सुशांत के मामले में सुब्रमण्यम स्वामी ने उठाए ये कदम, सुशांत के फैंस से बोले- उम्मीद ना खोये …

सुब्रमण्यम स्वामी जो की भाजपा के नेता है। उन्होंने रविवार को विराट हिंदुस्तान संगम के साथ सुशांत सिंह राजपूत को लेकर बातचीत की और उन्होंने उनकी मौत के बारे में भी बात की थी। डॉ. सुधीर गुप्ता की तरफ से जो AIIMS की रिपोर्ट्स लीक हुई थी उस पर स्वामी ने ये बोला है, ''कि मेरी राय में, सिंह राजपूत की हत्या ही हुई थी और ये सब दुर्भाग्यपूर्ण है कि AIIMS ने कुछ लोगो को मौखिक रूप से बताया है वो ये है कि ये एक आत्महत्या थी। भले ही हमारे पास इसका भी सबूत नहीं है।'' उसके बाद उन्होंने ये भी बोला ''कि सुशांत सिंह राजपूत के सभी फेन्स से ये अनुरोध है कि वो सभी फ़िलहाल अपनी उम्मीद ना खोएं क्योकि हमे हत्यारे मिल जायगे और अंत में हमारी ही जीत होगी और फिर बाद में बॉलीवुड के सभी माफियो को इसकी कीमत जरूर चुकानी पड़ेगी। फिलहाल हम सुशांत सिंह राजपूत को वापस तो नहीं ला सकते लेकिन उनकी कुछ यादो को जरूर जिन्दा रख सकते है। फ़िलहाल अगर बॉलीवुड के किसी भी माफिया ने अपना सर उठाया तो उन्हें अब कुचल दिया जायगा बिलकुल भी नहीं छोड़ा जायगा। सुशांत सिंह राजपूत 13 जून को जिन्दा थे। वो 14 जून को 9 बजे उन्होंने अपने नौकर से ऑरेंज जूस भी मगवाया था और ऐसा आत्महत्या करने वाला इंसान तो बिलकुल भी नहीं करता।'' डॉ स्वामी ने फिलहाल 5 कदम उठाये है वो ये कि क्या AIIMS की टीम ने ही सुशांत सिंह राजपूत का पोस्टमार्टम किया था या फिर वो केवल कपूर की रिपोर्ट पर ही अपनी राय दे रहे है। अब इस बात को भी सबूत के तोर पर सार्वजनिक करेंगे ? क्या डॉ सुधीर गुप्ता को किसी ने मीडिया को इंटरव्यू देने की सलाह दी थी या वो उन पर कोई दबाव बनाया गया था। क्योकि फिलहाल तो वो ना किसी के पास गए और ना ही कोई प्रेस कॉन्फ्रेंस हुई तो ये सब अचानक से क्यों हुआ और एक दम से वो खुद ही फ्रेंडली मीडिया के पास चले गए ? क्या सारे सबूतों को खत्म किया गया था ? कुल मिलाकर क्या फ़िलहाल चिकित्सक की दृष्टि से ही कुछ भी अपर्याप्तता थी ? अब अगर स्वास्थय मंत्रालय इस पुरे मामले पर ध्यान देगा तो फिर से मेडिकल टीम की भी जाँच की जा सकती है। [embed]http://twitter.com/Swamy39/status/1315298637069467655[/embed] अलग-अलग मीडिया हाउस ने 3 अक्टूबर को काफी सारे सूत्रों के हिसाब से ये भी बोला था कि 'सुशांत सिंह राजपूत ने आत्महत्या की थी।' कुछ लोगो ने तो सुधीर गुप्ता से व्हाट्सअप पर बात भी की थी उन्होंने उसके स्क्रीन शॉट भी शेयर कर रखे है। फिलहाल तो भले ही सुधीर गुप्ता AIIMS के या फिर CBI की तरफ से इसके ऊपर कोई भी बयान नहीं आया था। सुधीर गुप्ता उस फोरेंसिक डॉ की 6 सदस्यों की टीम के हेड है और जो CBI को लेकर समग्र चिकत्सा-क़ानूनी अपनी राय देने के लिए गठित हुई है। पहले CBI और AIIMS ने सोमवार को डॉ सुधीर गुप्ता के लीक हुई रिपोर्ट के मामले में साफ़ इंकार कर दिया था। तब वकील इशकरन सिंह भंडारी ने मंगलवार को इसके ऊपर अपनी प्रतिक्रिया भी दी है और CBI से मांग भी की है कि अब एजेंसी को इस लीक मामले की जाँच जरूर करनी चाहिए। उसके बाद भंडारी ने सोमवार को सुब्रमण्यम स्वामी से भी स्वास्थय के मामले पर संसदीय स्थायी समिति के सदस्य होने के नाते इस मामले का संज्ञान लेने का अनुरोध भी किया था। उन्होंने सभी AIIMS के सभी अधिकारियो को बुलाने के लिए भी बोला है जिसकी अब बीजेपी संसद से सिफारिश भी कर दी है। AIIMS की रिपोर्ट के लीक होने के बाद अब रेपुब्लीक भारत ने डॉ सुधीर गुप्ता को एक्सपोस भी किया है और उनके चैनल को जो 22 अगस्त के एक पुराने इंटरव्यू को सामने लेकर आया जिसमे वो ''मुंबई के कपूर अस्पताल की ऑटोप्सी रिपोर्ट में काफी सारी खामिया निकाल रहे है उस सब को लेकर भी काफी सारे सवाल उठ रहे है। भले ही अब सुशांत सिंह राजपूत के मामले में उनकी कोई 'कथित सुसाइड थ्योरी' सामने आने से लोगो ने उनके ऊपर भी काफी सारे सवाल उठाने शुरू कर दिए है।
 

