अंटार्कटिका से टूटा न्यूयॉर्क और नई दिल्ली से भी बड़ा आइसबर्ग, टेंशन में वैज्ञानिक

0
43

पृथ्वी के उत्तरी ध्रुव पर स्थित अंटार्कटिका जो सिर्फ बर्फ का ही बना हुआ है, आज पूरी दुनिया में चर्चा का विषय बन चुका है. इसका कारण यह है कि अंटार्कटिका का एक बहुत बड़ा हिमखंड जो लगभग दिल्ली से भी बड़ा है टूट कर अलग हो चुका है. यह हिमखंड लगभग 4320 वर्ग किलोमीटर में फैला हुआ है. यह अब तक का दुनिया का सबसे बड़ा आइसबर्ग है. इसे वैज्ञानिकों ने A-76 नाम दिया है जो इंसानों द्वारा प्रकृति से छेड़छाड़ का एक उदाहरण है.

ईश्वर को सबसे पहले यूरोपियन स्पेस एजेंसी के सेटेलाइट द्वारा देखा गया था जो समुद्र में स्थित रॉने आईसेल्फ से टूटा है. फिलहाल अभी वेडल समुद्र में ही तैर रहा है. इसकी लंबाई लगभग 170 किलोमीटर और चौड़ाई 25 किलोमीटर है. इस आइसबर्ग के टूटने का कारण बढ़ रहा तापमान है.

गौरतलब है कि यह पहला नतीजा नहीं है जब कोई आइसबर्ग इस क्षेत्र में टूटा हो. लेकिन यहां इस बार अब तक का सबसे बड़ा आइसबर्ग है. यह ग्लोबल वार्मिंग का नतीजा है. इससे पहले 1986 में इसी आइसशेल्फ सेठ लगभग 11,000 वर्ग किलोमीटर का आइसबर्ग अलग हुआ था.

ध्यान देने की बात तो यह है कि 1880 के बाद समुद्र का जल स्तर लगभग 9 इंच बढ़ गया है जो एक चिंता का विषय है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here