप सरदेसाई ने बिना माफी मांगे ही अपने ट्वीट को डिलीट कर दिया! [embed]https://twitter.com/PoliticalKida/status/1354002798732603392[/embed] यही नहीं बल्कि राज्य सदस्य की पत्नी और पत्रकार सागरिका घोष मंगलवार सुबह से ही प्रदर्शन कर रहे किसानों को भड़काने का काम कर रही है गणतंत्र दिवस की सुबह से ही आंदोलन कर रहे किसानों की तारीफ कर सागरिका ने एक ट्वीट किया और लिखा कि आखिरकार रिपब्लिक में पब्लिक वापस लौट चुकी है! [embed]https://twitter.com/sagarikaghose/status/1353942711456264192[/embed]
 

इंडिया टुडे के पत्रकार ने फैलाया झूठ, बोला-पुलिस की गोली से मर गया किसान, जब सच सामने आया तो डिलीट कर दिया ट्वीट और नहीं मांगी माफी

आज किसानों के द्वारा की गई हरकत ने देश को शर्मसार कर रख दिया है! यही नहीं बल्कि जिस स्थान पर देश के प्रधानमंत्री तिरंगा लहरा कर देश का गौरव बढ़ाते हैं तो वहीं आज वहां पर किसानों ने पीले काले रंग के झंडे लगाकर देश की गौरव को आहत किया है! गणतंत्र दिवस की सुबह से ही किसानों का प्रदर्शन उग्र होता जा रहा है! इस बीच दिल्ली के डीडीयू मार्ग पर एक व्यक्ति की ट्रैक्टर पलटने के कारण से मौत हो गई! आईटीओ के पास पूरे चौक पर सैकड़ों की संख्या में किसान ट्रैक्टर लेकर खड़े रहे जिसको लेकर अब समाचार चैनल इंडिया टुडे के पत्रकार राजदीप सरदेसाई ने एक झूठी अफवाह फैला दी है और पोल खुलने पर अपनी ट्वीट को चुपके से डिलीट भी कर दिया! दरअसल इंडिया टुडे के पत्रकार राजदीप सरदेसाई ने तिरंगे में लिपटी मृतक की लाश की तस्वीर को ट्विटर अकाउंट से शेयर करते हुए लिखा है कि इसकी मौत पुलिस की गोली से हुई है! जी हां राजदीप सरदेसाई ने अपने ट्विटर पर लिखा है कि पुलिस फायरिंग में 45 साल के नवनीत की मौत हो गई किसानों ने मुझे बताया है कि उसका बलिदान व्यर्थ नहीं जाएगा! [embed]https://twitter.com/HashTagCricket/status/1354002819695566849[/embed] लेकिन हकीकत तो यह रही है कि आज जिस व्यक्ति की मौत हुई है वह पुलिस की फायरिंग में नहीं बल्कि तेज गति से चल रहे ट्रैक्टर पलटने से मारा गया! दरअसल ड्राइवर ने काफी तेज रफ्तार में ट्रैक्टर चलाया हुआ था अचानक से उसको मोड़ दिया जिसकी वजह से संतुलन बिगड़ गया और ट्रैक्टर पलट गया इस दौरान किसान की अचानक से मौत हो गई! सोशल मीडिया पर सवाल भी उठ रहे हैं कि क्या झूठी खबर को फैलाने और राजनीति में दंगे भड़काने का प्रयास कर रहे इंडिया टुडे के पत्रकार राजदीप सरदेसाई का अकाउंट प्रतिबंधित किया जाएगा या नहीं? राजदीप सरदेसाई ने अपने परिंडा के लिए इसका इस्तेमाल किया है और इस व्यक्ति की मौत का आरोप पुलिस के सर पर ठोक दिया है लेकिन इस खबर की वास्तविकता सामने आते ही राजदीप सरदेसाई ने बिना माफी मांगे ही अपने ट्वीट को डिलीट कर दिया! [embed]https://twitter.com/PoliticalKida/status/1354002798732603392[/embed] यही नहीं बल्कि राज्य सदस्य की पत्नी और पत्रकार सागरिका घोष मंगलवार सुबह से ही प्रदर्शन कर रहे किसानों को भड़काने का काम कर रही है गणतंत्र दिवस की सुबह से ही आंदोलन कर रहे किसानों की तारीफ कर सागरिका ने एक ट्वीट किया और लिखा कि आखिरकार रिपब्लिक में पब्लिक वापस लौट चुकी है! [embed]https://twitter.com/sagarikaghose/status/1353942711456264192[/embed]