योगी के जनता दरबार में लोगों के कंधे पर सुरक्षाकर्मी क्यों रखते हैं हाथ? जानें कारण

Why do security personnel keep hands on people's shoulders: उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) ने जनता दरबार (Janta Darbar) के नाम पर जनता को एक ऐसी सुविधा दे रखी है जिसमें राज्य की जनता से सीधा संवाद करती है और अपनी समस्याओं को बताती है. इस जनता दरबार में फरियादियों के आने के कुछ नियम है और इस नियम के बाद एक विशेष बात यह भी है कि जब भी योगी आदित्यनाथ किसी फरियादी के पास आते हैं तो तुरंत सुरक्षाकर्मी उस फरियादी के कंधे पर हाथ रखकर खड़े हो जाते हैं. ऐसा क्यों होता है चलिए जानते हैं... गौरतलब है कि जब महिला फरियादी होती हैं उनके लिए महिला और पुरुष फरियादियों के कंधे पर हाथ रखने के लिए पुरुष सुरक्षाकर्मी तैनात होते हैं. बता दें कि,योगी के जनता दरबार के लिए एक खास प्रक्रिया होती है. यानी जनता कितनी संख्या में होगी और कैसे जनता यहां तक आ सकती है और जनता दरबार कहां और कब लगेगा आदि. इस जनता दरबार में फरियादियों के लिए कुर्तियां लगाकर लाइन से लोगों को बैठाया जाता है और फिर हर फरियादी के पीछे एक सुरक्षाकर्मी तैनात होता है. योगी की जेड प्लस सुरक्षा का स्तर बढ़ाते हुए सुरक्षा एजेंसियों ने सीआईएसएफ कमांडो की टुकड़ी भी है. यह सीआईएसफ कमांडो की टुकड़ी हमेशा उनके साथ साए की तरह होती है इस सीआईएसफ कमांडो की टोकरी में कम से कम 25 कमांडो हमेशा होते हैं. यह फरियादियों के कंधे पर योगी आदित्यनाथ की सुरक्षा के लिए हाथ रखती है ताकि कोई अनहोनी से बचा जा सके. वहीं दूसरी ओर योगी आदित्यनाथ ने एक इंटरव्यू में बताया था कि बुजुर्ग या महिलाएं उनके पैर या उनके सामने हाथ ना जोड़ें इसके लिए सुरक्षाकर्मी उनके कंधे पर हाथ रखते हैं. साथ ही साथ योगी का कहना था कि भारतीय संस्कृति में महिलाएं उनकी मां समान होती हैं और वह उनके आगे हाथ जोड़ें या पैर छुए उन्हें यह बिल्कुल भी पसंद नहीं. गौरतलब है कि जनता दरबार किस दिन होगा और किस टाइम पर होगा, इसका फैसला पूरी तरह से योगी खुद ही करते हैं. दरबार में 50 से 100 लोगों को CM अपने घर बुलाते हैं. लोगों का सेलेक्शन एप्लीकेशन फॉर्म से होता है. इस एप्लीकेशन को सीएम हाउस में बने ऑफिस में जमा करना होता है
 

योगी के जनता दरबार में लोगों के कंधे पर सुरक्षाकर्मी क्यों रखते हैं हाथ? जानें कारण

Why do security personnel keep hands on people's shoulders: उत्तर प्रदेश ( Uttar Pradesh) में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ( Yogi Adityanath) ने जनता दरबार ( Janta Darbar) के नाम पर जनता को एक ऐसी सुविधा दे रखी है जिसमें राज्य की जनता से सीधा संवाद करती है और अपनी समस्याओं को बताती है. इस जनता दरबार में फरियादियों के आने के कुछ नियम है और इस नियम के बाद एक विशेष बात यह भी है कि जब भी योगी आदित्यनाथ किसी फरियादी के पास आते हैं तो तुरंत सुरक्षाकर्मी उस फरियादी के कंधे पर हाथ रखकर खड़े हो जाते हैं. ऐसा क्यों होता है चलिए जानते हैं... गौरतलब है कि जब महिला फरियादी होती हैं उनके लिए महिला और पुरुष फरियादियों के कंधे पर हाथ रखने के लिए पुरुष सुरक्षाकर्मी तैनात होते हैं. बता दें कि,योगी के जनता दरबार के लिए एक खास प्रक्रिया होती है. यानी जनता कितनी संख्या में होगी और कैसे जनता यहां तक आ सकती है और जनता दरबार कहां और कब लगेगा आदि. इस जनता दरबार में फरियादियों के लिए कुर्तियां लगाकर लाइन से लोगों को बैठाया जाता है और फिर हर फरियादी के पीछे एक सुरक्षाकर्मी तैनात होता है. योगी की जेड प्लस सुरक्षा का स्तर बढ़ाते हुए सुरक्षा एजेंसियों ने सीआईएसएफ कमांडो की टुकड़ी भी है. यह सीआईएसफ कमांडो की टुकड़ी हमेशा उनके साथ साए की तरह होती है इस सीआईएसफ कमांडो की टोकरी में कम से कम 25 कमांडो हमेशा होते हैं. यह फरियादियों के कंधे पर योगी आदित्यनाथ की सुरक्षा के लिए हाथ रखती है ताकि कोई अनहोनी से बचा जा सके. वहीं दूसरी ओर योगी आदित्यनाथ ने एक इंटरव्यू में बताया था कि बुजुर्ग या महिलाएं उनके पैर या उनके सामने हाथ ना जोड़ें इसके लिए सुरक्षाकर्मी उनके कंधे पर हाथ रखते हैं. साथ ही साथ योगी का कहना था कि भारतीय संस्कृति में महिलाएं उनकी मां समान होती हैं और वह उनके आगे हाथ जोड़ें या पैर छुए उन्हें यह बिल्कुल भी पसंद नहीं. गौरतलब है कि जनता दरबार किस दिन होगा और किस टाइम पर होगा, इसका फैसला पूरी तरह से योगी खुद ही करते हैं. दरबार में 50 से 100 लोगों को CM अपने घर बुलाते हैं. लोगों का सेलेक्शन एप्लीकेशन फॉर्म से होता है. इस एप्लीकेशन को सीएम हाउस में बने ऑफिस में जमा करना होता है