सपा सांसद शफीकुर्रहमान बर्क: सरकार को अल्लाह के सामने गिड़गिड़ाना होगा, रोना होगा तब मिलेंगे छुटकारा कोरोना से

उत्तर प्रदेश के संभल जिले से समाजवादी पार्टी के सांसद शफीकुर्रहमान बर्क का एक विवादित बयान सामने आया है! समाजवादी पार्टी के सांसद का कहना है कि कोरोनावायरस कोई बीमारी है ही नहीं! उनका कहना है कि यदि कोरोनावायरस कोई बीमारी होती तो दुनिया के अंदर इसका इलाज अवश्य हो जाता! उनका कहना है कि यह बीमारी सरकार की गलतियों की वजह से आ गई हैं जो कि अल्लाह के सामने रोकर गिड़गिड़ाकर कर माफी मांगने से ही खत्म होगी! यही नहीं बल्कि समाजवादी पार्टी के सांसद ने बीजेपी की सरकार के ऊपर गंभीर आरोप लगाते हुए कह दिया कि मौजूदा सरकार में शरीयत से ही छेड़छाड़ नहीं की गई है बल्कि अपनी सरकार में लड़कियों को पकड़वा कर बलात्कार करवाने मोब लिंचिंग और तमाम जुल्म किये है, इसी का नतीजा है कि जिस वजह से यह कोरोना वायरस जैसी आसमानी आफत सामने आई है! आपकी जानकारी के लिए बता दें कि शफीकुर्रहमान का यह विवादित बयान मुरादाबाद से समाजवादी पार्टी के सांसद एसटी हसन के बेतुके बयान के बाद ही सामने आया है! शफीकुर्रहमान का कहना है कि उन्होंने तो पिछले साल ही कह दिया था कि कोरोनावायरस कोई बीमारी नहीं है अगर कोरोनावायरस बीमारी होती तो दुनिया में इसका इलाज भी होता यह तो सरकार की गलतियों की वजह से अजादे इलाही है, जिस का खात्मा अल्लाह के सामने माफी मांग कर और दुआ करने से ही हो सकता है! उनका कहना है कि हमने मुस्लिमों के लिए मस्जिदों और ईदगाह में नमाज पढ़ने और दुआ करने के लिए सरकार से अनुमति मांगी थी लेकिन सरकार ने हमारी मांग नहीं मानी! इन गलतियों की वजह से आज तमाम आसमानी आफ़ते सामने हैं! इससे पहले समाजवादी पार्टी के सांसद एसटी हसन का कहना था कि 10 दिन में दोनों तूफान का आना और कोरोना वायरस की महामारी की वजह से हजारों लोगों का जाना यह सब निशानी है पिछले 7 सालों में सरकार के द्वारा की गई नाइंसाफी की!
 

सपा सांसद शफीकुर्रहमान बर्क: सरकार को अल्लाह के सामने गिड़गिड़ाना होगा, रोना होगा तब मिलेंगे छुटकारा कोरोना से

उत्तर प्रदेश के संभल जिले से समाजवादी पार्टी के सांसद शफीकुर्रहमान बर्क का एक विवादित बयान सामने आया है! समाजवादी पार्टी के सांसद का कहना है कि कोरोनावायरस कोई बीमारी है ही नहीं! उनका कहना है कि यदि कोरोनावायरस कोई बीमारी होती तो दुनिया के अंदर इसका इलाज अवश्य हो जाता! उनका कहना है कि यह बीमारी सरकार की गलतियों की वजह से आ गई हैं जो कि अल्लाह के सामने रोकर गिड़गिड़ाकर कर माफी मांगने से ही खत्म होगी! यही नहीं बल्कि समाजवादी पार्टी के सांसद ने बीजेपी की सरकार के ऊपर गंभीर आरोप लगाते हुए कह दिया कि मौजूदा सरकार में शरीयत से ही छेड़छाड़ नहीं की गई है बल्कि अपनी सरकार में लड़कियों को पकड़वा कर बलात्कार करवाने मोब लिंचिंग और तमाम जुल्म किये है, इसी का नतीजा है कि जिस वजह से यह कोरोना वायरस जैसी आसमानी आफत सामने आई है! आपकी जानकारी के लिए बता दें कि शफीकुर्रहमान का यह विवादित बयान मुरादाबाद से समाजवादी पार्टी के सांसद एसटी हसन के बेतुके बयान के बाद ही सामने आया है! शफीकुर्रहमान का कहना है कि उन्होंने तो पिछले साल ही कह दिया था कि कोरोनावायरस कोई बीमारी नहीं है अगर कोरोनावायरस बीमारी होती तो दुनिया में इसका इलाज भी होता यह तो सरकार की गलतियों की वजह से अजादे इलाही है, जिस का खात्मा अल्लाह के सामने माफी मांग कर और दुआ करने से ही हो सकता है! उनका कहना है कि हमने मुस्लिमों के लिए मस्जिदों और ईदगाह में नमाज पढ़ने और दुआ करने के लिए सरकार से अनुमति मांगी थी लेकिन सरकार ने हमारी मांग नहीं मानी! इन गलतियों की वजह से आज तमाम आसमानी आफ़ते सामने हैं! इससे पहले समाजवादी पार्टी के सांसद एसटी हसन का कहना था कि 10 दिन में दोनों तूफान का आना और कोरोना वायरस की महामारी की वजह से हजारों लोगों का जाना यह सब निशानी है पिछले 7 सालों में सरकार के द्वारा की गई नाइंसाफी की!