किसान बिल को लेकर बोले मोदी, झूठ फैलाना कुछ लोगों का पेशा

देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी के दौरे पर गए हुए हैं. उन्होंने राष्ट्रीय राजमार्ग 19 का भी उद्घाटन किया, जो 2 प्राचीन राजमार्गों को आपस में जोड़ता हैं. इसके साथ ही उन्होंने 6 लेन हाईवे का भी उद्घाटन किया. उनके इस दौरे से ठीक पहले वाराणसी में सुरक्षा के कड़े मापदंड बनाये गए और घाटों की भी पूरी तरह से सफाई की गयी. अपने वाराणसी दौरे पर गए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा की, "हमने वादा किया था कि स्वामीनाथन आयोग की सिफारिश के अनुकूल लागत का डेढ़ गुना MSP देंगे. ये वादा सिर्फ कागज़ों पर ही पूरा नहीं किया गया, बल्कि किसानों के बैंक खाते तक पहुंचाया है. मुझे ऐहसास है कि दशकों का छलावा किसानों को आशंकित करता है. लेकिन अब छल से नहीं गंगाजल जैसी पवित्र नीयत के साथ काम किया जा रहा है." नरेंद्र मोदी ने कहा की अगर हमारा मकसद मंडियों और MSP हटाने का होता तो हम किसानों की MSP दर में वृद्धि ही क्यों करते. हम किसानों के बैंक खातों में 6000 रूपए सालाना क्यों डालते. नरेंद्र मोदी ने कहा की 2014 के बाद से हमने देश भर में मंडियों के आधुनिकरण पर करोड़ों रूपए खर्च किये हैं, अगर मंडिया ख़त्म करनी होती तो इस आधुनिकरण की क्या जरूरत थी? नरेंद्र मोदी ने कहा की किसानों के बैंकों में जब हमने 6000 सालाना डालना शुरू किया तो कुछ लोगों ने अफवाह उड़ाई की यह पैसा लोन हैं जो की 2019 लोकसभा चुनावों के बाद बीजेपी ब्याज समेत वापिस लेगी. लेकिन आप बताएं हम तो आज भी किसानों के खातों में 6000 रूपए सालाना डाल रहें हैं. हमने तो किसी से कोई पैसा वापिस नहीं लिया, इसलिए किसानों पर राजनीति करने वाले कुछ लोगों का काम केवल बिना आधार के झूठ फैलाना ही हैं. नरेंद्र मोदी ने कहा की कुछ पार्टियों ने अपने निजी फायदे के लिए किसानों के मन में भ्रम पैदा कर दिया हैं. यह भ्रम तोड़ने के लिए केंद्र सरकार भरपूर प्रयास भी कर रही हैं, फिर भी मैं कहना चाहता हूँ की जिन बिलों का आप किसी ग़लतफहमी में आकर विरोध कर रहें हैं, उन्हीं बिलों के माध्यम से भविष्य में किसान इसका भरपूर फायदा उठाएंगे.
 

किसान बिल को लेकर बोले मोदी, झूठ फैलाना कुछ लोगों का पेशा

देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी के दौरे पर गए हुए हैं. उन्होंने राष्ट्रीय राजमार्ग 19 का भी उद्घाटन किया, जो 2 प्राचीन राजमार्गों को आपस में जोड़ता हैं. इसके साथ ही उन्होंने 6 लेन हाईवे का भी उद्घाटन किया. उनके इस दौरे से ठीक पहले वाराणसी में सुरक्षा के कड़े मापदंड बनाये गए और घाटों की भी पूरी तरह से सफाई की गयी. किसान बिल को लेकर बोले मोदी, झूठ फैलाना कुछ लोगों का पेशा अपने वाराणसी दौरे पर गए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा की, "हमने वादा किया था कि स्वामीनाथन आयोग की सिफारिश के अनुकूल लागत का डेढ़ गुना MSP देंगे. ये वादा सिर्फ कागज़ों पर ही पूरा नहीं किया गया, बल्कि किसानों के बैंक खाते तक पहुंचाया है. मुझे ऐहसास है कि दशकों का छलावा किसानों को आशंकित करता है. लेकिन अब छल से नहीं गंगाजल जैसी पवित्र नीयत के साथ काम किया जा रहा है." नरेंद्र मोदी ने कहा की अगर हमारा मकसद मंडियों और MSP हटाने का होता तो हम किसानों की MSP दर में वृद्धि ही क्यों करते. हम किसानों के बैंक खातों में 6000 रूपए सालाना क्यों डालते. नरेंद्र मोदी ने कहा की 2014 के बाद से हमने देश भर में मंडियों के आधुनिकरण पर करोड़ों रूपए खर्च किये हैं, अगर मंडिया ख़त्म करनी होती तो इस आधुनिकरण की क्या जरूरत थी? नरेंद्र मोदी ने कहा की किसानों के बैंकों में जब हमने 6000 सालाना डालना शुरू किया तो कुछ लोगों ने अफवाह उड़ाई की यह पैसा लोन हैं जो की 2019 लोकसभा चुनावों के बाद बीजेपी ब्याज समेत वापिस लेगी. लेकिन आप बताएं हम तो आज भी किसानों के खातों में 6000 रूपए सालाना डाल रहें हैं. हमने तो किसी से कोई पैसा वापिस नहीं लिया, इसलिए किसानों पर राजनीति करने वाले कुछ लोगों का काम केवल बिना आधार के झूठ फैलाना ही हैं. नरेंद्र मोदी ने कहा की कुछ पार्टियों ने अपने निजी फायदे के लिए किसानों के मन में भ्रम पैदा कर दिया हैं. यह भ्रम तोड़ने के लिए केंद्र सरकार भरपूर प्रयास भी कर रही हैं, फिर भी मैं कहना चाहता हूँ की जिन बिलों का आप किसी ग़लतफहमी में आकर विरोध कर रहें हैं, उन्हीं बिलों के माध्यम से भविष्य में किसान इसका भरपूर फायदा उठाएंगे.