सुशांत के मामले में सुब्रमण्यम स्वामी ने उठाए ये कदम, सुशांत के फैंस से बोले- उम्मीद ना खोये …

सुब्रमण्यम स्वामी जो की भाजपा के नेता है। उन्होंने रविवार को विराट हिंदुस्तान संगम के साथ सुशांत सिंह राजपूत को लेकर बातचीत की और उन्होंने उनकी मौत के बारे में भी बात की थी। डॉ. सुधीर गुप्ता की तरफ से जो AIIMS की रिपोर्ट्स लीक हुई थी उस पर स्वामी ने ये बोला है, ' 'कि मेरी राय में, सिंह राजपूत की हत्या ही हुई थी और ये सब दुर्भाग्यपूर्ण है कि AIIMS ने कुछ लोगो को मौखिक रूप से बताया है वो ये है कि ये एक आत्महत्या थी। भले ही हमारे पास इसका भी सबूत नहीं है।'' उसके बाद उन्होंने ये भी बोला ''कि सुशांत सिंह राजपूत के सभी फेन्स से ये अनुरोध है कि वो सभी फ़िलहाल अपनी उम्मीद ना खोएं क्योकि हमे हत्यारे मिल जायगे और अंत में हमारी ही जीत होगी और फिर बाद में बॉलीवुड के सभी माफियो को इसकी कीमत जरूर चुकानी पड़ेगी। फिलहाल हम सुशांत सिंह राजपूत को वापस तो नहीं ला सकते लेकिन उनकी कुछ यादो को जरूर जिन्दा रख सकते है। फ़िलहाल अगर बॉलीवुड के किसी भी माफिया ने अपना सर उठाया तो उन्हें अब कुचल दिया जायगा बिलकुल भी नहीं छोड़ा जायगा। सुशांत सिंह राजपूत 13 जून को जिन्दा थे। वो 14 जून को 9 बजे उन्होंने अपने नौकर से ऑरेंज जूस भी मगवाया था और ऐसा आत्महत्या करने वाला इंसान तो बिलकुल भी नहीं करता।''

