लोगों के बाद योगराज सिंह के पुत्र ने भी जताया अपने पिता के भाषण पर ऐतराज़

युवराज सिंह ने अपने 39वें जन्मदिन पर एक पोस्ट लिखते हुए किसानों के समर्थन में अपनी बात रखी. जून 2019 में क्रिकेट से संन्यास लेने के बाद युवराज सिंह से ज्यादा उनके पिता सुर्ख़ियों का हिस्सा बनते नज़र आये हैं. उनके पिता द्वारा किसान आंदोलन में दिए भड़काऊ बयान की वजह से लोग काफी नाराज़ हुए और युवराज सिंह ने भी बयान देते हुए अपनी पिता के बयान पर आप्पति जताई. अपने पिता द्वारा दिए गए बयान को लेकर वह लिखते हैं की, "मैं स्पष्ट करना चाहता हूँ कि मेरे पिता योगराज सिंह द्वारा की गई टिप्पणी एक व्यक्तिगत क्षमता में की गई है. मेरी विचारधारा किसी भी तरीके से उनकी सोच से सहमत नहीं है." उन्होंने लोगों की अच्छी सेहत की प्राथना करते हुए याद दिलाया की महामारी का कहर अभी खत्म नहीं हुआ ऊपर से ठंड और बारिश में अपना ध्यान रखें. उन्होंने एक पत्र को साझा करते हुए उसमें लिखा है की, "एक भारतीय होने के नाते मैं अपने पिता योगराज सिंह द्वारा दिए गए बयान से बेहद आहत और दुखी हूं. मैं यहां ये साफ करना चाहता हूं कि ये उनका खुद का बयान है. मेरी विचारधारा उस तरह की नहीं है. लोग जन्मदिन पर अपनी इच्छा पूरी करते हैं. लेकिन मैं इस मैं इस बार जन्मदिन मनाने के बदले ये उम्मीद करता हूं कि सरकार और किसानों के बीच बातचीत के बाद ये आंदोलन खत्म हो." वह अपने इस पत्र में आगे लिखते हैं की, "किसान हमारे देश की जीवन को चलाते हैं. मुझे पूरा विश्वास है कि ऐसी कोई समस्या नहीं है जो शांतिपूर्ण बातचीत से सुलझाई न जा सके." आपको बता दें इससे पहले योगराज सिंह भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी को लेकर भी विवादित बयान दिया था, जिसके बाद युवराज सिंह सफाई पेश करते हुए नज़र आये थे. योगराज सिंह की बात करें तो वह फिल्म ‘द कश्मीरी फाइल्स’ में भी रोल दिया गया था. यह फिल्म 'विवेक अग्निहोत्री' के द्वारा बनाई जा रही हैं, योगराज सिंह के बयान के बाद 'विवेक अग्निहोत्री' ने उनके साथ फिल्म से जुड़ा करार ख़त्म करते हुए उन्हें फिल्म से बाहर निकाल दिया और अब बेटे ने भी खुद को उनके बयानों से अलग कर लिया हैं.
 

लोगों के बाद योगराज सिंह के पुत्र ने भी जताया अपने पिता के भाषण पर ऐतराज़

युवराज सिंह ने अपने 39वें जन्मदिन पर एक पोस्ट लिखते हुए किसानों के समर्थन में अपनी बात रखी. जून 2019 में क्रिकेट से संन्यास लेने के बाद युवराज सिंह से ज्यादा उनके पिता सुर्ख़ियों का हिस्सा बनते नज़र आये हैं. उनके पिता द्वारा किसान आंदोलन में दिए भड़काऊ बयान की वजह से लोग काफी नाराज़ हुए और युवराज सिंह ने भी बयान देते हुए अपनी पिता के बयान पर आप्पति जताई. लोगों के बाद योगराज सिंह के पुत्र ने भी जताया अपने पिता के भाषण पर ऐतराज़ अपने पिता द्वारा दिए गए बयान को लेकर वह लिखते हैं की, "मैं स्पष्ट करना चाहता हूँ कि मेरे पिता योगराज सिंह द्वारा की गई टिप्पणी एक व्यक्तिगत क्षमता में की गई है. मेरी विचारधारा किसी भी तरीके से उनकी सोच से सहमत नहीं है." उन्होंने लोगों की अच्छी सेहत की प्राथना करते हुए याद दिलाया की महामारी का कहर अभी खत्म नहीं हुआ ऊपर से ठंड और बारिश में अपना ध्यान रखें. उन्होंने एक पत्र को साझा करते हुए उसमें लिखा है की, "एक भारतीय होने के नाते मैं अपने पिता योगराज सिंह द्वारा दिए गए बयान से बेहद आहत और दुखी हूं. मैं यहां ये साफ करना चाहता हूं कि ये उनका खुद का बयान है. मेरी विचारधारा उस तरह की नहीं है. लोग जन्मदिन पर अपनी इच्छा पूरी करते हैं. लेकिन मैं इस मैं इस बार जन्मदिन मनाने के बदले ये उम्मीद करता हूं कि सरकार और किसानों के बीच बातचीत के बाद ये आंदोलन खत्म हो." वह अपने इस पत्र में आगे लिखते हैं की, "किसान हमारे देश की जीवन को चलाते हैं. मुझे पूरा विश्वास है कि ऐसी कोई समस्या नहीं है जो शांतिपूर्ण बातचीत से सुलझाई न जा सके." आपको बता दें इससे पहले योगराज सिंह भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी को लेकर भी विवादित बयान दिया था, जिसके बाद युवराज सिंह सफाई पेश करते हुए नज़र आये थे. लोगों के बाद योगराज सिंह के पुत्र ने भी जताया अपने पिता के भाषण पर ऐतराज़ योगराज सिंह की बात करें तो वह फिल्म ‘द कश्मीरी फाइल्स’ में भी रोल दिया गया था. यह फिल्म 'विवेक अग्निहोत्री' के द्वारा बनाई जा रही हैं, योगराज सिंह के बयान के बाद 'विवेक अग्निहोत्री' ने उनके साथ फिल्म से जुड़ा करार ख़त्म करते हुए उन्हें फिल्म से बाहर निकाल दिया और अब बेटे ने भी खुद को उनके बयानों से अलग कर लिया हैं.