अमेरिका में चल रहे दंगों के बीच ट्विटर ने ट्रम्प पर की यह बड़ी कार्यवाही

0
21

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प शुरू से ही अमेरिका में हुए चुनावों को लेकर कहते आये हैं की इसमें धांधली हुई हैं. अमेरिकी युवाओं को राष्ट्रवादी और आतंकी देशों के बारे में खुलकर बोलने वाले डोनाल्ड ट्रम्प के समर्थक चाहते हैं की अमेरिका में दुबारा चुनाव हों.

यही कारण है की आज अमेरिका दंगों की चपेट में आ चूका हैं, डोनाल्ड ट्रम्प के समर्थक और जो बाइडेन के समर्थक एक दूसरे के साथ भीड़ रहें हैं. दरअसल आज चुनावी नतीजों पर समीक्षा करने के लिए डोनाल्ड ट्रम्प ने व्हाइट हाउस और कैपिटल भवन में एक बैठक बुलाई थी. इस बैठक के दौरान डोनाल्ड ट्रम्प के समर्थकों ने व्हाइट हाउस और कैपिटल भवन को घेरना शुरू कर दिया.

इस दौरान डोनाल्ड ट्रम्प के समर्थकों और पुलिस के बीच झड़प भी हुई और दोनों और से हुई फायरिंग में एक महिला घायल हो गयी और हॉस्पिटल में इलाज़ के दौरान उसने अपना दम तोड़ दिया. इन दंगो के बीच वाशिंगटन डीसी में कर्फ्यू लगा दिया गया हैं और अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प अभी भी चुनावों में धांधली का आरोप लगा रहें हैं जिस वजह से ट्विटर ने उनपर कार्यवाही करते हुए 12 घंटे का बैन लगा दिया हैं.

इस मामले में जो बाइडेन ने बयान देते हुए कहा है की, “मैं राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप से आह्वान करता हूँ कि वह शपथ पूरी करें, संविधान की रक्षा करें और इस घेराव को बंद ख़त्म करने की माँग उठाएँ. कैपिटल भवन पर जिस तरह का हंगामा हुआ है हम असल में वैसे नहीं हैं. यह क़ानून का पालन नहीं करने वालों की छोटी संख्या है. इस तरह की घटना राजद्रोह है.”

जो बाइडेन के इलावा भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने भी बयान देते हुए कहा है की, “वाशिंगटन में हुई दंगों और हिंसा की घटनाओं से निराश हूँ. सत्ता का स्थानान्तरण आदेशानुसार और शांतिपूर्ण तरीके से होना चाहिए. संवैधानिक प्रक्रिया को इस तरह के असंवैधानिक प्रदर्शन से तबाह नहीं किया जा सकता है.”

ट्रम्प ने भी अपने ट्वीट में अपने समर्थकों को सन्देश देते हुए कहा है की, “प्रदर्शन के बीच हिंसा नहीं होनी चाहिए, याद रखें हम एक क़ानून और व्यवस्था की पार्टी हैं.” लेकिन ट्विटर ने उन्हें इस ट्वीट के बाद 12 घंटे के लिए बैन लगा दिया. जिससे अमेरिका के हालात उनके द्वारा फैलाई जा रही जानकारी के आधार पर और न बिगड़े.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here