Budget 2021-22 के लिए वित्त मंत्रालय ने ट्वीट करके लोगों से मांगे सुझाव

मोदी सरकार ने वित्त वर्ष 2021-22 का बजट की तैयारियां शुरू कर दी हैं. ऐसे में वित्त मंत्रालय ने एक ट्वीट के जरिये लोगों से बजट से जुड़े सुझाव मांगे हैं. आपको बता दें की बजट को तैयार करने से पहले देश के अलग अलग संस्थानों से जुड़े तमाम संगठनों से सलाह ली जाती हैं. उस हिसाब से उन संगठनों के लिए बजट में रकम तय की जाती हैं. लेकिन इस बार वित् मंत्रालय ने आम जनता को भी इस बजट का हिस्सा बनने का न्योता दिया हैं. आप ट्वीटर के माध्यम से वित् मंत्रालय को इस बजट में अपने सुझाव दे सकते हैं, अगर सरकार आपके सुझावों से सहमत हुई तो उसे माना भी जा सकता हैं. भारत में जब भी बजट तैयार किया जाता है वह सबसे पहले उद्योग चैंबर्स, किसान संगठन, विभिन्न तरह के कारोबार से जुड़े संगठन, कर्मचारी संगठन, अन्य राजनीतिक दल आदि सभी की सलाह से तैयार किया जाता हैं. याद रहे की यह अन्य सभी राजनीतिक दलों की भी सलाह से तैयार होता हैं, जबकि हर बजट के बाद विपक्षी दल उस बजट में खामिया निकालते नहीं थकते. खैर यह राजनीती का मुद्दा भी होता है जिसे कोई पार्टी छोड़ना नहीं चाहती. बात करें बजट की तो इसमें हर सेक्टर का लेखा जोखा होता हैं. यानी किस सेक्टर में सरकार अगले एक साल में कितनी धनराशि खर्च करेगी. हालाँकि बजट में जो धनराशि लिखी होती हैं वह एक अनुमानित धनराशि होती हैं, कभी-कभी यह पूरी इस्तेमाल नहीं हो पाती और कभी-कभी उस राशि को बढ़ाना भी पद जाता हैं. लेकिन बजट से सरकार को अनुमान हो जाता है की अगले एक साल में सरकार को कितने धन की आवश्यकता पड़ने वाली हैं. उस हिसाब में वह टैक्स में बदलाव करते हैं, यानी सरकार पर जब भी देश चलाने के समय पैसे का अतिरिक्त बोझ पड़ता है तो उसके पास केवल दो रस्ते होते हैं. पहला वह टैक्स बढ़ा दे और दूसरा वह सरकारी कंपनीज को शेयर मार्किट में उतार कर लोगों से पैसे जुटा ले.
 

Budget 2021-22 के लिए वित्त मंत्रालय ने ट्वीट करके लोगों से मांगे सुझाव

मोदी सरकार ने वित्त वर्ष 2021-22 का बजट की तैयारियां शुरू कर दी हैं. ऐसे में वित्त मंत्रालय ने एक ट्वीट के जरिये लोगों से बजट से जुड़े सुझाव मांगे हैं. आपको बता दें की बजट को तैयार करने से पहले देश के अलग अलग संस्थानों से जुड़े तमाम संगठनों से सलाह ली जाती हैं. उस हिसाब से उन संगठनों के लिए बजट में रकम तय की जाती हैं. Budget 2021-22 के लिए वित्त मंत्रालय ने ट्वीट करके लोगों से मांगे सुझाव लेकिन इस बार वित् मंत्रालय ने आम जनता को भी इस बजट का हिस्सा बनने का न्योता दिया हैं. आप ट्वीटर के माध्यम से वित् मंत्रालय को इस बजट में अपने सुझाव दे सकते हैं, अगर सरकार आपके सुझावों से सहमत हुई तो उसे माना भी जा सकता हैं. भारत में जब भी बजट तैयार किया जाता है वह सबसे पहले उद्योग चैंबर्स, किसान संगठन, विभिन्न तरह के कारोबार से जुड़े संगठन, कर्मचारी संगठन, अन्य राजनीतिक दल आदि सभी की सलाह से तैयार किया जाता हैं. याद रहे की यह अन्य सभी राजनीतिक दलों की भी सलाह से तैयार होता हैं, जबकि हर बजट के बाद विपक्षी दल उस बजट में खामिया निकालते नहीं थकते. खैर यह राजनीती का मुद्दा भी होता है जिसे कोई पार्टी छोड़ना नहीं चाहती. बात करें बजट की तो इसमें हर सेक्टर का लेखा जोखा होता हैं. यानी किस सेक्टर में सरकार अगले एक साल में कितनी धनराशि खर्च करेगी. हालाँकि बजट में जो धनराशि लिखी होती हैं वह एक अनुमानित धनराशि होती हैं, कभी-कभी यह पूरी इस्तेमाल नहीं हो पाती और कभी-कभी उस राशि को बढ़ाना भी पद जाता हैं. लेकिन बजट से सरकार को अनुमान हो जाता है की अगले एक साल में सरकार को कितने धन की आवश्यकता पड़ने वाली हैं. Budget 2021-22 के लिए वित्त मंत्रालय ने ट्वीट करके लोगों से मांगे सुझाव उस हिसाब में वह टैक्स में बदलाव करते हैं, यानी सरकार पर जब भी देश चलाने के समय पैसे का अतिरिक्त बोझ पड़ता है तो उसके पास केवल दो रस्ते होते हैं. पहला वह टैक्स बढ़ा दे और दूसरा वह सरकारी कंपनीज को शेयर मार्किट में उतार कर लोगों से पैसे जुटा ले.