विश्व की सबसे ताकतवर एयर फ़ोर्स, जो पूरी दुनिया को अकेले ही मिट्टी में मिला सकती हैं- रूस को भी कर सकती है..

dangerous Air force: दुनिया के सभी देश इस समय अपनी सैन्य ताकत को बढ़ाने में लगे हुए हैं. हर कोई चाहता है कि उसकी सेना सबसे ताकतवर हो जाए ताकि आने वाले समय में अगर जरूरत पड़े तो उसकी सेना अकेले ही विश्व को अकेले टक्कर देती हुई नजर आए. किसी भी देश की सबसे बड़ी ताकत उसकी वायु सेना होती है. वायु सेना जितनी ताकतवर होगी तो वह देश उतना ही अधिक ताकतवर बनता जाएगा. आपको बता दें कि यही कारण है कि भारत भी लगातार अपनी वायु सेना बढ़ाने में लगा हुआ है. dangerous Air force वायु सेना पूरे विश्व को ही अकेले मिट्टी में मिलाने का दम रखती लेकिन वायु सेना में बस सैनिक हो जाने से ही कभी भी एयर फाॅर्स ताकतवर नहीं बनती है. कोई भी एयरपोर्ट ताकतवर तभी बनेगी जब उसके पास शक्तिशाली हवाई जहाज और शक्तिशाली मिसाइल हों. तो आइए आज हम आपको उस देश के बारे में बताते हैं जिसके पास इस दुनिया की सबसे शक्तिशाली वायु सेना है और यह वायु सेना पूरे विश्व को ही अकेले मिट्टी में मिलाने का दम रखती है. अमेरिका के पास है सबसे शक्तिशाली वायुसेना dangerous Air force जानकर हैरानी होगी पूरी दुनिया में अमेरिका की वायु सेना के पास सबसे ज्यादा फाइटर प्लेन मौजूद हैं. ऐसा बोला जाता है कि अमेरिका की वायुसेना के पास जितने विमान है उतनी पूरी दुनिया की वायु सेना के पास नहीं हैं. जी हां आप सही सोच रहे हैं कि अमेरिका अपने पास इतने सारे वायु विमान रखता है कि वह एक ही बार में विश्व के किसी भी कोने में लगभग सभी देशों के ऊपर हमला कर सकता है. अमेरिका के पास वायुसेना में 5638 विमान है जबकि इनमें से 3680 लड़ाकू विमान है और कुल सैनिकों की संख्या 332,854 हैं. अमेरिकी फाइटर प्लेन इतने शक्तिशाली है कि वह मिनटों में ही हज़ारों मीलों की दूरी तय कर लेते हैं और अपने साथ परमाणु हथियार भी लेकर सफर कर सकते हैं. अमरीकन फाइटर तेल भी हवा में भरते है घंटों तक अमेरिका के फाइटर प्लेन हवा में हमला करते रहते हैं और इनको बार-बार तेल भरने के लिए जमीन पर उतरने की भी जरूरत नहीं पड़ती है. तेल भरने के बाद यह मिनट भर में ही उड़ान भरने के लिए भी तैयार हो जाते हैं. इन फाइटर प्लेन में इतने खतरनाक हथियार होते हैं कि आप कल्पना नहीं कर सकते हैं कि यह एक बहुत बड़े शहर को कुछ ही सेकंड में तबाह कर सकते हैं. दुर्घटनाग्रस्त के बाद पायलट जिंदा बच जाता है सबसे अच्छी बात है कि यह पायलट की सुरक्षा के नजरिए से भी काफी सुरक्षित होते हैं. किसी हादसे में प्लेन बेशक बेशक दुर्घटनाग्रस्त हो सकता है लेकिन पायलट इससे जिंदा बच जाते हैं. अमेरिकन एयरफोर्स के पास सबसे ज्यादा 2 हजार से ज्यादा क्रूज मिसाइल और 450 से ज्यादा बैलेस्टिक मिसाइलें हैं. और पढ़े: चीन ने डोकलाम के बाद 3 बार लद्दाख में की घुसपैठ, पैंगोंग झील में 6 किमी तक अंदर घुसे चीनी सैनिक.. Follow @Indiavirals ? ------
 

विश्व की सबसे ताकतवर एयर फ़ोर्स, जो पूरी दुनिया को अकेले ही मिट्टी में मिला सकती हैं- रूस को भी कर सकती है..

