उत्तर प्रदेश फ्री कैलेंडर के सहारे घर-घर वोट मांगेगी कांग्रेस

0
25

जैसा की आप सब जानते हैं, पश्चमी बंगाल (West Bengal) के बाद देश के सबसे बड़े राज्य के चुनावों की तैयारी शुरू हो जाएगी. ऐसा माना जाता है की उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) की जीत भारतीय राजनीती के गुणा-भाग में सबसे एहम होती हैं. इसीलिए देश की तमाम पार्टियां उत्तर प्रदेश में अपनी पकड़ मजबूत करना चाहती हैं.

समाजवादी पार्टी, बहुजन समाजवादी पार्टी, आम आदमी पार्टी और अब तो मुस्लिम वोट काटने के लिए असदुद्दीन ओवैसी ने भी 100 सीटों पर चुनाव लड़ने की तैयारी कर ली हैं. बीजेपी (BJP) की स्थिति उत्तर प्रदेश में फिलहाल काफी मजबूत नज़र आ रही है और इसी के साथ कांग्रेस (Congress) भी अब अपनी चुनावी तैयारियों में जुट गयी हैं.

उत्तर प्रदेश में इस वक़्त कांग्रेस एक संगठन सृजन अभियान चला रही हैं, जिसमें प्रदेश में न्याय पंचायत के अध्यक्षों और ब्लॉक कांग्रेस कमेटी को एक साथ लाया जा रहा हैं. इसी अभियान के तहत कांग्रेस ने नए साल के कैलेंडर छपवाए हैं. उत्तर प्रदेश के कांग्रेस के नेता का कहना है की अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी (All India Congress Committee) की महासचिव प्रियंका गांधी (Priyanka Gandhi) ने अपने कुल 10 लाख कैलेंडर छपवाए हैं.

इन 10 लाख कैलेंडर को आगे न्याय पंचायत के अध्यक्षों और ब्लॉक कांग्रेस कमेटी के मेंबर को उनके एरिया की आबादी के हिसाब से बाँट दिए गए हैं. अब उनका काम है की इन कैलेंडर्स को घर घर तक पहुँचाया जाए. यह कैलेंडर कुल 12 पेजों का है और इसमें प्रियंका गाँधी की उत्तर प्रदेश में अपनी संवेदना व्यक्त करने सोनभद्र (Sonbhadra) में आदिवासी महिलाओं के साथ तस्वीर छपी है.

इसी तरह 12 पेजों पर अलग अलग मौकों के दौरान अपनी संवेदना व्यक्त करने वाली तस्वीरों को प्रियंका गांधी ने इस कैलेंडर में छपवाया हैं. हैरान करने वाली बात यह यही की राज्य की कुल आबादी 22 करोड़ हैं और अगर हम यह मान लें की एक परिवार में 10 लोग होते हैं तो उस हिसाब से 2 करोड़ 20 लाख परिवार उत्तर प्रदेश में रह रहें हैं. ऐसे में 2 करोड़ 20 लाख परिवारों के लिए महज़ 10 लाख कैलेंडर?

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here