अमेरिकी सेना जल्द कर सकती है हार से बौखलाए डोनाल्ड ट्रम्प का तख्तापलट

0
107

जैसा की आप सब जानते हैं डेमोक्रैट कैंडिडेट जो बाइडेन अमेरिका के नए राष्ट्रपति बन चुके हैं. लेकिन डोनाल्ड ट्रम्प हैं की अपनी हार स्वीकार करने को तैयार नहीं हो रहे. ऐसे में एक वक़्त पर दो राष्ट्रपति तो हो नहीं सकते जिस वजह से जब तक डोनाल्ड ट्रम्प अपना इस्तीफ़ा नहीं देते जो बाइडेन आधिकारिक तौर पर राष्ट्रपति नहीं बन सकते.

ऐसे में अब जॉइंट चीफ ऑफ स्टाफ चेयरमैन जनरल मार्क माइली ने कहा की सेना अमेरिका के संविधान की कसम खाता हैं. न की वह किसी राजा या फिर रानी की कसम खाता हैं, ऐसे में अगर संविधान की रक्षा करने के लिए हमें किसी का तख्तापलट भी करना पड़ा तो हम कर देंगे.

आपको बता दें की ट्रम्प के कार्यकाल को पूरा होने में बस कुछ हफ्ते ही शेष हैं और इस दौरान उन्होंने हाल ही में पेंटागन में ताबड़तोड़ बदलाव करते हुए रक्षा मंत्री मार्क एस्पर को उनके पद से हटा दिया. उनकी जगह अपने ख़ास दोस्त को अब अमेरिका का रक्षा मंत्री नियुक्त किया हैं.

गौरतलब है की ट्रम्प अपने चुनाव पूरी तरह से हार चुके हैं, लेकिन वह इस बात को मानने के लिए तैयार नहीं हैं. ऐसे में वह चुनावों में धांदली का आरोप लगा रहें हैं और वह किसी तरह से दुबारा अमेरिका का राष्टपति बनना चाहते हैं. यह रास्ता उनके लिए आसान नहीं हैं और यह बात वह अच्छे से जानते हैं.

इसलिए वह अब मंत्रिमंडल से लेकर कई ऐसे बड़े बदलाव कर रहें हैं, जिनसे उन्हें आने वाले वक़्त में राष्ट्रपति पद को न छोड़ने में सहायता मिल सके. लेकिन सेना की और से साफ़ सन्देश दे दिया गया है की, इस दौरान वह ट्रम्प का साथ नहीं देगी. बल्कि अगर जरूरी हुआ तो वह खुद आगे आकर संविधान की रक्षा करते हुए सरकार का तख्तापलट कर देगी.

ट्रम्प और जो बाइडेन के बीच मुकाबला बहुत ज्यादा कड़ा था, आखिरी समय तक ट्रम्प और जो बाइडेन दोनों में से कोई भी जीत दर्ज़ कर सकता था. ऐसे में मामूली अंतर से हुई हार अब ट्रम्प को स्वीकार नहीं हो रही. लेकिन देखना यह होगा की दुनिया का सबसे पुराना लोकतंत्र वाला देश आखिर कैसे इस समस्या से निजात पाता हैं.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here