इसलिए अली अब्बास जफ़र के माफ़ी मांगने के बाद भी लोग कर रहे गिरफ्तारी की मांग

भारतीय फिल्म जगत का नाम आते ही बॉलीवुड का नाम सबसे पहले दिमाग में आता हैं, लेकिन बॉलीवुड है की यह भारतीय लोगों की भावनाओं को आहत पहुँचाने के बिना काम ही नहीं करता. फिल्म को हिट करवाने का सबसे सस्ता तरीका इन्होने निकाला हुआ है की हिन्दुवों की भावनाओ को आहत कर दो. भगवानों के ऊपर या फिर हिन्दू राजाओं के इतिहास के साथी छेड़छाड़ करो फिर फिल्म या वेब सीरीज (Webseries) का विवाद होगा, विवाद यानी चर्चा और इस विवाद की वजह से फिल्म या वेब सीरीज को प्रमोट करने का खर्च ही बच जाएगा. लेकिन सस्ती लोकप्रियता के चक्कर में बॉलीवुड वाले एक के बाद एक ऐसे काम कर रहें हैं की अब लोगों के बर्दाश्त के बाहर हो चला हैं. यही कारण हैं की अब तांडव (Tandav) नाम की वेब सीरीज के विवाद में आने के बाद फिल्म के डायरेक्टर से लेकर एक्टर्स तक माफ़ी मांग चुके हैं. इसके बावजूद लोग अब इनकी गिरफ्तारी की मांग कर रहें हैं, यह भी अच्छा है की मामला हिन्दू धर्म से जुड़ा है इसलिए गिरफ्तारी की मांग कर रहें हैं, अगर मुस्लिम धर्म से जुड़ा होता तो अब तक फ्रांस के अध्यापक के साथ बैठकर जन्नत में इस मसले पर बातचीत कर रहे होते. खैर मामला तूल पकड़ चूका है और इसके खिलाफ उत्तर प्रदेश पुलिस (Uttra Pradesh Police) के पास एफआईआर भी दर्ज़ हो चुकी हैं. पहले ऐसी एफआईआर महज़ कागज़ो तक सिमित रह जाती थी लेकिन योगी पुलिस (Yogi Police) ने इस बार इस एफआईआर के साथ ही मुंबई में अपने 4 पुलिस कर्मियों को इनसे पूछताछ के लिए भेज दिया हैं. [embed]https://twitter.com/kamalranivarun/status/1351469611544268802[/embed] पहले इस विवाद का मज़ाक उड़ाने वाले यह अदाकार योगी पुलिस वाली खबर सुनते ही बिना शर्त माफ़ी मांगते हुए नज़र आये. लेकिन विवाद रुकता हुआ नज़र नहीं आ रहा, क्योंकि लोगों ने ट्विटर पर हैशटैग चलाते हुए #सॉरी_नहीं_गिरफ्तारी का अपना रुख साफ़ कर दिया हैं. लेकिन ऐसा भी नहीं है की उत्तर प्रदेश पुलिस आसानी से इनको गिरफ्तार कर सकती हैं, क्योंकि मामला दूसरे राज्य का है इसलिए उन्हें कोर्ट से आर्डर चाहिए होंगे. अभी फिलहाल पुलिस इनसे पूछताछ करेगी फिर देखेगी की केस आगे बढ़ाना हैं या नहीं.
 

इसलिए अली अब्बास जफ़र के माफ़ी मांगने के बाद भी लोग कर रहे गिरफ्तारी की मांग

भारतीय फिल्म जगत का नाम आते ही बॉलीवुड का नाम सबसे पहले दिमाग में आता हैं, लेकिन बॉलीवुड है की यह भारतीय लोगों की भावनाओं को आहत पहुँचाने के बिना काम ही नहीं करता. फिल्म को हिट करवाने का सबसे सस्ता तरीका इन्होने निकाला हुआ है की हिन्दुवों की भावनाओ को आहत कर दो. इसलिए अली अब्बास जफ़र के माफ़ी मांगने के बाद भी लोग कर रहे गिरफ्तारी की मांग भगवानों के ऊपर या फिर हिन्दू राजाओं के इतिहास के साथी छेड़छाड़ करो फिर फिल्म या वेब सीरीज (Webseries) का विवाद होगा, विवाद यानी चर्चा और इस विवाद की वजह से फिल्म या वेब सीरीज को प्रमोट करने का खर्च ही बच जाएगा. लेकिन सस्ती लोकप्रियता के चक्कर में बॉलीवुड वाले एक के बाद एक ऐसे काम कर रहें हैं की अब लोगों के बर्दाश्त के बाहर हो चला हैं. यही कारण हैं की अब तांडव (Tandav) नाम की वेब सीरीज के विवाद में आने के बाद फिल्म के डायरेक्टर से लेकर एक्टर्स तक माफ़ी मांग चुके हैं. इसके बावजूद लोग अब इनकी गिरफ्तारी की मांग कर रहें हैं, यह भी अच्छा है की मामला हिन्दू धर्म से जुड़ा है इसलिए गिरफ्तारी की मांग कर रहें हैं, अगर मुस्लिम धर्म से जुड़ा होता तो अब तक फ्रांस के अध्यापक के साथ बैठकर जन्नत में इस मसले पर बातचीत कर रहे होते. खैर मामला तूल पकड़ चूका है और इसके खिलाफ उत्तर प्रदेश पुलिस (Uttra Pradesh Police) के पास एफआईआर भी दर्ज़ हो चुकी हैं. पहले ऐसी एफआईआर महज़ कागज़ो तक सिमित रह जाती थी लेकिन योगी पुलिस (Yogi Police) ने इस बार इस एफआईआर के साथ ही मुंबई में अपने 4 पुलिस कर्मियों को इनसे पूछताछ के लिए भेज दिया हैं. [embed]https://twitter.com/kamalranivarun/status/1351469611544268802[/embed] पहले इस विवाद का मज़ाक उड़ाने वाले यह अदाकार योगी पुलिस वाली खबर सुनते ही बिना शर्त माफ़ी मांगते हुए नज़र आये. लेकिन विवाद रुकता हुआ नज़र नहीं आ रहा, क्योंकि लोगों ने ट्विटर पर हैशटैग चलाते हुए #सॉरी_नहीं_गिरफ्तारी का अपना रुख साफ़ कर दिया हैं. लेकिन ऐसा भी नहीं है की उत्तर प्रदेश पुलिस आसानी से इनको गिरफ्तार कर सकती हैं, क्योंकि मामला दूसरे राज्य का है इसलिए उन्हें कोर्ट से आर्डर चाहिए होंगे. अभी फिलहाल पुलिस इनसे पूछताछ करेगी फिर देखेगी की केस आगे बढ़ाना हैं या नहीं.