विदेश मंत्री के ‘वी विल वेंट एंड सी’ का क्या मतलब है?- अफगानिस्तान संकट पर बोले BJP सांसद सुब्रमण्यम स्वामी

What is meant by External Affairs Minister: सांसद सुब्रमण्यम स्वामी ने ट्वीट कर अपना एक वीडियो शेयर किया है. इस वीडियो में वे कुछ विशेषज्ञों के साथ अफगानिस्तान के हालात पर चर्चा कर रहे हैं. इस दौरान स्वामी ने कहा कि सरकार ने इस मुद्दे पर अब तक कुछ नहीं किया है और सिर्फ इंतजार कर रही है. भाजपा सांसद ने इस वीडियो में कहा है कि, “तालिबान ने अफगानिस्तान पर पूरी तरह से कब्जा कर लिया है. कुछ दिनों से जो हो रहा है वह चौंकाने वाला है. अमेरिका ने कहा था कि अफगानिस्तान से वह अपनी सेना 11 सितंबर तक हटा देगा. लेकिन अब उन्होंने इसे पहले हटाने का फैसला किया है और तालिबान ने देश पर कब्जा कर लिया है. तालिबान की कई ब्रांच हैं. उनकी एक ब्रांच पाकिस्तान में है.” https://twitter.com/Swamy39/status/1431987701733941254 स्वामी ने आगे कहा, “अफगानिस्तान के उत्तरी इलाके को तालिबान (Taliban) अभी तक नहीं पा सका है. वह इलाका एक मसूद नाम के व्यक्ति का है जिसे तालिबान ने बहुत पहले मार दिया था. अब उसका बेटा बड़ा हो गया है और वह उस इलाके को चलाता है. उसके साथ 4-5 लोग और हैं जो उसकी मदद कर रहे हैं. इस ग्रुप को पहले भी भारत ने सपोर्ट किया है. 1987 के आसपास वे भारत आए थे और हम में से कई लोगों से मुलाक़ात की थी.” स्वामी ने कहा, “अब सवाल यह है कि क्या अब भारत उन्हें तालिबान से लड़ने में मदद करेगा. अबतक भारत ने कोई स्टैंड नहीं लिया है. भारत को इन सब से बाहर रखा गया है. यूएस ने एक कोआर्ड बनाया है। जिसमें भारत को शामिल नहीं किया है. इसमें रूस, चीन, तालिबान और पाकिस्तान है. अजीत डोभाल और जयशंकर दोनों ने कंधार का एक ट्रिप लिया है। लेकिन उसका कोई मतलब नहीं है.” आगे राज्यसभा सांसद ने कहा, “रूस ने भी कोआर्ड बनाया. जिसमें उन्होंने अमेरिका, चीन, पाकिस्तान को शामिल किया है. इसमें भी भारत को शामिल नहीं किया गया. हम एक तरह से अफगानिस्तान के पड़ोसी हैं. पीओके जो अब हमारे कंट्रोल में नहीं है. उसकी बार्डर अफगानिस्तान से मिलती है।” बता दें कि सुब्रमण्यम स्वामी (Subramanyam Swami) ने कहा, “एक देश जिसने कभी भी अफगानिस्तान को हराया है वह भारत है. यह रणजीत सिंह के समय हुआ था. हमने अभी तक इस मुद्दे पर एक शब्द भी नहीं कहा है. कोई पॉलिसी स्टेटमेंट भी नहीं दिया है. एक के बाद एक कई हमने हास्यास्पद बयान दिये हैं. हमारे विदेश मंत्री कहते हैं ‘वी विल वेंट एंड सी’ इसका क्या मतलब होता है. रोज कुछ न कुछ हो रहा है. ये वही बात हो गई किसी ने ग्रेनेड से पिन निकाल कर आपके ऊपर फेंक दिया. अपने उसे पकड़ लिया और अब कह रहे हो ‘वेंट एंड सी’ क्या होता है.”
 

