RSS Muslim Union Support BJP: वर्ष 2019 में होने वाले Lok Sabha Election में राष्ट्रीय शिया समाज (RSS) ने भारतीय जनता पार्टी (BJP) का साथ देने का ऐलान किया है. RSS के अध्यक्ष भाजपा विधान परिषद सदस्य बुक्कल नवाब (Bukkal Nawab) ने बताया कि शिया मुसलमान अगले लोकसभा चुनाव में BJP और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का साथ देंगे. हम अयोध्या में राम मंदिर (Rama Temple) के निर्माण के पक्ष में हैं.

RSS Muslim Union Support BJP-

नवाब ने कहा कि BJP को छोड़कर दूसरा कोई भी दल शिया मुसलमानों के हितों का ख्याल नहीं रखता है. इस लिहाज से इस बार भी यह कौम BJP और PM Modi का साथ देगी.

BJP का सहयोग करने की वजह के बारे में पूछे जाने पर नवाब ने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी (Ex-PM Vajpai) की कोशिशों की वजह से ही लखनऊ में शिया मुसलमानों के जुलूस पर लगा 20 साल पुराना प्रतिबंध खत्म हुआ था.

बुक्कल नवाब ने कहा कि बीजेपी ने ही Central Minister मुख्तार अब्बास नकवी, प्रदेश के राज्यमंत्री मोहसिन रजा, राष्ट्रीय अल्पसंख्यक आयोग के अध्यक्ष ग़यूरुल हसन, Utter-pradesh अल्पसंख्यक आयोग के अध्यक्ष हैदर अब्बास जैसे शिया मुसलमानों को अहम ओहदों पर बैठाया.

नवाब ने आरोप लगाया कि प्रदेश की पूर्ववर्ती SP और BSP सरकारों ने शिया मुसलमानों को प्रताड़ित किया. BSP प्रमुख मायावती के राज में खुद उन्हें जेल में डाला गया था. वहीं, SP के शासनकाल में उसके नेता आजम खां (Ajam Khan) ने शिया समुदाय को सताने की हर मुमकिन कोशिश की. बाकी सियासी पार्टियों के रवैये को देखते हुए शिया समुदाय ने इस बार BJP का साथ देकर उसकी जीत सुनिश्चित की.

2016 में गठित हुए अपने संगठन का शॉर्ट में RSS नाम रखे जाने की वजह पूछे जाने पर बुक्कल नवाब (Bukkal Nawab) ने कहा कि यह राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ का ही एक अवतार है.

इस बीच, ऑल इण्डिया शिया पर्सनल लॉ बोर्ड ( All India Shia Personal Law Board ) के प्रवक्ता मौलाना यासूब अब्बास ने अगले लोकसभा चुनाव में शिया मुसलमानों द्वारा बीजेपी का साथ दिए जाने के बुक्कल नवाब के बयान पर कहा कि वह अभी इस बारे में कुछ नहीं कहना चाहते. यह एक संवेदनशील मामला है. वह उलेमा (Ulema) से राय लेकर ही इस बारे में कुछ कह सकेंगे.

वहीं शिया धर्मगुरु मौलाना कल्बे जव्वाद (Maulana Kalbe Jawwad) ने कहा कि बुक्कल नवाब और उनके साथियों ने जो फैसला लिया है, वह उनकी निजी राय है. बाकी शिया समाज ने वर्ष 2019 के Lok Sabha Election में किसी दल को समर्थन देने का अभी तक कोई फैसला नहीं लिया है. उन्होंने कहा कि उलेमा के साथ बैठक करके सलाह-मशविरे के बाद ही इस बारे में कोई (BJP Support) निर्णय लिया जाएगा.

और देखें – सपना हुई प्रेग्नेंट वो भी बिना शादी के? जानिए इसके पीछे का पूरा सच !

By dp

You missed