डॉ स्वामी ने फिलहाल 5 कदम उठाये है

वो ये कि क्या AIIMS की टीम ने ही सुशांत सिंह राजपूत का पोस्टमार्टम किया था या फिर वो केवल कपूर की रिपोर्ट पर ही अपनी राय दे रहे है। अब इस बात को भी सबूत के तोर पर सार्वजनिक करेंगे ? क्या डॉ सुधीर गुप्ता को किसी ने मीडिया को इंटरव्यू देने की सलाह दी थी या वो उन पर कोई दबाव बनाया गया था। क्योकि फिलहाल तो वो ना किसी के पास गए और ना ही कोई प्रेस कॉन्फ्रेंस हुई तो ये सब अचानक से क्यों हुआ और एक दम से वो खुद ही फ्रेंडली मीडिया के पास चले गए ? क्या सारे सबूतों को खत्म किया गया था ? कुल मिलाकर क्या फ़िलहाल चिकित्सक की दृष्टि से ही कुछ भी अपर्याप्तता थी ? अब अगर स्वास्थय मंत्रालय इस पुरे मामले पर ध्यान देगा तो फिर से मेडिकल टीम की भी जाँच की जा सकती है। [embed]http://twitter.com/Swamy39/status/1315298637069467655[/embed] अलग-अलग मीडिया हाउस ने 3 अक्टूबर को काफी सारे सूत्रों के हिसाब से ये भी बोला था कि 'सुशांत सिंह राजपूत ने आत्महत्या की थी।' कुछ लोगो ने तो सुधीर गुप्ता से व्हाट्सअप पर बात भी की थी उन्होंने उसके स्क्रीन शॉट भी शेयर कर रखे है। फिलहाल तो भले ही सुधीर गुप्ता AIIMS के या फिर CBI की तरफ से इसके ऊपर कोई भी बयान नहीं आया था। सुधीर गुप्ता उस फोरेंसिक डॉ की 6 सदस्यों की टीम के हेड है और जो CBI को लेकर समग्र चिकत्सा-क़ानूनी अपनी राय देने के लिए गठित हुई है। पहले CBI और AIIMS ने सोमवार को डॉ सुधीर गुप्ता के लीक हुई रिपोर्ट के मामले में साफ़ इंकार कर दिया था। तब वकील इशकरन सिंह भंडारी ने मंगलवार को इसके ऊपर अपनी प्रतिक्रिया भी दी है और CBI से मांग भी की है कि अब एजेंसी को इस लीक मामले की जाँच जरूर करनी चाहिए। उसके बाद भंडारी ने सोमवार को सुब्रमण्यम स्वामी से भी स्वास्थय के मामले पर संसदीय स्थायी समिति के सदस्य होने के नाते इस मामले का संज्ञान लेने का अनुरोध भी किया था। उन्होंने सभी AIIMS के सभी अधिकारियो को बुलाने के लिए भी बोला है जिसकी अब बीजेपी संसद से सिफारिश भी कर दी है। AIIMS की रिपोर्ट के लीक होने के बाद अब रेपुब्लीक भारत ने डॉ सुधीर गुप्ता को एक्सपोस भी किया है और उनके चैनल को जो 22 अगस्त के एक पुराने इंटरव्यू को सामने लेकर आया जिसमे वो ''मुंबई के कपूर अस्पताल की ऑटोप्सी रिपोर्ट में काफी सारी खामिया निकाल रहे है उस सब को लेकर भी काफी सारे सवाल उठ रहे है। भले ही अब सुशांत सिंह राजपूत के मामले में उनकी कोई 'कथित सुसाइड थ्योरी' सामने आने से लोगो ने उनके ऊपर भी काफी सारे सवाल उठाने शुरू कर दिए है।