संघ को खुली चुनौती दे रहे हैं दिग्विजय सिंह, आओ एक बार मैदान में, मुसलमान बहुसंख्यक …

कांग्रेस पार्टी के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह आए दिन कोई न कोई बयान देते ही रहते हैं जिसके बाद उनका बयान सुर्खियों में आ जाता है! ऐसे ही अब एक बार फिर से मंगलवार को उन्होंने दावा किया है कि भारत में मुसलमानों की प्रजनन दर गिर रही है! कांग्रेस के वरिष्ठ नेता का कहना है कि मुसलमानों की आबादी कभी भी इस तरीके से नहीं बढ़ सकते कि वह हिंदुओं की संख्या में बहुसंख्यक समुदाय बन जाएंगे! वहीं उन्होंने राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के खेमे से जुड़े लोगों पर उक्त विषय में दुर प्रचार का आ रोप लगाते हुए इस संगठन के प्रमुख मोहन भागवत को खुली बहस की चुनौती भी दे डाली है! वह यहां कांग्रेस, वाम पंथी दलों और संगठनों के द्वारा संयुक्त रूप से आयोजित सांप्र दायिक सद्भाव सम्मेलन को संबोधित कर रहे थे! महीनों ने संघ परिवार से जुड़े लोगों पर निशाना साधते हुए कहा है कि यह गलत प्रचार किया जा रहा है कि बहू युवा के जरिए लगातार आबादी बढ़ाए जाने से अगले 10 साल के अंदर देश में मुसलमान अल्पसंख्यक से बहुसंख्यक हो जाए जबकि हिंदू बहुसंख्यक से अल्पसंख्यक रह जाएंगे! वहीं कांग्रेस के नेता ने आगे कहा कि मैं मोहन भागवत से लेकर संघ के छोटे पटाखों तक को इस विषय पर आधुनिक बहस की चुनौती देता हूं मैं प्रमाणित कर दूंगा कि देश में मुसलमान बहुसंख्यक कभी नहीं हो सकता! उन्होंने यह भी कहा है कि देश के मुसलमान समुदाय की जन्म दर लगातार घटती जा रही है और वैसे भी महंगाई के इस जमाने में आम शोहर के लिए एक बीवी और उससे जन्मे बच्चों का पालन पोषण करना मुश्किल हो रहा है ऐसे में भला कौन मुसलमान चार बीवी और उनसे जन्मे बच्चे पाल सकता है?
 

संघ को खुली चुनौती दे रहे हैं दिग्विजय सिंह, आओ एक बार मैदान में, मुसलमान बहुसंख्यक …

कांग्रेस पार्टी के वरिष्ठ नेता दिग्विजय सिंह आए दिन कोई न कोई बयान देते ही रहते हैं जिसके बाद उनका बयान सुर्खियों में आ जाता है! ऐसे ही अब एक बार फिर से मंगलवार को उन्होंने दावा किया है कि भारत में मुसलमानों की प्रजनन दर गिर रही है! कांग्रेस के वरिष्ठ नेता का कहना है कि मुसलमानों की आबादी कभी भी इस तरीके से नहीं बढ़ सकते कि वह हिंदुओं की संख्या में बहुसंख्यक समुदाय बन जाएंगे! वहीं उन्होंने राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के खेमे से जुड़े लोगों पर उक्त विषय में दुर प्रचार का आ रोप लगाते हुए इस संगठन के प्रमुख मोहन भागवत को खुली बहस की चुनौती भी दे डाली है! वह यहां कांग्रेस, वाम पंथी दलों और संगठनों के द्वारा संयुक्त रूप से आयोजित सांप्र दायिक सद्भाव सम्मेलन को संबोधित कर रहे थे! महीनों ने संघ परिवार से जुड़े लोगों पर निशाना साधते हुए कहा है कि यह गलत प्रचार किया जा रहा है कि बहू युवा के जरिए लगातार आबादी बढ़ाए जाने से अगले 10 साल के अंदर देश में मुसलमान अल्पसंख्यक से बहुसंख्यक हो जाए जबकि हिंदू बहुसंख्यक से अल्पसंख्यक रह जाएंगे! वहीं कांग्रेस के नेता ने आगे कहा कि मैं मोहन भागवत से लेकर संघ के छोटे पटाखों तक को इस विषय पर आधुनिक बहस की चुनौती देता हूं मैं प्रमाणित कर दूंगा कि देश में मुसलमान बहुसंख्यक कभी नहीं हो सकता! उन्होंने यह भी कहा है कि देश के मुसलमान समुदाय की जन्म दर लगातार घटती जा रही है और वैसे भी महंगाई के इस जमाने में आम शोहर के लिए एक बीवी और उससे जन्मे बच्चों का पालन पोषण करना मुश्किल हो रहा है ऐसे में भला कौन मुसलमान चार बीवी और उनसे जन्मे बच्चे पाल सकता है?