ट्विटर पर आपस में भिड़े राहुल गांधी और शिवराज सिंह चौहान, लगाया एक-दूसरे पर गंभीर आरोप

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने रविवार को कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को कोरोना वैक्सीन की किल्लत को खत्म करने के लिए कोई बड़ा कदम उठाना चाहिए और इस महत्वपूर्ण मुद्दे से ध्यान भटकाने के लिए बहाने नहीं बनाने चाहिए. इस पर पलटवार करते हुए मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने उन पार्टियों के बारे में गलतफहमी,असमंजस और झूठ फैलाने का आरोप लगाया. राहुल ने ने 'मन की बात' हैशटैग इस्तेमाल करते हुए ट्वीट किया, 'काम की बात सिर्फ एक - वैक्सीन की कमी खत्म करो! बाकी सब ध्यान भटकाने के बहाने हैं.' उन्होंने लिखा, 'बस हर देशवासी तक वैक्सीन पहुंचा दो, फिर चाहे मन की बात भी सुना दो!' इस स्टेटमेंट का जवाब देते हुए मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने ट्वीट किया कि ,'राहुल बाबा शर्म, कोरोना वैक्सीन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी नहीं तो क्या आप लगवा रहे हैं? प्रधानमंत्री जी देश के सभी नागरिकों को मुफ्त में वैक्सीन लगवा रहे हैं और आप केवल भ्रम फैला रहे हो. आपने भ्रम फैलाया झूठ बोला जिसके कारण कई लोगों ने वैक्सीन लगवाने से इंकार कर दिया.' मंत्री ने आगे ट्वीट में लिखा कि ,'प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने बैतूल जिले के गांव दुलारिया में ग्राम वासियों से बात की जो भ्रम के कारण वैसे नहीं लगवा रहे थे. उन्हें सरल शब्दों में समझाया और वहां के गांव वालों ने व्यक्ति लगवाने शुरू कर दी.' कृषि कानून में विरोधियों के प्रदर्शन का राहुल गांधी ने किया समर्थन कृषि कानून के विरोध में प्रदर्शन कर रहे विरोधियों का समर्थन करते हुए राहुल गांधी ने अपने इंस्टाग्राम पर लिखा कि कृषि कानूनों के खिलाफ और अपनी आजीविका की रक्षा करने की मांग करने वालों के प्रदर्शन के 200 दिन से ज्यादा हो गए हैं. कृषि पर आय से ज्यादा कृषि पर खर्चे हो गए हैं. बड़ा संकट खड़ा होने के बावजूद सरकार की नीतियां उनकी चिंताओं का समाधान करने में विफल रही हैं.' इसके साथ-साथ उन्होंने बस 2 मिनट का एक वीडियो भी शेयर किया जिसमें केरल में उनके संसदीय क्षेत्र वायनाड के काफी उत्पादक किसान गहरे संकट में होने का दावा कर रहे हैं.
 

ट्विटर पर आपस में भिड़े राहुल गांधी और शिवराज सिंह चौहान, लगाया एक-दूसरे पर गंभीर आरोप

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने रविवार को कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को कोरोना वैक्सीन की किल्लत को खत्म करने के लिए कोई बड़ा कदम उठाना चाहिए और इस महत्वपूर्ण मुद्दे से ध्यान भटकाने के लिए बहाने नहीं बनाने चाहिए. इस पर पलटवार करते हुए मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने उन पार्टियों के बारे में गलतफहमी,असमंजस और झूठ फैलाने का आरोप लगाया. राहुल ने ने 'मन की बात' हैशटैग इस्तेमाल करते हुए ट्वीट किया, 'काम की बात सिर्फ एक - वैक्सीन की कमी खत्म करो! बाकी सब ध्यान भटकाने के बहाने हैं.' उन्होंने लिखा, 'बस हर देशवासी तक वैक्सीन पहुंचा दो, फिर चाहे मन की बात भी सुना दो!' इस स्टेटमेंट का जवाब देते हुए मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने ट्वीट किया कि ,'राहुल बाबा शर्म, कोरोना वैक्सीन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी नहीं तो क्या आप लगवा रहे हैं? प्रधानमंत्री जी देश के सभी नागरिकों को मुफ्त में वैक्सीन लगवा रहे हैं और आप केवल भ्रम फैला रहे हो. आपने भ्रम फैलाया झूठ बोला जिसके कारण कई लोगों ने वैक्सीन लगवाने से इंकार कर दिया.' मंत्री ने आगे ट्वीट में लिखा कि ,'प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने बैतूल जिले के गांव दुलारिया में ग्राम वासियों से बात की जो भ्रम के कारण वैसे नहीं लगवा रहे थे. उन्हें सरल शब्दों में समझाया और वहां के गांव वालों ने व्यक्ति लगवाने शुरू कर दी.'

कृषि कानून में विरोधियों के प्रदर्शन का राहुल गांधी ने किया समर्थन

कृषि कानून के विरोध में प्रदर्शन कर रहे विरोधियों का समर्थन करते हुए राहुल गांधी ने अपने इंस्टाग्राम पर लिखा कि कृषि कानूनों के खिलाफ और अपनी आजीविका की रक्षा करने की मांग करने वालों के प्रदर्शन के 200 दिन से ज्यादा हो गए हैं. कृषि पर आय से ज्यादा कृषि पर खर्चे हो गए हैं. बड़ा संकट खड़ा होने के बावजूद सरकार की नीतियां उनकी चिंताओं का समाधान करने में विफल रही हैं.' इसके साथ-साथ उन्होंने बस 2 मिनट का एक वीडियो भी शेयर किया जिसमें केरल में उनके संसदीय क्षेत्र वायनाड के काफी उत्पादक किसान गहरे संकट में होने का दावा कर रहे हैं.