जम्मू कश्मीर में बड़ी हलचल, घबरा गया पाकिस्तान, UNSC से लगाईं गुहार- भारत को रोको कोई कदम उठाने से

0
1014

Pakistan appeals to UNSC – stop India from taking any step: देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के द्वारा कश्मीर के क्षेत्रीय राजनेताओं की सर्वदलीय बैठक बुलाने से पाकिस्तान के अंदर एक बार फिर से हलचल तेज हो रही है! इस बैठक की सूचना मिलते ही पाकिस्तान के विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी ने शनिवार यानी 19 जून को भारत में जम्मू कश्मीर में कोई दूसरा कदम उठाने के खिलाफ चेतावनी दे डाली!

पाकिस्तान की विदेश मंत्री ने एक बयान में यह कहा है कि पाकिस्तान कश्मीरियों की पहचान को और अधिक कमजोर करने के किसी भी कदम का विरोध करता है! विदेश मंत्री का यह बयान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ओर से जम्मू कश्मीर के 14 क्षेत्रीय राजनेताओं को 24 जून बैठक का न्योता देने के बाद आया है! इस बैठक का एजेंडा नवगठित केंद्र शासित प्रदेश के विधानसभा चुनाव को रणनीति पर चर्चा मांगा जा रहा है!

वहीं जम्मू-कश्मीर में आपकी सरकार के किसी भी फैसले से घबराए पाकिस्तान ने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के अध्यक्ष को लिखा है कि भारत जम्मू कश्मीर में विमानन के साथ जनसंख्याकी परिवर्तन पर विचार कर सकता है! विदेश मंत्री शाह महमूद कुरैशी के बयान में कहा गया कि पाकिस्तान ने 5 अगस्त 2019 की भारत की कार्रवाई यों का कड़ा विरोध किया था और संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद सहित सभी अंतरराष्ट्रीय मंचों पर इस मामले को उठाया था! पाकिस्तान भारत के ऐसे किसी भी फैसले का विरोध करने के लिए दृढ़ है जो विभाजित करने की मांग करता है!

वही, विदेश मंत्री ने आगे कहा कि उन्होंने सुरक्षा परिषद के अध्यक्ष और संयुक्त राष्ट्र महासचिव को भारत के संभावित कदमों के बारे में अवगत करा दिया है! उनका कहना है कि वह भारत में ऐसे किसी भी फैसले का कड़ा विरोध करते हैं जो ऑक्युपैड जम्मू कश्मीर क्षेत्र की जनसांख्यिकीय संरचना को उतरने के लिए और कश्मीरियों की विशिष्ट पहचान को कमजोर करता है!

पाकिस्तान के विदेश मंत्री ने अंतरराष्ट्रीय समुदाय विशेष रूप से संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद के सदस्यों से भारत को जम्मू कश्मीर में अपनी अवैध कारोबारियों को दुगना करने से रोकने और दक्षिण एशिया में पहले से ही अस्थिर शांति और सुरक्षा की स्थिति को खतरे में डालने से बचने का आह्वान किया है!

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here