कश्मीर को लेकर तालिबान ने दिया पाकिस्तान को झटका, भारत के साथ कहा ऐसे रखेंगे रिश्ते

Taliban gave a blow to Pakistan regarding Kashmir: अभी हाल ही में तालिबान (Taliban) ने अमेरिकी सैनिकों की वापसी के बाद अफगानिस्तान पर अब पूरी तरह कब्जा कर लिया है. इससे बीच पाकिस्तान तालिबान को भारत के खिलाफ उकसाने में लगा है और वह कश्मीर को लेकर साजिश रचने की कोशिश कर रहा है, लेकिन तालिबान ने कश्मीर को लेकर अपने इरादे साफ कर दिए हैं. तालिबान ने पाकिस्तान की नापाक उम्मीदों को बड़ा झटका दिया है और साफ किया है कि वह कश्मीर मुद्दे पर किसी तरह का दखल नहीं देगा. तालिबान ने कश्मीर को बताया आंतरिक मुद्दा सीएनएन-न्यूज18 को इंटरव्यू देते हुए तालिबानी नेता अनस हक्कानी ने कश्मीर मुद्दे को भारत और पाकिस्तान का आंतरिक मामला बताया और कहा कि हम कश्मीर के मामले में हस्तक्षेप नहीं करेंगे. हम बता दें कि अनस हक्कानी, हक्कानी नेटवर्क के संस्थापक जलालुद्दीन हक्कानी के सबसे छोटे बेटे हैं. इस इंटरव्यू में आगे अनस हक्कानी से पूछा गया कि पाकिस्तान (Pakistan) हक्कानी नेटवर्क के बेहद करीब है और वह कश्मीर में लगातार दखल दे रहा है. क्या आप भी पाकिस्तान को समर्थन देने के लिए कश्मीर में दखल देंगे? इस पर उन्होंने कहा, 'कश्मीर हमारे अधिकार क्षेत्र का हिस्सा नहीं है और हस्तक्षेप नीति के खिलाफ है. हम अपनी नीति के खिलाफ कैसे जा सकते हैं? इसलिए यह स्पष्ट है कि हम कश्मीर में हस्तक्षेप नहीं करेंगे.' एक और सवाल क्या कश्मीर मुद्दे पर हक्कानी नेटवर्क जैश-ए-मोहम्मद और लश्कर-ए-तैयबा का समर्थन नहीं देगा? इसके जवाब में अनस हक्कानी (Anas Haqqani) ने, 'हम कई बार स्पष्ट कर चुके हैं और फिर से कह रहे हैं कि यह महज एक प्रोपेगेंडा है.' भारत से अच्छे संबंध रखना चाहता है तालिबान वहीं आ गए भारत के साथ संबंधों पर अनस हक्कानी ने कहा, 'हम भारत के साथ अच्छे संबंध चाहते हैं. हम नहीं चाहते हैं कि कोई हमारे बारे में गलत सोचे. भारत ने 20 सालों तक हमारे दुश्मन की मदद की, लेकिन हम सब कुछ भूलकर रिश्ते को आगे बढ़ाने के लिए तैयार हैं.'
 

कश्मीर को लेकर तालिबान ने दिया पाकिस्तान को झटका, भारत के साथ कहा ऐसे रखेंगे रिश्ते

Taliban gave a blow to Pakistan regarding Kashmir: अभी हाल ही में तालिबान ( Taliban) ने अमेरिकी सैनिकों की वापसी के बाद अफगानिस्तान पर अब पूरी तरह कब्जा कर लिया है. इससे बीच पाकिस्तान तालिबान को भारत के खिलाफ उकसाने में लगा है और वह कश्मीर को लेकर साजिश रचने की कोशिश कर रहा है, लेकिन तालिबान ने कश्मीर को लेकर अपने इरादे साफ कर दिए हैं. तालिबान ने पाकिस्तान की नापाक उम्मीदों को बड़ा झटका दिया है और साफ किया है कि वह कश्मीर मुद्दे पर किसी तरह का दखल नहीं देगा.

तालिबान ने कश्मीर को बताया आंतरिक मुद्दा

सीएनएन-न्यूज18 को इंटरव्यू देते हुए तालिबानी नेता अनस हक्कानी ने कश्मीर मुद्दे को भारत और पाकिस्तान का आंतरिक मामला बताया और कहा कि हम कश्मीर के मामले में हस्तक्षेप नहीं करेंगे. हम बता दें कि अनस हक्कानी, हक्कानी नेटवर्क के संस्थापक जलालुद्दीन हक्कानी के सबसे छोटे बेटे हैं. इस इंटरव्यू में आगे अनस हक्कानी से पूछा गया कि पाकिस्तान ( Pakistan) हक्कानी नेटवर्क के बेहद करीब है और वह कश्मीर में लगातार दखल दे रहा है. क्या आप भी पाकिस्तान को समर्थन देने के लिए कश्मीर में दखल देंगे? इस पर उन्होंने कहा, 'कश्मीर हमारे अधिकार क्षेत्र का हिस्सा नहीं है और हस्तक्षेप नीति के खिलाफ है. हम अपनी नीति के खिलाफ कैसे जा सकते हैं? इसलिए यह स्पष्ट है कि हम कश्मीर में हस्तक्षेप नहीं करेंगे.' एक और सवाल क्या कश्मीर मुद्दे पर हक्कानी नेटवर्क जैश-ए-मोहम्मद और लश्कर-ए-तैयबा का समर्थन नहीं देगा? इसके जवाब में अनस हक्कानी (Anas Haqqani) ने, 'हम कई बार स्पष्ट कर चुके हैं और फिर से कह रहे हैं कि यह महज एक प्रोपेगेंडा है.'

भारत से अच्छे संबंध रखना चाहता है तालिबान

वहीं आ गए भारत के साथ संबंधों पर अनस हक्कानी ने कहा, 'हम भारत के साथ अच्छे संबंध चाहते हैं. हम नहीं चाहते हैं कि कोई हमारे बारे में गलत सोचे. भारत ने 20 सालों तक हमारे दुश्मन की मदद की, लेकिन हम सब कुछ भूलकर रिश्ते को आगे बढ़ाने के लिए तैयार हैं.'