केजरीवाल ने किया राष्ट्रीय ध्वज का अपमान, जानें क्या है मामला…

केंद्रीय मंत्री प्रसाद सिंह ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर एक प्रेस वार्ता के दौरान राष्ट्रीय ध्वज का अनादर करने का और राष्ट्रीय ध्वज संहिता का उल्लंघन करने का आरोप लगाया है. प्रह्लाद सिंह पटेल ने केजरीवाल को एक पत्र लिखा जिसमें केजरीवाल के हालिया वायरल सम्मेलन के दौरान प्रदर्शित झंडों में हरी धारियों को विकृत और बड़ा किया गया था और सफेद को कम किया गया था. https://twitter.com/ANI/status/1398169339824525317?ref_src=twsrc%5Etfw%7Ctwcamp%5Etweetembed%7Ctwterm%5E1398169339824525317%7Ctwgr%5E%7Ctwcon%5Es1_c10&ref_url=https%3A%2F%2Fwww.livehindustan.com%2F उन्होंने साथ ही बयान दिया है कि मैं पिछले काफी दिनों से अरविंद केजरीवाल की प्रेस कॉन्फ्रेंस को देख रहा था और देखा कि उनके पीछे हरी झंडी की धारी बड़ी वही हुई है. यह राष्ट्रीय ध्वज के चित्रण पर नियमों के अनुसार नहीं है. झंडे की मर्यादा बनाए रखने के लिए मैंने उन्हें पत्र लिखा है. इस मुद्दे पर दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल को लिखे अपने पत्र में कहा कि ,'अरविंद केजरीवाल जब भी टीवी चैनल पर संबोधन करते हैं तो उनकी कुर्सी के पीछे लगे राष्ट्रीय ध्वज के स्वरूप पर बेबस ही ध्यान चला जाता है. क्योंकि वह मुझे अपनी गरिमा एवं संवैधानिक स्वरूप से भिन्न प्रतीत होता है. राष्ट्रीय ध्वज को सजावट के लिए जैसे तैयार करके लगाया गया है बीच के सफेद हिस्से को कम करके हरे हिस्से को जोड़ दिया गया लगता है. जो भारत सरकार के गृह मंत्रालय के द्वारा निर्दिष्ट भारत झंडा संहिता में उल्लिखित भाग 1 के 1.3 में दिए गए मानकों का प्रयोग नहीं दिखाई देता है. मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल से जाने अनजाने में ऐसे कृत्य की अपेक्षा नहीं करते हुए इस और आपका ध्यान आकर्षण करना चाहता हूं.'
 

केजरीवाल ने किया राष्ट्रीय ध्वज का अपमान, जानें क्या है मामला…

केंद्रीय मंत्री प्रसाद सिंह ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर एक प्रेस वार्ता के दौरान राष्ट्रीय ध्वज का अनादर करने का और राष्ट्रीय ध्वज संहिता का उल्लंघन करने का आरोप लगाया है. प्रह्लाद सिंह पटेल ने केजरीवाल को एक पत्र लिखा जिसमें केजरीवाल के हालिया वायरल सम्मेलन के दौरान प्रदर्शित झंडों में हरी धारियों को विकृत और बड़ा किया गया था और सफेद को कम किया गया था. https://twitter.com/ANI/status/1398169339824525317?ref_src=twsrc%5Etfw%7Ctwcamp%5Etweetembed%7Ctwterm%5E1398169339824525317%7Ctwgr%5E%7Ctwcon%5Es1_c10&ref_url=https%3A%2F%2Fwww.livehindustan.com%2F उन्होंने साथ ही बयान दिया है कि मैं पिछले काफी दिनों से अरविंद केजरीवाल की प्रेस कॉन्फ्रेंस को देख रहा था और देखा कि उनके पीछे हरी झंडी की धारी बड़ी वही हुई है. यह राष्ट्रीय ध्वज के चित्रण पर नियमों के अनुसार नहीं है. झंडे की मर्यादा बनाए रखने के लिए मैंने उन्हें पत्र लिखा है. केजरीवाल ने किया राष्ट्रीय ध्वज का अपमान, जानें क्या है मामला… इस मुद्दे पर दिल्ली के उपराज्यपाल अनिल बैजल को लिखे अपने पत्र में कहा कि ,'अरविंद केजरीवाल जब भी टीवी चैनल पर संबोधन करते हैं तो उनकी कुर्सी के पीछे लगे राष्ट्रीय ध्वज के स्वरूप पर बेबस ही ध्यान चला जाता है. क्योंकि वह मुझे अपनी गरिमा एवं संवैधानिक स्वरूप से भिन्न प्रतीत होता है. राष्ट्रीय ध्वज को सजावट के लिए जैसे तैयार करके लगाया गया है बीच के सफेद हिस्से को कम करके हरे हिस्से को जोड़ दिया गया लगता है. जो भारत सरकार के गृह मंत्रालय के द्वारा निर्दिष्ट भारत झंडा संहिता में उल्लिखित भाग 1 के 1.3 में दिए गए मानकों का प्रयोग नहीं दिखाई देता है. मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल से जाने अनजाने में ऐसे कृत्य की अपेक्षा नहीं करते हुए इस और आपका ध्यान आकर्षण करना चाहता हूं.'