पहली बार होने जा रहा है ऐसा चुनाव, बीजेपी के ‘साइबर वारियर्स’ बनाम कांग्रेस के ‘राजीव के सिपाही’ के बीच, जानिये पूरा मामला …

Latest News BJP-Congress Election: ऐसा लग रहा है कि इस बार MP का Assembly चुनाव बाकी चुनावों से अलग होने वाला है. एक जमाना था जब Parties प्रचार के लिये घर-घर जाती थीं और अपने कार्यक्रमों के बारे में जनता से सीधे संवाद करती थीं लेकिन Social Media के जमाने में अब यह कवायद बीती बात हो गई! Latest News BJP-Congress Election- BJP ने मध्य प्रदेश में प्रचार के लिये 65,000 'साइबर वारियर्स' तैयार किये हैं जो युवा मतदाताओं को लुभाएंगे. अभी इस Team में 5,000 लोगों को और जोड़ने की तैयारी है. Congress भी सोशल मीडिया के मैदान में पीछे नहीं है. उसने भी BJP के इन Cyber Warriors से निपटने के लिये 4 हजार लोगों की एक टीम तैयार की है. इनका नाम 'राजीव के सिपाही रखा गया है'. पार्टी के IT Cell के इंचार्ज धर्मेन्द्र बाजपेई ने बताया कि इस टीम में 5,000 लोगों को और जोड़ा जाएगा. वहीं BJP नेताओं ने PTI से बातचीत में बताया कि जब पार्टी के अध्यक्ष अमित शाह जबलपुर आये थे तो उन्होंने इन साइबर वारियर्स को Social media के मैदान में कांग्रेस से निपटने के गुर सिखाए थे. दोनों ही पार्टियों ने फेसबुक, Tweeter के जरिये वोटर तक पहुंचने की पूरी योजना बना चुके हैं. इसमें Whatsapp को लेकर ज्यादा जोर दिया जा रहा है. Congress के आईटी सेल के इंचार्ज बाजपेयी ने कहा कि चुनाव के दौरान Whatsapp सबसे बड़ा हथियार साबित होने जा रहा है और 25 जून से इसके लिये Training भी शुरू हो जाएगी. वहीं बीजेपी की IT Cell ने तो काम करना भी शुरू कर दिया है. पिछले दिनों हुये 10 दिन के लिये 'गांव बंद' आंदोलन के दौरान Center और State सरकार की ओर से चलाई जा रही योजनाओं का खूब फैलाया. BJP के IT Cell के हेड शिवराज सिंह डाबी ने भी कहा कि वाट्सएप हमनी दोगुना एक्टिव रहेंगे और कांग्रेस के किसान आंदोलन से हमने आसानी से निपटा है. वहीं BJP के इस दावे को खारिज करते हुये धर्मेंन्द्र बाजपेयी ने कहा कि 'राहुल विद फॉरमर्स' 23 घंटे तक ट्विटर पर Trends करता रहा है. इससे इसकी सफलता का अंदाजा लगाया जा सकता है. इस Hashtag पर 1.25 लाख लोगों ने रिस्पांस दिया है. आपको बता दें कि हाल ही में MP (Madhya pradesh) Congress के अध्यक्ष बनाये गये कमलनाथ के ट्विटर पर 85 हजार फॉलोवर्स हैं वहीं मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के 47 लाख फॉलोवर्स हैं. राज्य में ट्विटर पर BJP के 2.8 लाख Followers हैं तो वहीं फेसबुक पर 2.5 फॉलोवर्स हैं. जबकि Congress के दोनों ही सोशल मीडिया platform पर बीजेपी से आधे फॉलोवर्स हैं. और देखें - आखिर क्यों लगे होते है ट्रैक पर खम्बो पर पत्थर, वजह जान कर आँखें खुली रह जाएँगी ! Follow @Indiavirals
 

पहली बार होने जा रहा है ऐसा चुनाव,  बीजेपी के ‘साइबर वारियर्स’ बनाम कांग्रेस के ‘राजीव के सिपाही’ के बीच, जानिये पूरा मामला …

Latest News BJP-Congress Election: ऐसा लग रहा है कि इस बार MP का Assembly चुनाव बाकी चुनावों से अलग होने वाला है. एक जमाना था जब Parties प्रचार के लिये घर-घर जाती थीं और अपने कार्यक्रमों के बारे में जनता से सीधे संवाद करती थीं लेकिन Social Media के जमाने में अब यह कवायद बीती बात हो गई! पहली बार होने जा रहा है ऐसा चुनाव,  बीजेपी के ‘साइबर वारियर्स’ बनाम कांग्रेस के ‘राजीव के सिपाही’ के बीच, जानिये पूरा मामला …

