तृणमूल कांग्रेस के गुंडों ने BSF के जवान को बुरी तरह से पीटा

0
80

कथित तौर पर बताया जा रहा है की शुक्रवार को BSF के एक जवान पर पश्चमी बंगाल में हमला हुआ था. यह हमला किसी और ने नहीं बल्कि तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ताओं द्वारा किया गया था. BSF जवान के परिवार ने पुलिस में मामला दर्ज़ तो करवा दिया हैं लेकिन सत्ताधारी पार्टी के कार्यकर्ताओं को पकड़ना बंगाल पुलिस के बस का नहीं हैं.

जम्मू-कश्मीर के कुपवाड़ा में 169 बटालियन में तैनात 32 वर्षीय बिस्वजीत साहनी (Biswajit Sahani) महामारी होने के चलते इलाज़ के लिए घर लौट आये थे. सीमा सुरक्षा बल (बीएसएफ) ने भी अपनी रिपोर्ट में कहा है की वह घर पर छुट्टी पर गए हुए थे, वह आधिकारिक ड्यूटी पर तैनात नहीं थे.

बिस्वजीत साहनी का कहना है की तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्त्ता एक रैल्ली निकाल रहे थे. घर आते हुए वह मोटर साइकिल पर सवार थे और तृणमूल कांग्रेस की रैल्ली को ओवरटेक करने का प्रयास कर रहे थे. इस पार्टी के कार्यकर्त्ता भड़क गए और विवाद हाथापाई तक पहुँच गया.

बिस्वजीत साहनी ने कहा की तृणमूल कांग्रेस के कार्यकर्ताओं ने मुझे लकड़ी से पीटना शुरू कर दिया, उन्होंने मेरा मोटर साइकिल भी पूरी तरह से क्षतिग्रस्त कर दिया. बिस्वजीत साहनी की माने तो अगर आस पास के दूकानदार आकर उन्हें न बचाते और हॉस्पिटल न पहुंचाते तो उनकी जान भी जा सकती थी.

मीडिया और पुलिस को गवाही देते हुए स्थानीय लोगों ने बताया की तृणमूल कांग्रेस की यह रैल्ली कंडी ब्लॉक के टीएमसी अध्यक्ष अपूर्वा सरकार के नेर्तत्व में निकाली जा रही थी. जब मीडिया ने अपूर्वा सरकार से बात की तो उन्होंने BSF के जवान को पागल करार देते हुए कहा की हमने तो बस उसका इलाज़ करने की व्यवस्था की थी.

BSF जवान ने पश्चमी बंगाल की पुलिस के हालात बताते हुए कहा की, “मैं और मेरा भाई दोनों बीएसएफ के जवानों के रूप में देश की सेवा कर रहे हैं. लेकिन इस क्रूर हमले के बाद, पुलिस में से कोई भी अपना बयान दर्ज करने नहीं आया. जबकि हमने कंडी पुलिस स्टेशन के पास लिखित शिकायत दर्ज की है.”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here