सुब्रमण्यम स्वामी की मांग, जल्द से जल्द बदला जाए दिल्ली का नाम, नहीं तो देश….

भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता और राज्यसभा सांसद सुब्रमण्यम स्वामी जो कि हमेशा से ही अपने बयानों के लिए जाने जाते हैं यही नहीं बल्कि हमेशा अपनी बातों को बेबाकी से रखते हुए आए हैं ऐसे में एक बार फिर से सुब्रमण्यम स्वामी सुर्खियों में बने हुए हैं लेकिन इस बार उन्होंने राजधानी दिल्ली का नाम बदलने की मांग की है! इसके लिए उन्होंने द्रौपदी ट्रस्ट की डॉक्टर नीरा मिश्रा द्वारा किए गए एक शोध का भी हवाला दिया है! [embed]https://twitter.com/Swamy39/status/1395752996474998787[/embed] स्वामी ने दिल्ली का नाम बदलकर इंद्रप्रस्थ रखने की मांग को उठाया है उन्होंने लिखा है कि डॉ नीरा मिश्रा के शोध में पाए गए तक की राजधानी के द्वारा से नामक रण के लिए पर्याप्त है! इसके साथ ही डॉ स्वामी ने लिखा कि तमिलनाडु के एक महान ऋषि ने मुझे बताया कि जब तक दिल्ली का नाम बदलकर इंद्रप्रस्थ नहीं कर दिया जाता तब तक देश में विवादों की स्थिति बनी रहेगी! वही आपकी जानकारी के लिए बता दें कि डॉक्टर मिश्रा ने अपने शोध किए हैं जिनसे यह तो प्रमाणित होता है कि वर्षों पहले मौजूदा दिल्ली का नाम इंद्रप्रस्थ ही हुआ करता था यह भी बताया गया है कि महाभारत में जिगर है ही साथ ही साल 1911 में बेटी सरकार की अधिसूचना में भी इसकी प्रमाण मिलते हैं भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण के रिकॉर्ड के साथ ही ब्रिटिश एवं मुगल शासन के रास्ता व अन्य रिकॉर्ड में भी इसका नाम इंद्रप्रस्थ होने का ही उल्लेख है!
 

सुब्रमण्यम स्वामी की मांग, जल्द से जल्द बदला जाए दिल्ली का नाम, नहीं तो देश….

भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता और राज्यसभा सांसद सुब्रमण्यम स्वामी जो कि हमेशा से ही अपने बयानों के लिए जाने जाते हैं यही नहीं बल्कि हमेशा अपनी बातों को बेबाकी से रखते हुए आए हैं ऐसे में एक बार फिर से सुब्रमण्यम स्वामी सुर्खियों में बने हुए हैं लेकिन इस बार उन्होंने राजधानी दिल्ली का नाम बदलने की मांग की है! इसके लिए उन्होंने द्रौपदी ट्रस्ट की डॉक्टर नीरा मिश्रा द्वारा किए गए एक शोध का भी हवाला दिया है! [embed]https://twitter.com/Swamy39/status/1395752996474998787[/embed] स्वामी ने दिल्ली का नाम बदलकर इंद्रप्रस्थ रखने की मांग को उठाया है उन्होंने लिखा है कि डॉ नीरा मिश्रा के शोध में पाए गए तक की राजधानी के द्वारा से नामक रण के लिए पर्याप्त है! इसके साथ ही डॉ स्वामी ने लिखा कि तमिलनाडु के एक महान ऋषि ने मुझे बताया कि जब तक दिल्ली का नाम बदलकर इंद्रप्रस्थ नहीं कर दिया जाता तब तक देश में विवादों की स्थिति बनी रहेगी! वही आपकी जानकारी के लिए बता दें कि डॉक्टर मिश्रा ने अपने शोध किए हैं जिनसे यह तो प्रमाणित होता है कि वर्षों पहले मौजूदा दिल्ली का नाम इंद्रप्रस्थ ही हुआ करता था यह भी बताया गया है कि महाभारत में जिगर है ही साथ ही साल 1911 में बेटी सरकार की अधिसूचना में भी इसकी प्रमाण मिलते हैं भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण के रिकॉर्ड के साथ ही ब्रिटिश एवं मुगल शासन के रास्ता व अन्य रिकॉर्ड में भी इसका नाम इंद्रप्रस्थ होने का ही उल्लेख है!