10,000 विधवाओं ने PM नरेंद्र मोदी को लिखा खत, जानिए क्या है वजह..

10000 single women write prime minister: पश्चिम बंगाल, हिमाचल प्रदेश, तेलंगाना, गुजरात, राजस्थान, झारखंड और punjab की लगभग 10,000 महिलाओं ने Sunday को अंतर्राष्ट्रीय विधवा दिवस के मौके पर PM नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर अपनी समस्याएं बताईं। 10000 single women write prime minister राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा के तहत प्रति वर्ष 2009 में शुरू हुए एकल महिला अधिकारों के राष्ट्रीय मंच ने postcard अभियान शुरू किया है. अब काम करने में असमर्थ Prabhati Devi ने राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा के तहत प्रति व्यक्ति 5 Kilo अनाज से प्रति व्यक्ति 15 Kilo अनाज करने तथा 2,000 रुपये की न्यूनतम सामाजिक Pension देने का आग्रह किया है. एकल महिलाओं की जरूरतों को नजरंदाज कर दिया तेलंगाना की नेता वसंत ने अपने पत्र में PM मोदी से कहा, "युवाओं को कुशल करने की योजनाओं ने Desh में करोड़ों एकल महिलाओं की जरूरतों को नजरंदाज कर दिया है, जिनमें से कई तो लंबे समय तक वृद्धावस्था में काम करती रहती हैं." Forum की राष्ट्रीय संयोजक Nirmal Chandel ने कहा कि एकल महिलाओं ने पहले भी साबित किया है कि वे न Cable अपना जीवन बेहतर कर सकती हैं. सरकार को इस पर ध्यान देना चाहिए बल्कि समाज में भी सकारात्मक परिवर्तन कर सकती हैं, इसलिए सरकार को इस पर ध्यान देना चाहिए. अभियान की आयोजक Parul Chaudhary ने कहा कि PM को पत्र लिखने से सरकार इस मुद्दे की संवेदनशीलता को समझेगी. अंतर्राष्ट्रीय विधवा दिवस के मौके पर PM नरेंद्र मोदी पश्चिम बंगाल, हिमाचल प्रदेश, तेलंगाना, गुजरात, राजस्थान, झारखंड और punjab की लगभग 10,000 महिलाओं ने Sunday को अंतर्राष्ट्रीय विधवा दिवस के मौके पर PM नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर अपनी समस्याएं बताईं. 70 सालों मे मोदी ने वो कर दिखाया जो कांग्रेस ना कर पायी, हर जगह उत्साह का माहोल Follow @Indiavirals ? ------
 

10,000 विधवाओं ने PM नरेंद्र मोदी को लिखा खत, जानिए क्या है वजह..

10000 single women write prime minister: पश्चिम बंगाल, हिमाचल प्रदेश, तेलंगाना, गुजरात, राजस्थान, झारखंड और punjab की लगभग 10,000 महिलाओं ने Sunday को अंतर्राष्ट्रीय विधवा दिवस के मौके पर PM नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर अपनी समस्याएं बताईं। 10,000 विधवाओं ने PM नरेंद्र मोदी को लिखा खत, जानिए क्या है वजह..

10000 single women write prime minister

राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा के तहत प्रति

10,000 विधवाओं ने PM नरेंद्र मोदी को लिखा खत, जानिए क्या है वजह.. वर्ष 2009 में शुरू हुए एकल महिला अधिकारों के राष्ट्रीय मंच ने postcard अभियान शुरू किया है. अब काम करने में असमर्थ Prabhati Devi ने राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा के तहत प्रति व्यक्ति 5 Kilo अनाज से प्रति व्यक्ति 15 Kilo अनाज करने तथा 2,000 रुपये की न्यूनतम सामाजिक Pension देने का आग्रह किया है.

एकल महिलाओं की जरूरतों को नजरंदाज कर दिया

10,000 विधवाओं ने PM नरेंद्र मोदी को लिखा खत, जानिए क्या है वजह.. तेलंगाना की नेता वसंत ने अपने पत्र में PM मोदी से कहा, "युवाओं को कुशल करने की योजनाओं ने Desh में करोड़ों एकल महिलाओं की जरूरतों को नजरंदाज कर दिया है, जिनमें से कई तो लंबे समय तक वृद्धावस्था में काम करती रहती हैं." Forum की राष्ट्रीय संयोजक Nirmal Chandel ने कहा कि एकल महिलाओं ने पहले भी साबित किया है कि वे न Cable अपना जीवन बेहतर कर सकती हैं.

सरकार को इस पर ध्यान देना चाहिए

10,000 विधवाओं ने PM नरेंद्र मोदी को लिखा खत, जानिए क्या है वजह.. बल्कि समाज में भी सकारात्मक परिवर्तन कर सकती हैं, इसलिए सरकार को इस पर ध्यान देना चाहिए. अभियान की आयोजक Parul Chaudhary ने कहा कि PM को पत्र लिखने से सरकार इस मुद्दे की संवेदनशीलता को समझेगी.

अंतर्राष्ट्रीय विधवा दिवस के मौके पर PM नरेंद्र मोदी

10,000 विधवाओं ने PM नरेंद्र मोदी को लिखा खत, जानिए क्या है वजह.. पश्चिम बंगाल, हिमाचल प्रदेश, तेलंगाना, गुजरात, राजस्थान, झारखंड और punjab की लगभग 10,000 महिलाओं ने Sunday को अंतर्राष्ट्रीय विधवा दिवस के मौके पर PM नरेंद्र मोदी को पत्र लिखकर अपनी समस्याएं बताईं.  

10,000 विधवाओं ने PM नरेंद्र मोदी को लिखा खत, जानिए क्या है वजह..70 सालों मे मोदी ने वो कर दिखाया जो कांग्रेस ना कर पायी, हर जगह उत्साह का माहोल

------