हिंदूओ के त्योहार पर विसर्जन के दौरान धर्म विशेष के लोगों ने किया बाँस से हमला: की मूर्ति हुई खंडित, कई घायल

इस समय मामला भगवान विश्वकर्मा की मूर्ति विसर्जन का सामने आ रहा है जो कि काफी सुर्खियों में आ गया है और इसका वीडियो भी सामने आया है! यह वीडियो ऑफ इंडिया के यूट्यूब चैनल लोड किया है! मूर्ति विसर्जन के लिए जा रहे हिंदू युवको पर मुस्लिम भी ड़ ने हम ला कर दिया! इसके चलते मूर्ति को भी क्षतिग्रस्त कर दिया गया! यह मामला बिहार के मोतिहारी के महिषी थाना के तरनिया गांव का है! इस संबंध में बजरंग दल के चटिया अनुमंडल अध्यक्ष गोलू खेलानी से बात की। उन्होंने बताया कि यह मामला शुक्रवार (18 सितंबर, 2020) का है। गोलू खेलानी ने बताया कि शुक्रवार शाम करीब 4 बजे कुछ हिंदू युवक भगवान विश्वकर्मा की मूर्ति का विसर्जन करने जा रहे थे. रास्ते में कुछ ही दूरी पर मुस्लिम बस्ती है। जैसे ही कार मुस्लिम बस्ती के पास पहुंची, उन्होंने मूर्ति ले जाने से इनकार कर दिया। [embed]https://www.youtube.com/watch?v=zzrK2UsZwW4&t=3s[/embed] गोलू खेलानी के अनुसार, "एक समुदाय विशेष के लोगों ने चेतावनी दी थी कि अगर इस रास्ते से मूर्ति को ले जाया गया तो वे इसे नष्ट कर देंगे, लेकिन हिंदुओं ने इसे गंभी रता से नहीं लिया। वह आगे बढ़ने लगा। यह देख मुस्लिम भी ड़ आक्रा मक हो गई और उन पर हम ला कर दिया। पहले उन्होंने कार पर बांस से हम ला किया। फिर दलित चालक सुखारी राम पर हम ला कर दिया। उससे कार की चाबियां छीन लीं। इसके बाद बांस से प्रहार कर मूर्ति को क्षत-विक्षत कर दिया। इस हम ले में कई लोग घा यल भी हुए।"
 

हिंदूओ के त्योहार पर विसर्जन के दौरान धर्म विशेष के लोगों ने किया बाँस से हमला: की मूर्ति हुई खंडित, कई घायल

इस समय मामला भगवान विश्वकर्मा की मूर्ति विसर्जन का सामने आ रहा है जो कि काफी सुर्खियों में आ गया है और इसका वीडियो भी सामने आया है! यह वीडियो ऑफ इंडिया के यूट्यूब चैनल लोड किया है! मूर्ति विसर्जन के लिए जा रहे हिंदू युवको पर मुस्लिम भी ड़ ने हम ला कर दिया! इसके चलते मूर्ति को भी क्षतिग्रस्त कर दिया गया! यह मामला बिहार के मोतिहारी के महिषी थाना के तरनिया गांव का है! इस संबंध में बजरंग दल के चटिया अनुमंडल अध्यक्ष गोलू खेलानी से बात की। उन्होंने बताया कि यह मामला शुक्रवार (18 सितंबर, 2020) का है। गोलू खेलानी ने बताया कि शुक्रवार शाम करीब 4 बजे कुछ हिंदू युवक भगवान विश्वकर्मा की मूर्ति का विसर्जन करने जा रहे थे. रास्ते में कुछ ही दूरी पर मुस्लिम बस्ती है। जैसे ही कार मुस्लिम बस्ती के पास पहुंची, उन्होंने मूर्ति ले जाने से इनकार कर दिया। [embed]https://www.youtube.com/watch?v=zzrK2UsZwW4&t=3s[/embed] गोलू खेलानी के अनुसार, "एक समुदाय विशेष के लोगों ने चेतावनी दी थी कि अगर इस रास्ते से मूर्ति को ले जाया गया तो वे इसे नष्ट कर देंगे, लेकिन हिंदुओं ने इसे गंभी रता से नहीं लिया। वह आगे बढ़ने लगा। यह देख मुस्लिम भी ड़ आक्रा मक हो गई और उन पर हम ला कर दिया। पहले उन्होंने कार पर बांस से हम ला किया। फिर दलित चालक सुखारी राम पर हम ला कर दिया। उससे कार की चाबियां छीन लीं। इसके बाद बांस से प्रहार कर मूर्ति को क्षत-विक्षत कर दिया। इस हम ले में कई लोग घा यल भी हुए।"