जिन्दा ही हाथ पैर बाँध कर डैम में फेंक दी गयी 22 वर्षीय MBBS की छात्रा

एक बार फिर देश वासियों को दुःखद घटना को सुनना और देखना पड़ा, जिसमें झारखंड (Jharkhand) के हजारीबाग मेडिकल कॉलेज (Hazaribagh Medical College) में MBBS की पढाई कर रही छात्रा के हाथ और पैर बांध कर किसी ने पतरातू डैम में फेंक दिया था. बताया जा रहा है की वह परीक्षा देने के लिए घर से निकली थी जिसके बाद वह घर वापिस नहीं आई घर वालों ने पुलिस में रिपोर्ट दर्ज़ करवा दी. उसके बाद पुलिस वालों को 12 जनवरी, 2021 को सुचना मिली की पतरातू डैम (Patratu Dam) में एक लड़की की लाश मिली हैं. पुलिस ने जांच की तो पता चला यह वही पूजा भारती (Pooja Bharti) है जो झारखंड के हजारीबाग मेडिकल कॉलेज में MBBS की परीक्षा देने गयी लेकिन वापिस नहीं लौटी थी. पोस्टमार्टम में खुलासा हुआ है की पूजा भारती के पेट में पानी पहुँच गया था, मरे हुए इंसान के पेट में पानी नहीं पहुँच सकता. जिसका मतलब साफ़ है की पूजा भारती को जिन्दा ही डैम में फेंक दिया गया था. उसके हाथ पैर बांधे हुए थे इसलिए अगर उसे तैरना आता भी होगा तो भी वह कुछ नहीं कर सकती थी. पोस्टमार्टम में शरीर पर चोट के कोई निशान नहीं मिले हैं, बलात्कार के भी कोई सबूत अभी नहीं मिले हैं फिर भी डॉक्टर्स ने कुछ सैम्पल्स भेज आगे भेज दिए हैं जिसकी रिपोर्ट आने के बाद ही खुलासा होगा की पूजा भारती के साथ बलात्कार हुआ था या नहीं. यह केस हाई प्रोफ़ाइल (High Profile) बनता जा रहा हैं और इसीलिए इसके लिए एक SIT का भी गठन हुआ हैं. यह SIT छात्रा के कमरे, घटनास्थल, ई-रिक्शा, बस कंडेक्टर और गार्ड का बयान के साथ-साथ मेडिकल कॉलेज (Medical College) के डॉक्टरों और छात्रों के बयान ले रही हैं और अपने जांच के दायरे को बढ़ाती जा रही हैं. पुलिस पूजा के सोशल मीडिया अकाउंट को खंगाल ही रही थी की पता चला उसे किसी ने डिलीट कर दिया हैं, जिसका मतलब साफ़ हाई की पूजा भारती के फेसबुक (Facebook) का पासवर्ड भी उस इंसान को पता होगा. सवाल अनेक हैं और जवाब अभी SIT और पोस्टमार्टम जाँच के दौरान भेजे गए सैंपल्स की रिपोर्ट आने के बाद कुछ हद तक पता चलेंगे.
 

जिन्दा ही हाथ पैर बाँध कर डैम में फेंक दी गयी 22 वर्षीय MBBS की छात्रा

एक बार फिर देश वासियों को दुःखद घटना को सुनना और देखना पड़ा, जिसमें झारखंड (Jharkhand) के हजारीबाग मेडिकल कॉलेज (Hazaribagh Medical College) में MBBS की पढाई कर रही छात्रा के हाथ और पैर बांध कर किसी ने पतरातू डैम में फेंक दिया था. बताया जा रहा है की वह परीक्षा देने के लिए घर से निकली थी जिसके बाद वह घर वापिस नहीं आई घर वालों ने पुलिस में रिपोर्ट दर्ज़ करवा दी. जिन्दा ही हाथ पैर बाँध कर डैम में फेंक दी गयी 22 वर्षीय MBBS की छात्रा उसके बाद पुलिस वालों को 12 जनवरी, 2021 को सुचना मिली की पतरातू डैम (Patratu Dam) में एक लड़की की लाश मिली हैं. पुलिस ने जांच की तो पता चला यह वही पूजा भारती (Pooja Bharti) है जो झारखंड के हजारीबाग मेडिकल कॉलेज में MBBS की परीक्षा देने गयी लेकिन वापिस नहीं लौटी थी. पोस्टमार्टम में खुलासा हुआ है की पूजा भारती के पेट में पानी पहुँच गया था, मरे हुए इंसान के पेट में पानी नहीं पहुँच सकता. जिसका मतलब साफ़ है की पूजा भारती को जिन्दा ही डैम में फेंक दिया गया था. उसके हाथ पैर बांधे हुए थे इसलिए अगर उसे तैरना आता भी होगा तो भी वह कुछ नहीं कर सकती थी. पोस्टमार्टम में शरीर पर चोट के कोई निशान नहीं मिले हैं, बलात्कार के भी कोई सबूत अभी नहीं मिले हैं फिर भी डॉक्टर्स ने कुछ सैम्पल्स भेज आगे भेज दिए हैं जिसकी रिपोर्ट आने के बाद ही खुलासा होगा की पूजा भारती के साथ बलात्कार हुआ था या नहीं. यह केस हाई प्रोफ़ाइल (High Profile) बनता जा रहा हैं और इसीलिए इसके लिए एक SIT का भी गठन हुआ हैं. जिन्दा ही हाथ पैर बाँध कर डैम में फेंक दी गयी 22 वर्षीय MBBS की छात्रा यह SIT छात्रा के कमरे, घटनास्थल, ई-रिक्शा, बस कंडेक्टर और गार्ड का बयान के साथ-साथ मेडिकल कॉलेज (Medical College) के डॉक्टरों और छात्रों के बयान ले रही हैं और अपने जांच के दायरे को बढ़ाती जा रही हैं. पुलिस पूजा के सोशल मीडिया अकाउंट को खंगाल ही रही थी की पता चला उसे किसी ने डिलीट कर दिया हैं, जिसका मतलब साफ़ हाई की पूजा भारती के फेसबुक (Facebook) का पासवर्ड भी उस इंसान को पता होगा. सवाल अनेक हैं और जवाब अभी SIT और पोस्टमार्टम जाँच के दौरान भेजे गए सैंपल्स की रिपोर्ट आने के बाद कुछ हद तक पता चलेंगे.