उत्तर प्रदेश के चुनाव से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की चुनावी चाल, जानिए

Prime Minister Narendra Modi's election move: 7 दिन पहले ही प्रधानमंत्री मोदी वाराणसी दौरे पर गए थे. प्रधानमंत्री मोदी (Modi) ने काशी वालों को 1500 करोड़ से ज्यादा की योजनाओं का तोहफा दे दिया है. अब एक हफ्ते बाद यानी 7 दिन बात 30 जुलाई को प्रधानमंत्री मोदी फिर से यूपी दौरे पर जा सकते हैं. इस बार भी यूपी वालों को कई बड़े तोहफे मिलने की उम्मीद हैं. उत्तर प्रदेश में 9 मेडिकल कॉलेज का तोहफा रिपोर्ट के मताबिक 30 जुलाई को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सिद्धार्थनगर जाएंगे. यहां यूपी में नये बने 9 नए मेडिकल कॉलेज का उद्घाटन करेंगे. यूपी के हरदोई, मिर्ज़ापुर, देवरिया, एटा, फतेहपुर, गाजीपुर, सिद्धार्थनगर, प्रतापगढ़ और जौनपुर में नए मेडिकल शुरू होंगे. गौरतलब है कि कोरोना मामला कम होने के बाद से बीजेपी (BJP) यूपी प्लान शुरू कर चुकी है. 8 महीने के बाद 15 जुलाई को प्रधानमंत्री मोदी वाराणसी के दौरे पर थे. 30 जुलाई को वह उत्तर प्रदेश (UP) का दौरा कर सकते हैं. इसके बाद 1 अगस्त को गृह मंत्री अमित शाह यूपी पहुंचने की तैयारी में है. ऐसे में विपक्ष सवाल उठा रहा है कि अब जब चुनाव करीब है तो यह नेता दिल्ली से यूपी आ रहे हैं. लेकिन वहीं दूसरी ओर योगी सरकार में उपमुख्यमंत्री दिनेश शर्मा कह रहे हैं कि सरकार के लिए विकास सबसे ऊपर है. प्रधानमंत्री और गृहमंत्री यूपी के लोगों को तोहफा देने के लिए आ रहे हैं. 2022 के चुनावी महासंग्राम की रणनीति तेज ऐसी स्थिति में सवाल ये है कि क्या सच में सरकार के लिए विकास का मुद्दा सबसे ऊपर है. इसे चुनावी राजनीति से नहीं देखा जाना चाहिए. आंकड़ों की माने तो 1947 से 2017 तक यानी 70 साल में यूपी में 24 मेडिकल कॉलेज थे. योगी सरकार ने 2017-2021 तक यानी साढ़े यूपी में 9 मेडिकल कॉलेज खोले. यानी तकरीबन हर तीन साल में 1 मेडिकल कॉलेज खुले जबकि योगी सरकार में हर 1 साल में 2 मेडकल कॉलेज खुले. ध्यान देने वाली बात यह है कि यूपी चुनाव से पहले पीएम मोदी का यह दौरा कितना अहम है यह चारों ओर चर्चा का विषय है. कोरोना काल में स्वास्थ्य सेवा सुविधाओं के मुद्दे पर सरकार को काफी आलोचना झेलनी पड़ी है. मेडिकल कॉलेज के उद्घाटन के जरिये यूपी सरकार जनता को ये संदेश देना चाहती है कि स्वास्थ्य सेवा उनके एजेंडे में सबसे ऊपर है. अब जब यूपी में चुनाव सिर्फ 6 महीने दूर है ऐसे में इन योजनाओं से बीजेपी को फायदा भी जरूर मिलेगा.
 

उत्तर प्रदेश के चुनाव से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की चुनावी चाल, जानिए

Prime Minister Narendra Modi's election move: 7 दिन पहले ही प्रधानमंत्री मोदी वाराणसी दौरे पर गए थे. प्रधानमंत्री मोदी ( Modi) ने काशी वालों को 1500 करोड़ से ज्यादा की योजनाओं का तोहफा दे दिया है. अब एक हफ्ते बाद यानी 7 दिन बात 30 जुलाई को प्रधानमंत्री मोदी फिर से यूपी दौरे पर जा सकते हैं. इस बार भी यूपी वालों को कई बड़े तोहफे मिलने की उम्मीद हैं.

उत्तर प्रदेश में 9 मेडिकल कॉलेज का तोहफा

रिपोर्ट के मताबिक 30 जुलाई को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सिद्धार्थनगर जाएंगे. यहां यूपी में नये बने 9 नए मेडिकल कॉलेज का उद्घाटन करेंगे. यूपी के हरदोई, मिर्ज़ापुर, देवरिया, एटा, फतेहपुर, गाजीपुर, सिद्धार्थनगर, प्रतापगढ़ और जौनपुर में नए मेडिकल शुरू होंगे. गौरतलब है कि कोरोना मामला कम होने के बाद से बीजेपी ( BJP) यूपी प्लान शुरू कर चुकी है. 8 महीने के बाद 15 जुलाई को प्रधानमंत्री मोदी वाराणसी के दौरे पर थे. 30 जुलाई को वह उत्तर प्रदेश ( UP) का दौरा कर सकते हैं. इसके बाद 1 अगस्त को गृह मंत्री अमित शाह यूपी पहुंचने की तैयारी में है. ऐसे में विपक्ष सवाल उठा रहा है कि अब जब चुनाव करीब है तो यह नेता दिल्ली से यूपी आ रहे हैं. लेकिन वहीं दूसरी ओर योगी सरकार में उपमुख्यमंत्री दिनेश शर्मा कह रहे हैं कि सरकार के लिए विकास सबसे ऊपर है. प्रधानमंत्री और गृहमंत्री यूपी के लोगों को तोहफा देने के लिए आ रहे हैं.

2022 के चुनावी महासंग्राम की रणनीति तेज

ऐसी स्थिति में सवाल ये है कि क्या सच में सरकार के लिए विकास का मुद्दा सबसे ऊपर है. इसे चुनावी राजनीति से नहीं देखा जाना चाहिए. आंकड़ों की माने तो 1947 से 2017 तक यानी 70 साल में यूपी में 24 मेडिकल कॉलेज थे. योगी सरकार ने 2017-2021 तक यानी साढ़े यूपी में 9 मेडिकल कॉलेज खोले. यानी तकरीबन हर तीन साल में 1 मेडिकल कॉलेज खुले जबकि योगी सरकार में हर 1 साल में 2 मेडकल कॉलेज खुले. ध्यान देने वाली बात यह है कि यूपी चुनाव से पहले पीएम मोदी का यह दौरा कितना अहम है यह चारों ओर चर्चा का विषय है. कोरोना काल में स्वास्थ्य सेवा सुविधाओं के मुद्दे पर सरकार को काफी आलोचना झेलनी पड़ी है. मेडिकल कॉलेज के उद्घाटन के जरिये यूपी सरकार जनता को ये संदेश देना चाहती है कि स्वास्थ्य सेवा उनके एजेंडे में सबसे ऊपर है. अब जब यूपी में चुनाव सिर्फ 6 महीने दूर है ऐसे में इन योजनाओं से बीजेपी को फायदा भी जरूर मिलेगा.