इस ख़ास वजह से 14 करोड़ में नीलाम हुआ यह कबूतर

कहते हैं की, शौंक का कोई मूल्य नहीं होता, यह किसी भी चीज को अमूल्य बना देता है. अभी कुछ दिन पहले ही एक रेसिंग कबूतर को दुनिया का सबसे महंगा कबूतर होने का खिताब हासिल हो गया हैं. इस कबूतर का नाम किम बताया जा रहा है और यह एक मादा कबूतर है. ऑनलाइन हुई इस कबूतर की शुरूआती कीमत महज़ 237 डॉलर से शुरू हुई थी, जो बढ़ते हुए लगभग 19 लाख डॉलर पर जा पहुंची. भारतीय रूपए में अगर इसे समझे तो इस कबूतर की कीमत लगभग 14 करोड़ रूपए बनती हैं. इससे पहले यह रिकॉर्ड पिछले साल नर आर्मंडो कबूतर के पास था, जिसे एक व्यक्ति ने लगभग 12 लाख 50 डॉलर में खरीदा था. आपको बता दें की अरमांडो नाम के रेसिंग चैंपियन कबूतर को कबूतरों का लुईस हैमिल्टन कह कर पुकारा जाता था. 2019 में जब यह कबूतर रिटायर हुआ तो इसे नीलामी में बेच दिया गया. लेकिन हैरानी की बात यह है की सबसे महंगे कबूतर होने का खिताब यह 1 साल भी मुश्किल से अपने पास रख पाया और इसका रिकॉर्ड तोड़ते हुए न्यू किम ने आर्मंडो को भी पीछे छोड़ दिया और एक नया विश्व रिकॉर्ड बना लिया. बताया जा रहा है की किम को पालने वाले मालिक कुर्त वाउवर और उनके परिवार को जब पता चला की उनका कबूतर इतना महंगा बिका है तो वह बहुत ज्यादा हैरान हो गए. दरअसल चीन में कबूतरों की रेसिंग बहुत ही लोकप्रिय खेल बनता जा रहा हैं. लोग रेसिंग चैंपियन को खरीद कर उससे बच्चे पैदा करवा लेते हैं, बाद में जिन्हें बहुत ही महंगे दाम पर बेचा जाता हैं. जिस संस्था द्वारा यह कबूतर नीलाम हुआ है उसका नाम पीपा बताया जा रहा है और उसके सीईओ निकोलास ने मीडिया से बातचीत करते हुए कहा की, "ये रिकॉर्ड कीमत अविश्वसनीय है. क्योंकि ये एक मादा कबूतर है. अक्सर, नर कबूतर की कीमत अधिक होती है, क्योंकि वो ज्यादा बच्चे पैदा कर सकता है."
 

इस ख़ास वजह से 14 करोड़ में नीलाम हुआ यह कबूतर

कहते हैं की, शौंक का कोई मूल्य नहीं होता, यह किसी भी चीज को अमूल्य बना देता है. अभी कुछ दिन पहले ही एक रेसिंग कबूतर को दुनिया का सबसे महंगा कबूतर होने का खिताब हासिल हो गया हैं. इस कबूतर का नाम किम बताया जा रहा है और यह एक मादा कबूतर है. ऑनलाइन हुई इस कबूतर की शुरूआती कीमत महज़ 237 डॉलर से शुरू हुई थी, जो बढ़ते हुए लगभग 19 लाख डॉलर पर जा पहुंची. इस ख़ास वजह से 14 करोड़ में नीलाम हुआ यह कबूतर भारतीय रूपए में अगर इसे समझे तो इस कबूतर की कीमत लगभग 14 करोड़ रूपए बनती हैं. इससे पहले यह रिकॉर्ड पिछले साल नर आर्मंडो कबूतर के पास था, जिसे एक व्यक्ति ने लगभग 12 लाख 50 डॉलर में खरीदा था. आपको बता दें की अरमांडो नाम के रेसिंग चैंपियन कबूतर को कबूतरों का लुईस हैमिल्टन कह कर पुकारा जाता था. 2019 में जब यह कबूतर रिटायर हुआ तो इसे नीलामी में बेच दिया गया. लेकिन हैरानी की बात यह है की सबसे महंगे कबूतर होने का खिताब यह 1 साल भी मुश्किल से अपने पास रख पाया और इसका रिकॉर्ड तोड़ते हुए न्यू किम ने आर्मंडो को भी पीछे छोड़ दिया और एक नया विश्व रिकॉर्ड बना लिया. बताया जा रहा है की किम को पालने वाले मालिक कुर्त वाउवर और उनके परिवार को जब पता चला की उनका कबूतर इतना महंगा बिका है तो वह बहुत ज्यादा हैरान हो गए. दरअसल चीन में कबूतरों की रेसिंग बहुत ही लोकप्रिय खेल बनता जा रहा हैं. लोग रेसिंग चैंपियन को खरीद कर उससे बच्चे पैदा करवा लेते हैं, बाद में जिन्हें बहुत ही महंगे दाम पर बेचा जाता हैं. इस ख़ास वजह से 14 करोड़ में नीलाम हुआ यह कबूतर जिस संस्था द्वारा यह कबूतर नीलाम हुआ है उसका नाम पीपा बताया जा रहा है और उसके सीईओ निकोलास ने मीडिया से बातचीत करते हुए कहा की, "ये रिकॉर्ड कीमत अविश्वसनीय है. क्योंकि ये एक मादा कबूतर है. अक्सर, नर कबूतर की कीमत अधिक होती है, क्योंकि वो ज्यादा बच्चे पैदा कर सकता है."