बंगाल में भाजपा नेता की कार को घेरा गया और चलने लगी गोलियां

भाजपा नेता कृष्णेंदु मुखर्जी पर पश्चमी बंगाल में आसनसोल में रविवार (जनवरी 3, 2020) को जमकर गोलीबारी हुई. कार से घर लौटते हुए उनकी कार को रोक लिया गया, उसके बाद बीजेपी राज्य समिति के सदस्य कृष्णेंदु मुखर्जी की कार पर गोलियां चला दी गयी. इस गोलीबारी में वह बड़ी मुश्किल से अपनी जान बचाने में कामयाब हुए. बीजेपी राज्य समिति के सदस्य कृष्णेंदु मुखर्जी ने इस हमले के पीछे तृणमूल कांग्रेस के गुंडों पर आरोप लगाते हुए कहा है की यह सत्ताधारी पार्टी द्वारा कराया गया हमला था. उन्होंने पुलिस में दर्ज़ करवाई एक रिपोर्ट में बताया है की रविवार को लगभग 11 बजे कोलकाता से वह अपने घर जा रहे थे तभी तीन मोटर-साइकल सवार गुंडों ने उनकी कार को रुकवाया और गोलियां चलानी शुरू कर दी. कार पर बने हुए निशान बताते हैं की, गोलियां पास से चलाई गयी थी और उन्होंने कहा की कार के शीशे बुलेट प्रूफ थे. वह बार बार कार का दरवाजा खोलने की कोशिश करते रहे लेकिन उनसे दरवाज़ा नहीं खुला. ड्राइवर ने तेज़ हॉर्न बजाया जिससे लोग बाहर आने शुरू हो गए और भीड़ को देखते हुए वह बाइक सवार वहां से भाग खड़े हुए. इस हमले के बाद जैसे ही तृणमूल कांग्रेस का नाम आया तो बहुत ही बेशर्मी से अपने राज्य की कानून व्यवस्था बयान करते हुए टीएमसी के आसनसोल दक्षिण के विधायक तपस बनर्जी ने कहा की, "मुखर्जी जबरन वसूली, तस्करी और यहाँ तक कि हत्या के मामलों में आरोपित हैं और लंबे समय से फरार थे. यह घटना उनकी पुरानी रंजिश का नतीजा हो सकती है." वहीं बीजेपी नेता ने बयान देते हुए कहा की, "मुझे संदेह है कि तृणमूल के उपद्रवियों ने इस घटना को अंजाम दिया. मुझे हटाना उनके हित में है. मैं असुरक्षित महसूस कर रहा हूँ. यह घटना इस बात का प्रमाण है कि कानून और व्यवस्था की स्थिति कहाँ तक पहुँची है. मैंने शीर्ष नेतृत्व को सूचित किया है. मैंने पुलिस को सीसीटीवी फुटेज दिए हैं. पुलिस जाँच कर रही है." TMC leader openly instigates TMC workers to go and beat up BJP supporters. 136 BJP karyakartas have lost their lives to political violence, unleashed by Pishi’s goons... Will Pishi’s police dare to act against such provocative speeches that threaten Bengal’s law and order? pic.twitter.com/KqYTLPQp38 — BJP Bengal (@BJP4Bengal) January 3, 2021 एक तरफ तृणमूल कांग्रेस ने इस हमले से अपना पल्ला झाड़ लिया और दूसरी तरफ तृणमूल कांग्रेस के नेता एक मंच पर लोगों को भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्त्ता और नेताओं के खिलाफ लोगों को कहते हुए नज़र आये की, "जहाँ भी तुम बीजेपी को देखो, मै बता रहा हूँ, उन्हें पीटकर भगा देना. उन्हें पता होना चाहिए कि हम उन्हें स्वीकार नहीं करेंगे."
 

बंगाल में भाजपा नेता की कार को घेरा गया और चलने लगी गोलियां

भाजपा नेता कृष्णेंदु मुखर्जी पर पश्चमी बंगाल में आसनसोल में रविवार (जनवरी 3, 2020) को जमकर गोलीबारी हुई. कार से घर लौटते हुए उनकी कार को रोक लिया गया, उसके बाद बीजेपी राज्य समिति के सदस्य कृष्णेंदु मुखर्जी की कार पर गोलियां चला दी गयी. इस गोलीबारी में वह बड़ी मुश्किल से अपनी जान बचाने में कामयाब हुए. बंगाल में भाजपा नेता की कार को घेरा गया और चलने लगी गोलियां बीजेपी राज्य समिति के सदस्य कृष्णेंदु मुखर्जी ने इस हमले के पीछे तृणमूल कांग्रेस के गुंडों पर आरोप लगाते हुए कहा है की यह सत्ताधारी पार्टी द्वारा कराया गया हमला था. उन्होंने पुलिस में दर्ज़ करवाई एक रिपोर्ट में बताया है की रविवार को लगभग 11 बजे कोलकाता से वह अपने घर जा रहे थे तभी तीन मोटर-साइकल सवार गुंडों ने उनकी कार को रुकवाया और गोलियां चलानी शुरू कर दी. कार पर बने हुए निशान बताते हैं की, गोलियां पास से चलाई गयी थी और उन्होंने कहा की कार के शीशे बुलेट प्रूफ थे. वह बार बार कार का दरवाजा खोलने की कोशिश करते रहे लेकिन उनसे दरवाज़ा नहीं खुला. ड्राइवर ने तेज़ हॉर्न बजाया जिससे लोग बाहर आने शुरू हो गए और भीड़ को देखते हुए वह बाइक सवार वहां से भाग खड़े हुए. इस हमले के बाद जैसे ही तृणमूल कांग्रेस का नाम आया तो बहुत ही बेशर्मी से अपने राज्य की कानून व्यवस्था बयान करते हुए टीएमसी के आसनसोल दक्षिण के विधायक तपस बनर्जी ने कहा की, "मुखर्जी जबरन वसूली, तस्करी और यहाँ तक ​​कि हत्या के मामलों में आरोपित हैं और लंबे समय से फरार थे. यह घटना उनकी पुरानी रंजिश का नतीजा हो सकती है." वहीं बीजेपी नेता ने बयान देते हुए कहा की, "मुझे संदेह है कि तृणमूल के उपद्रवियों ने इस घटना को अंजाम दिया. मुझे हटाना उनके हित में है. मैं असुरक्षित महसूस कर रहा हूँ. यह घटना इस बात का प्रमाण है कि कानून और व्यवस्था की स्थिति कहाँ तक पहुँची है. मैंने शीर्ष नेतृत्व को सूचित किया है. मैंने पुलिस को सीसीटीवी फुटेज दिए हैं. पुलिस जाँच कर रही है." एक तरफ तृणमूल कांग्रेस ने इस हमले से अपना पल्ला झाड़ लिया और दूसरी तरफ तृणमूल कांग्रेस के नेता एक मंच पर लोगों को भारतीय जनता पार्टी के कार्यकर्त्ता और नेताओं के खिलाफ लोगों को कहते हुए नज़र आये की, "जहाँ भी तुम बीजेपी को देखो, मै बता रहा हूँ, उन्हें पीटकर भगा देना. उन्हें पता होना चाहिए कि हम उन्हें स्वीकार नहीं करेंगे."