विदेश मंत्री के ‘वी विल वेंट एंड सी’ का क्या मतलब है?- अफगानिस्तान संकट पर बोले BJP सांसद सुब्रमण्यम स्वामी

What is meant by External Affairs Minister: सांसद सुब्रमण्यम स्वामी ने ट्वीट कर अपना एक वीडियो शेयर किया है. इस वीडियो में वे कुछ विशेषज्ञों के साथ अफगानिस्तान के हालात पर चर्चा कर रहे हैं. इस दौरान स्वामी ने कहा कि सरकार ने इस मुद्दे पर अब तक कुछ नहीं किया है और सिर्फ इंतजार कर रही है. भाजपा सांसद ने इस वीडियो में कहा है कि, “तालिबान ने अफगानिस्तान पर पूरी तरह से कब्जा कर लिया है. कुछ दिनों से जो हो रहा है वह चौंकाने वाला है. अमेरिका ने कहा था कि अफगानिस्तान से वह अपनी सेना 11 सितंबर तक हटा देगा. लेकिन अब उन्होंने इसे पहले हटाने का फैसला किया है और तालिबान ने देश पर कब्जा कर लिया है. तालिबान की कई ब्रांच हैं. उनकी एक ब्रांच पाकिस्तान में है.” https://twitter.com/Swamy39/status/1431987701733941254 स्वामी ने आगे कहा, “अफगानिस्तान के उत्तरी इलाके को तालिबान ( Taliban) अभी तक नहीं पा सका है. वह इलाका एक मसूद नाम के व्यक्ति का है जिसे तालिबान ने बहुत पहले मार दिया था. अब उसका बेटा बड़ा हो गया है और वह उस इलाके को चलाता है. उसके साथ 4-5 लोग और हैं जो उसकी मदद कर रहे हैं. इस ग्रुप को पहले भी भारत ने सपोर्ट किया है. 1987 के आसपास वे भारत आए थे और हम में से कई लोगों से मुलाक़ात की थी.” स्वामी ने कहा, “अब सवाल यह है कि क्या अब भारत उन्हें तालिबान से लड़ने में मदद करेगा. अबतक भारत ने कोई स्टैंड नहीं लिया है. भारत को इन सब से बाहर रखा गया है. यूएस ने एक कोआर्ड बनाया है। जिसमें भारत को शामिल नहीं किया है. इसमें रूस, चीन, तालिबान और पाकिस्तान है. अजीत डोभाल और जयशंकर दोनों ने कंधार का एक ट्रिप लिया है। लेकिन उसका कोई मतलब नहीं है.” आगे राज्यसभा सांसद ने कहा, “रूस ने भी कोआर्ड बनाया. जिसमें उन्होंने अमेरिका, चीन, पाकिस्तान को शामिल किया है. इसमें भी भारत को शामिल नहीं किया गया. हम एक तरह से अफगानिस्तान के पड़ोसी हैं. पीओके जो अब हमारे कंट्रोल में नहीं है. उसकी बार्डर अफगानिस्तान से मिलती है।” बता दें कि सुब्रमण्यम स्वामी ( Subramanyam Swami) ने कहा, “एक देश जिसने कभी भी अफगानिस्तान को हराया है वह भारत है. यह रणजीत सिंह के समय हुआ था. हमने अभी तक इस मुद्दे पर एक शब्द भी नहीं कहा है. कोई पॉलिसी स्टेटमेंट भी नहीं दिया है. एक के बाद एक कई हमने हास्यास्पद बयान दिये हैं. हमारे विदेश मंत्री कहते हैं ‘वी विल वेंट एंड सी’ इसका क्या मतलब होता है. रोज कुछ न कुछ हो रहा है. ये वही बात हो गई किसी ने ग्रेनेड से पिन निकाल कर आपके ऊपर फेंक दिया. अपने उसे पकड़ लिया और अब कह रहे हो ‘वेंट एंड सी’ क्या होता है.”