Latest News BJP-Congress Election-

BJP ने मध्य प्रदेश में प्रचार के लिये 65,000 'साइबर वारियर्स' तैयार किये हैं जो युवा मतदाताओं को लुभाएंगे. अभी इस Team में 5,000 लोगों को और जोड़ने की तैयारी है. Congress भी सोशल मीडिया के मैदान में पीछे नहीं है. पहली बार होने जा रहा है ऐसा चुनाव,  बीजेपी के ‘साइबर वारियर्स’ बनाम कांग्रेस के ‘राजीव के सिपाही’ के बीच, जानिये पूरा मामला … उसने भी BJP के इन Cyber Warriors से निपटने के लिये 4 हजार लोगों की एक टीम तैयार की है. इनका नाम 'राजीव के सिपाही रखा गया है'. पार्टी के IT Cell के इंचार्ज धर्मेन्द्र बाजपेई ने बताया कि इस टीम में 5,000 लोगों को और जोड़ा जाएगा. पहली बार होने जा रहा है ऐसा चुनाव,  बीजेपी के ‘साइबर वारियर्स’ बनाम कांग्रेस के ‘राजीव के सिपाही’ के बीच, जानिये पूरा मामला … वहीं BJP नेताओं ने PTI से बातचीत में बताया कि जब पार्टी के अध्यक्ष अमित शाह जबलपुर आये थे तो उन्होंने इन साइबर वारियर्स को Social media के मैदान में कांग्रेस से निपटने के गुर सिखाए थे. पहली बार होने जा रहा है ऐसा चुनाव,  बीजेपी के ‘साइबर वारियर्स’ बनाम कांग्रेस के ‘राजीव के सिपाही’ के बीच, जानिये पूरा मामला … दोनों ही पार्टियों ने फेसबुक, Tweeter के जरिये वोटर तक पहुंचने की पूरी योजना बना चुके हैं. इसमें Whatsapp को लेकर ज्यादा जोर दिया जा रहा है. Congress के आईटी सेल के इंचार्ज बाजपेयी ने कहा कि चुनाव के दौरान Whatsapp सबसे बड़ा हथियार साबित होने जा रहा है और 25 जून से इसके लिये Training भी शुरू हो जाएगी. पहली बार होने जा रहा है ऐसा चुनाव,  बीजेपी के ‘साइबर वारियर्स’ बनाम कांग्रेस के ‘राजीव के सिपाही’ के बीच, जानिये पूरा मामला … वहीं बीजेपी की IT Cell ने तो काम करना भी शुरू कर दिया है. पिछले दिनों हुये 10 दिन के लिये 'गांव बंद' आंदोलन के दौरान Center और State सरकार की ओर से चलाई जा रही योजनाओं का खूब फैलाया. BJP के IT Cell के हेड शिवराज सिंह डाबी ने भी कहा कि वाट्सएप हमनी दोगुना एक्टिव रहेंगे और कांग्रेस के किसान आंदोलन से हमने आसानी से निपटा है. पहली बार होने जा रहा है ऐसा चुनाव,  बीजेपी के ‘साइबर वारियर्स’ बनाम कांग्रेस के ‘राजीव के सिपाही’ के बीच, जानिये पूरा मामला … वहीं BJP के इस दावे को खारिज करते हुये धर्मेंन्द्र बाजपेयी ने कहा कि 'राहुल विद फॉरमर्स' 23 घंटे तक ट्विटर पर Trends करता रहा है. इससे इसकी सफलता का अंदाजा लगाया जा सकता है. इस Hashtag पर 1.25 लाख लोगों ने रिस्पांस दिया है. पहली बार होने जा रहा है ऐसा चुनाव,  बीजेपी के ‘साइबर वारियर्स’ बनाम कांग्रेस के ‘राजीव के सिपाही’ के बीच, जानिये पूरा मामला … आपको बता दें कि हाल ही में MP (Madhya pradesh) Congress के अध्यक्ष बनाये गये कमलनाथ के ट्विटर पर 85 हजार फॉलोवर्स हैं वहीं मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के 47 लाख फॉलोवर्स हैं. राज्य में ट्विटर पर BJP के 2.8 लाख Followers हैं तो वहीं फेसबुक पर 2.5 फॉलोवर्स हैं. जबकि Congress के दोनों ही सोशल मीडिया platform पर बीजेपी से आधे फॉलोवर्स हैं. और देखें -  आखिर क्यों लगे होते है ट्रैक पर खम्बो पर पत्थर, वजह जान कर आँखें खुली रह जाएँगी !