dangerous Air force: दुनिया के सभी देश इस समय अपनी सैन्य ताकत को बढ़ाने में लगे हुए हैं. हर कोई चाहता है कि उसकी सेना सबसे ताकतवर हो जाए ताकि आने वाले समय में अगर जरूरत पड़े तो उसकी सेना अकेले ही विश्व को अकेले टक्कर देती हुई नजर आए. किसी भी देश की सबसे बड़ी ताकत उसकी वायु सेना होती है. वायु सेना जितनी ताकतवर होगी तो वह देश उतना ही अधिक ताकतवर बनता जाएगा. आपको बता दें कि यही कारण है कि भारत भी लगातार अपनी वायु सेना बढ़ाने में लगा हुआ है. विश्व की सबसे ताकतवर एयर फ़ोर्स, जो पूरी दुनिया को अकेले ही मिट्टी में मिला सकती हैं- रूस को भी कर सकती है..

dangerous Air force

वायु सेना पूरे विश्व को ही अकेले मिट्टी में मिलाने का दम रखती

लेकिन वायु सेना में बस सैनिक हो जाने से ही कभी भी एयर फाॅर्स ताकतवर नहीं बनती है. कोई भी एयरपोर्ट ताकतवर तभी बनेगी जब उसके पास शक्तिशाली हवाई जहाज और शक्तिशाली मिसाइल हों. तो आइए आज हम आपको उस देश के बारे में बताते हैं जिसके पास इस दुनिया की सबसे शक्तिशाली वायु सेना है और यह वायु सेना पूरे विश्व को ही अकेले मिट्टी में मिलाने का दम रखती है. विश्व की सबसे ताकतवर एयर फ़ोर्स, जो पूरी दुनिया को अकेले ही मिट्टी में मिला सकती हैं- रूस को भी कर सकती है..

अमेरिका के पास है सबसे शक्तिशाली वायुसेना

dangerous Air force
जानकर हैरानी होगी पूरी दुनिया में अमेरिका की वायु सेना के पास सबसे ज्यादा फाइटर प्लेन मौजूद हैं. ऐसा बोला जाता है कि अमेरिका की वायुसेना के पास जितने विमान है उतनी पूरी दुनिया की वायु सेना के पास नहीं हैं. जी हां आप सही सोच रहे हैं कि अमेरिका अपने पास इतने सारे वायु विमान रखता है कि वह एक ही बार में विश्व के किसी भी कोने में लगभग सभी देशों के ऊपर हमला कर सकता है. विश्व की सबसे ताकतवर एयर फ़ोर्स, जो पूरी दुनिया को अकेले ही मिट्टी में मिला सकती हैं- रूस को भी कर सकती है.. अमेरिका के पास वायुसेना में 5638 विमान है जबकि इनमें से 3680 लड़ाकू विमान है और कुल सैनिकों की संख्या 332,854 हैं. अमेरिकी फाइटर प्लेन इतने शक्तिशाली है कि वह मिनटों में ही हज़ारों मीलों की दूरी तय कर लेते हैं और अपने साथ परमाणु हथियार भी लेकर सफर कर सकते हैं. विश्व की सबसे ताकतवर एयर फ़ोर्स, जो पूरी दुनिया को अकेले ही मिट्टी में मिला सकती हैं- रूस को भी कर सकती है..

अमरीकन फाइटर तेल भी हवा में भरते है

घंटों तक अमेरिका के फाइटर प्लेन हवा में हमला करते रहते हैं और इनको बार-बार तेल भरने के लिए जमीन पर उतरने की भी जरूरत नहीं पड़ती है. तेल भरने के बाद यह मिनट भर में ही उड़ान भरने के लिए भी तैयार हो जाते हैं. इन फाइटर प्लेन में इतने खतरनाक हथियार होते हैं कि आप कल्पना नहीं कर सकते हैं कि यह एक बहुत बड़े शहर को कुछ ही सेकंड में तबाह कर सकते हैं. विश्व की सबसे ताकतवर एयर फ़ोर्स, जो पूरी दुनिया को अकेले ही मिट्टी में मिला सकती हैं- रूस को भी कर सकती है..

दुर्घटनाग्रस्त के बाद पायलट जिंदा बच जाता है

सबसे अच्छी बात है कि यह पायलट की सुरक्षा के नजरिए से भी काफी सुरक्षित होते हैं. किसी हादसे में प्लेन बेशक बेशक दुर्घटनाग्रस्त हो सकता है लेकिन पायलट इससे जिंदा बच जाते हैं. अमेरिकन एयरफोर्स के पास सबसे ज्‍यादा 2 हजार से ज्‍यादा क्रूज मिसाइल और 450 से ज्‍यादा बैलेस्‍टिक मिसाइलें हैं. और पढ़े: चीन ने डोकलाम के बाद 3 बार लद्दाख में की घुसपैठ, पैंगोंग झील में 6 किमी तक अंदर घुसे चीनी सैनिक..

------