अमेरिका में चल रहे दंगों के बीच ट्विटर ने ट्रम्प पर की यह बड़ी कार्यवाही

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प शुरू से ही अमेरिका में हुए चुनावों को लेकर कहते आये हैं की इसमें धांधली हुई हैं. अमेरिकी युवाओं को राष्ट्रवादी और आतंकी देशों के बारे में खुलकर बोलने वाले डोनाल्ड ट्रम्प के समर्थक चाहते हैं की अमेरिका में दुबारा चुनाव हों. यही कारण है की आज अमेरिका दंगों की चपेट में आ चूका हैं, डोनाल्ड ट्रम्प के समर्थक और जो बाइडेन के समर्थक एक दूसरे के साथ भीड़ रहें हैं. दरअसल आज चुनावी नतीजों पर समीक्षा करने के लिए डोनाल्ड ट्रम्प ने व्हाइट हाउस और कैपिटल भवन में एक बैठक बुलाई थी. इस बैठक के दौरान डोनाल्ड ट्रम्प के समर्थकों ने व्हाइट हाउस और कैपिटल भवन को घेरना शुरू कर दिया. इस दौरान डोनाल्ड ट्रम्प के समर्थकों और पुलिस के बीच झड़प भी हुई और दोनों और से हुई फायरिंग में एक महिला घायल हो गयी और हॉस्पिटल में इलाज़ के दौरान उसने अपना दम तोड़ दिया. इन दंगो के बीच वाशिंगटन डीसी में कर्फ्यू लगा दिया गया हैं और अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प अभी भी चुनावों में धांधली का आरोप लगा रहें हैं जिस वजह से ट्विटर ने उनपर कार्यवाही करते हुए 12 घंटे का बैन लगा दिया हैं. #WATCH | I call on President Trump to go on national television now to fulfil his oath and defend the Constitution and demand an end to this siege: US President-Elect Joe Biden on US Capitol mob violence pic.twitter.com/CEaChwBsdd — ANI (@ANI) January 6, 2021 इस मामले में जो बाइडेन ने बयान देते हुए कहा है की, "मैं राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप से आह्वान करता हूँ कि वह शपथ पूरी करें, संविधान की रक्षा करें और इस घेराव को बंद ख़त्म करने की माँग उठाएँ. कैपिटल भवन पर जिस तरह का हंगामा हुआ है हम असल में वैसे नहीं हैं. यह क़ानून का पालन नहीं करने वालों की छोटी संख्या है. इस तरह की घटना राजद्रोह है." Distressed to see news about rioting and violence in Washington DC. Orderly and peaceful transfer of power must continue. The democratic process cannot be allowed to be subverted through unlawful protests. — Narendra Modi (@narendramodi) January 7, 2021 जो बाइडेन के इलावा भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने भी बयान देते हुए कहा है की, "वाशिंगटन में हुई दंगों और हिंसा की घटनाओं से निराश हूँ. सत्ता का स्थानान्तरण आदेशानुसार और शांतिपूर्ण तरीके से होना चाहिए. संवैधानिक प्रक्रिया को इस तरह के असंवैधानिक प्रदर्शन से तबाह नहीं किया जा सकता है." Facebook removes US President Donald Trump's video addressing his supporters during violence at US Capitol "We removed it because on balance we believe it contributes to rather than diminishes the risk of ongoing violence," tweets Facebook Vice President of Integrity, Guy Rosen https://t.co/fdCneDzNwq — ANI (@ANI) January 6, 2021 ट्रम्प ने भी अपने ट्वीट में अपने समर्थकों को सन्देश देते हुए कहा है की, "प्रदर्शन के बीच हिंसा नहीं होनी चाहिए, याद रखें हम एक क़ानून और व्यवस्था की पार्टी हैं." लेकिन ट्विटर ने उन्हें इस ट्वीट के बाद 12 घंटे के लिए बैन लगा दिया. जिससे अमेरिका के हालात उनके द्वारा फैलाई जा रही जानकारी के आधार पर और न बिगड़े.
 

अमेरिका में चल रहे दंगों के बीच ट्विटर ने ट्रम्प पर की यह बड़ी कार्यवाही

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प शुरू से ही अमेरिका में हुए चुनावों को लेकर कहते आये हैं की इसमें धांधली हुई हैं. अमेरिकी युवाओं को राष्ट्रवादी और आतंकी देशों के बारे में खुलकर बोलने वाले डोनाल्ड ट्रम्प के समर्थक चाहते हैं की अमेरिका में दुबारा चुनाव हों. अमेरिका में चल रहे दंगों के बीच ट्विटर ने ट्रम्प पर की यह बड़ी कार्यवाही यही कारण है की आज अमेरिका दंगों की चपेट में आ चूका हैं, डोनाल्ड ट्रम्प के समर्थक और जो बाइडेन के समर्थक एक दूसरे के साथ भीड़ रहें हैं. दरअसल आज चुनावी नतीजों पर समीक्षा करने के लिए डोनाल्ड ट्रम्प ने व्हाइट हाउस और कैपिटल भवन में एक बैठक बुलाई थी. इस बैठक के दौरान डोनाल्ड ट्रम्प के समर्थकों ने व्हाइट हाउस और कैपिटल भवन को घेरना शुरू कर दिया. इस दौरान डोनाल्ड ट्रम्प के समर्थकों और पुलिस के बीच झड़प भी हुई और दोनों और से हुई फायरिंग में एक महिला घायल हो गयी और हॉस्पिटल में इलाज़ के दौरान उसने अपना दम तोड़ दिया. इन दंगो के बीच वाशिंगटन डीसी में कर्फ्यू लगा दिया गया हैं और अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प अभी भी चुनावों में धांधली का आरोप लगा रहें हैं जिस वजह से ट्विटर ने उनपर कार्यवाही करते हुए 12 घंटे का बैन लगा दिया हैं. इस मामले में जो बाइडेन ने बयान देते हुए कहा है की, "मैं राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप से आह्वान करता हूँ कि वह शपथ पूरी करें, संविधान की रक्षा करें और इस घेराव को बंद ख़त्म करने की माँग उठाएँ. कैपिटल भवन पर जिस तरह का हंगामा हुआ है हम असल में वैसे नहीं हैं. यह क़ानून का पालन नहीं करने वालों की छोटी संख्या है. इस तरह की घटना राजद्रोह है." जो बाइडेन के इलावा भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी ने भी बयान देते हुए कहा है की, "वाशिंगटन में हुई दंगों और हिंसा की घटनाओं से निराश हूँ. सत्ता का स्थानान्तरण आदेशानुसार और शांतिपूर्ण तरीके से होना चाहिए. संवैधानिक प्रक्रिया को इस तरह के असंवैधानिक प्रदर्शन से तबाह नहीं किया जा सकता है." ट्रम्प ने भी अपने ट्वीट में अपने समर्थकों को सन्देश देते हुए कहा है की, "प्रदर्शन के बीच हिंसा नहीं होनी चाहिए, याद रखें हम एक क़ानून और व्यवस्था की पार्टी हैं." लेकिन ट्विटर ने उन्हें इस ट्वीट के बाद 12 घंटे के लिए बैन लगा दिया. जिससे अमेरिका के हालात उनके द्वारा फैलाई जा रही जानकारी के आधार पर और न बिगड़े.