सुशील मोदी नहीं बल्कि BJP का यह नेता हो सकता हैं बिहार का नया डिप्टी CM

बिहार विधानसभा चुनाव के नतीजों के साथ सरकार के गठन की तैयारी शुरू हो गई है। एनडीए नेताओं की एक बैठक शुक्रवार को होने वाली है, जिसमें मुख्यमंत्री पद के लिए नीतीश कुमार के नाम की घोषणा की जा सकती है। सूत्रों और मीडिया रिपोर्टों के अनुसार, कामेश्वर चौपाल (kameshwar Chaupal), जिनके पास अयोध्या में राम मंदिर का पहला ईंट निर्माण था, को बिहार का उपमुख्यमंत्री बनाया जा सकता है। अपने बारे में चल रही अटकलों पर, चौपाल ने कहा कि मैं एक पार्टी कार्यकर्ता हूं, पार्टी जो भी जिम्मेदारी देती है, मैं उसे स्वीकार करता हूं। नई सरकार में कामेश्वर चौपाल को शामिल करने की चर्चा भी जोरों पर है। राम मंदिर ट्रस्ट के दलित सेवक और भाजपा के वरिष्ठ नेता कामेश्वर चौपाल पटना पहुंच गए हैं। बिहार में नई सरकार में स्थान पाने के सवाल पर कामेश्वर चौपाल ने कहा कि वह पार्टी के सेवक हैं और पार्टी क्या कहेगी। भाजपा को अधिक सीटें मिलने और मुख्यमंत्री भाजपा के सवाल पर, कामेश्वर चौपाल ने कहा कि इस मुद्दे पर बहस हो चुकी है और बिहार के सीएम नीतीश कुमार भी वही होंगे। बिहार चुनाव परिणाम पर, कामेश्वर चौपाल ने कहा कि एनडीए के नेताओं द्वारा जो भी निर्णय लिया जाएगा, उसे सभी स्वीकार करेंगे। इस बीच, ऐसी खबरें हैं कि सुशील मोदी, संजय जायसवाल, नंदकिशोर यादव और मंगल पांडे सहित कुछ अन्य नेता शुक्रवार को सीएम आवास पर एनडीए नेताओं की बैठक में भाग लेंगे। इस बैठक में कार्यक्रम कैबिनेट की रूपरेखा पर भी चर्चा की जाएगी। वहीं, एक बड़ी खबर यह है कि भाजपा विधायक दल की बैठक 15 नवंबर को दिवाली के बाद होगी। शुक्रवार से शनिवार तक दिल्ली में भाजपा संसदीय बोर्ड की बैठक होगी और बैठक में एक पर्यवेक्षक नियुक्त किया जाएगा। उसके बाद 15 नवंबर को पटना में भाजपा विधायक दल की बैठक होगी। एनडीए विधायक दल की बैठक भी उसी दिन होगी।
 

सुशील मोदी नहीं बल्कि BJP का यह नेता हो सकता हैं बिहार का नया डिप्टी CM

बिहार विधानसभा चुनाव के नतीजों के साथ सरकार के गठन की तैयारी शुरू हो गई है। एनडीए नेताओं की एक बैठक शुक्रवार को होने वाली है, जिसमें मुख्यमंत्री पद के लिए नीतीश कुमार के नाम की घोषणा की जा सकती है। सूत्रों और मीडिया रिपोर्टों के अनुसार, कामेश्वर चौपाल (kameshwar Chaupal), जिनके पास अयोध्या में राम मंदिर का पहला ईंट निर्माण था, को बिहार का उपमुख्यमंत्री बनाया जा सकता है। अपने बारे में चल रही अटकलों पर, चौपाल ने कहा कि मैं एक पार्टी कार्यकर्ता हूं, पार्टी जो भी जिम्मेदारी देती है, मैं उसे स्वीकार करता हूं। नई सरकार में कामेश्वर चौपाल को शामिल करने की चर्चा भी जोरों पर है। राम मंदिर ट्रस्ट के दलित सेवक और भाजपा के वरिष्ठ नेता कामेश्वर चौपाल पटना पहुंच गए हैं। बिहार में नई सरकार में स्थान पाने के सवाल पर कामेश्वर चौपाल ने कहा कि वह पार्टी के सेवक हैं और पार्टी क्या कहेगी। भाजपा को अधिक सीटें मिलने और मुख्यमंत्री भाजपा के सवाल पर, कामेश्वर चौपाल ने कहा कि इस मुद्दे पर बहस हो चुकी है और बिहार के सीएम नीतीश कुमार भी वही होंगे। बिहार चुनाव परिणाम पर, कामेश्वर चौपाल ने कहा कि एनडीए के नेताओं द्वारा जो भी निर्णय लिया जाएगा, उसे सभी स्वीकार करेंगे। इस बीच, ऐसी खबरें हैं कि सुशील मोदी, संजय जायसवाल, नंदकिशोर यादव और मंगल पांडे सहित कुछ अन्य नेता शुक्रवार को सीएम आवास पर एनडीए नेताओं की बैठक में भाग लेंगे। इस बैठक में कार्यक्रम कैबिनेट की रूपरेखा पर भी चर्चा की जाएगी। वहीं, एक बड़ी खबर यह है कि भाजपा विधायक दल की बैठक 15 नवंबर को दिवाली के बाद होगी। शुक्रवार से शनिवार तक दिल्ली में भाजपा संसदीय बोर्ड की बैठक होगी और बैठक में एक पर्यवेक्षक नियुक्त किया जाएगा। उसके बाद 15 नवंबर को पटना में भाजपा विधायक दल की बैठक होगी। एनडीए विधायक दल की बैठक भी उसी दिन होगी।