2003 World cup के ये हैं गुनहगार जिनकी वजह से भारत फाइनल हार गया …

0
593
world cup

World Cup: 2003 World cup के ये हैं गुनहगार जिनकी वजह से भारत फाइनल हार गया … World Cup का आयोजन भले ही 4 सालों में सिर्फ एक बार किया जाता है! परंतु इस टूर्नामेंट (Tournament) की चर्चा हर गली, हर घर में हर चौपाल में सुनने को मिलती है! कपिल देव (Kapil Dev) ने 1983 में पहली बार world cup जिताया था, तो हमें बहुत खुशी हुई थी!

World Cup-

उसके बाद 2011 में महेंद्र सिंह धोनी (Mahendra singh dhoni) ने वर्ल्ड कप जिताया था! लेकिन 1983 के बाद कोई भी कप्तान world cup जिताने में नाकाम रहा! 2003 के world cup में टीम की अगुवाई Sourav Ganguli कर रहे थे! टीम का वर्ल्ड कप के फाइनल में पहुंचना बड़ी बात थी! लोग का मानना था, कि भारत यह जरुर जीतेगा! लेकिन उस final में bowler से लेकर batsman तक सभी ने निराश किया था! ऑस्ट्रेलिया (Australia) ने पहले बैटिंग करते हुए 2 विकेट के नुकसान पर 50 ओवर में 359 रनों का विशाल स्कोर खड़ा किया था!

गेंदबाजों ने किया था निराशाजनक प्रदर्शन –

भारत की तरफ से जहीर खान (Zaheer khan) ने 7 ओवर में 9.57 की इकॉनमी रेट (Economy rate) से 67 रन दिए थे! वहीं जवागल श्रीनाथ (Javagal shrinath) ने 10 ओवर में 8. 70 के एकॉनमी रेट से 87 रन दिए थे! वहीं हरभजन सिंह (Harbhajan singh) ने 8 ओवर में 49 रन देकर दो विकेट लिए थे!

भारत की खराब बल्लेबाजी –

भारत की तरफ से सचिन तेंदुलकर (Sachin tendulkar) ने 4 रन बनाए! वहीं वीरेंद्र सहवाग (Virender sehwag) ने 82 रनों की पारी खेली! कप्तान गांगुली (Sourav ganguli) 24 रन बनाकर आउट हो गए! मोहम्मद कैफ (Mohammad kaif) अपना खाता नहीं खोल पाए! और युवराज सिंह (Yuvraaj singh) ने 24 रन बनाए! वहीं राहुल द्रविड़ (Rahul Dravid) ने 27 रनों की पारी खेली! इस मैच में viru को छोड़कर कोई भी खिलाड़ी अपने आपको साबित नहीं कर सका! और नतीजा यह रहा कि भारत यह मैच 125 रनों से हार (Lose match 125 runs) गया! इस मैच को हराने के लिए सबसे ज्यादा कौन जिम्मेदार है! आप हमें plz comment करके जरूर बताएं!

और देखें – शमी ने लिया अपनी बेटी के लिए बड़ा फैसला, जानकर रो पड़ेंगे आप, अब हसीनजहाँ …