राहुल गांधी को याद आ गया कुमारस्वामी का बयान, तुरंत कर लेंगे समर्थन वापसी की घोषणा..

Rahul remember statement Kumaraswamy: कुछ दिनों से चल रहे कर्नाटक में हाइवोल्टेज ड्रामे के बाद आखिरकार BS येदियुरप्पा को सदन में इस्तीफा देना पड़ गया। इस्तीफा देने से पहले येदियुरप्पा ने बतौर मुख्यमंत्री बेहद भावुक भाषण दिया। ये तो हो गई पहले की बात अब आगे के समीकरण पर बात करते हैं। बुधवार को अब कांग्रेस के साथ गठबंधन करने वाले एचडी कुमारस्वामी मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे. Rahul remember statement Kumaraswamy राजनीति की मशहूर कहावत एक कहावत बेहद मशहूर है कि यहां कोई भी किसी का स्थाई रुप से दोस्त या दुश्मन नहीं होता। यह कहावत आज के इस ताजा समीकरण पर बेहद फिट बैठती है। आज हम एचडी देवगौड़ा के ऐसे पुराने बयान के बारे में बताने जा रहे हैं जिसके बारे में जानकर राहुल गांधी को तगड़ा झटका लग सकता है. विधानसभा चुनाव से पहले इंटरव्यू एचडी कुमारस्वामी बुधवार को जिस कांग्रेस के साथ सरकार बनाने जा रहे हैं वो कभी इसी कांग्रेस को लोकतंत्र के लिए सबसे बड़ा खतरा बता चुके हैं। अंग्रेजी अखबार मिंट को कुमारस्वामी ने 27 मार्च 2018 यानी विधानसभा चुनाव से पहले एक इंटरव्यू दिया था। जिसमें उन्होंने कांग्रेस को भाजपा से ज्यादा खतरनाक करार दिया था. राहुल गांधी को कर्नाटक की राजनीति नहीं आती जब कुमारस्वामी से पूछा गया था कि राहुल गांधी आपको भाजपा की बी टीम कह रहे हैं। इसपर आपका क्या कहना है। इसके जवाब में उन्होंने कहा था, ‘राहुल गांधी को कर्नाटक की राजनीति का एबीसीडी तक नहीं आता है। वह अपनी इच्छानुसार हमारा उपयोग करते हैं और अब हमें भाजपा की बी टीम बता रहे हैं. ताजा गठबंधन से एक बात साफ हो गई हमारी आलोचना करने से पहले राहुल गांधी को अपनी मां के पास जाना चाहिए और उनसे पूछना चाहिए कि क्या वादे थे और क्यों लोगों ने केंद्र में सत्ता पर काबिज रही उनकी पार्टी को सिरे से नकार दिया।कुमारस्वामी बुधवार को कर्नाटक के सीएम के रुप में कुर्सी संभालने वाले हैं। अगर राहुल गांधी को यह बयान याद भी हो तो भी वह गठबंधन नहीं तोड़ सकते हैं। इस ताजा गठबंधन से एक बात तो साफ हो गई है कि राजनीति केवल सत्ता के लिए ही की जाती है। लोगों की इच्छा से इसका कोई लेना देना नहीं। और पढ़े: जिद्दी BS येदियुरप्पा जाते-जाते कल की राजनीति पारी खेल गए .. Follow @Indiavirals ? ------
 

राहुल गांधी को याद आ गया कुमारस्वामी का बयान, तुरंत कर लेंगे समर्थन वापसी की घोषणा..

Rahul remember statement Kumaraswamy: कुछ दिनों से चल रहे कर्नाटक में हाइवोल्टेज ड्रामे के बाद आखिरकार BS येदियुरप्पा को सदन में इस्तीफा देना पड़ गया। इस्तीफा देने से पहले येदियुरप्पा ने बतौर मुख्यमंत्री बेहद भावुक भाषण दिया। ये तो हो गई पहले की बात अब आगे के समीकरण पर बात करते हैं। बुधवार को अब कांग्रेस के साथ गठबंधन करने वाले एचडी कुमारस्वामी मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे.

Rahul remember statement Kumaraswamy

राजनीति की मशहूर कहावत

एक कहावत बेहद मशहूर है कि यहां कोई भी किसी का स्थाई रुप से दोस्त या दुश्मन नहीं होता। यह कहावत आज के इस ताजा समीकरण पर बेहद फिट बैठती है। आज हम एचडी देवगौड़ा के ऐसे पुराने बयान के बारे में बताने जा रहे हैं जिसके बारे में जानकर राहुल गांधी को तगड़ा झटका लग सकता है. राहुल गांधी को याद आ गया कुमारस्वामी का बयान, तुरंत कर लेंगे समर्थन वापसी की घोषणा..

विधानसभा चुनाव से पहले इंटरव्यू

एचडी कुमारस्वामी बुधवार को जिस कांग्रेस के साथ सरकार बनाने जा रहे हैं वो कभी इसी कांग्रेस को लोकतंत्र के लिए सबसे बड़ा खतरा बता चुके हैं। अंग्रेजी अखबार मिंट को कुमारस्वामी ने 27 मार्च 2018 यानी विधानसभा चुनाव से पहले एक इंटरव्यू दिया था। जिसमें उन्होंने कांग्रेस को भाजपा से ज्यादा खतरनाक करार दिया था. राहुल गांधी को याद आ गया कुमारस्वामी का बयान, तुरंत कर लेंगे समर्थन वापसी की घोषणा..

राहुल गांधी को कर्नाटक की राजनीति नहीं आती

जब कुमारस्वामी से पूछा गया था कि राहुल गांधी आपको भाजपा की बी टीम कह रहे हैं। इसपर आपका क्या कहना है। इसके जवाब में उन्होंने कहा था, ‘राहुल गांधी को कर्नाटक की राजनीति का एबीसीडी तक नहीं आता है। वह अपनी इच्छानुसार हमारा उपयोग करते हैं और अब हमें भाजपा की बी टीम बता रहे हैं. राहुल गांधी को याद आ गया कुमारस्वामी का बयान, तुरंत कर लेंगे समर्थन वापसी की घोषणा..

ताजा गठबंधन से एक बात साफ हो गई

हमारी आलोचना करने से पहले राहुल गांधी को अपनी मां के पास जाना चाहिए और उनसे पूछना चाहिए कि क्या वादे थे और क्यों लोगों ने केंद्र में सत्ता पर काबिज रही उनकी पार्टी को सिरे से नकार दिया।कुमारस्वामी बुधवार को कर्नाटक के सीएम के रुप में कुर्सी संभालने वाले हैं। अगर राहुल गांधी को यह बयान याद भी हो तो भी वह गठबंधन नहीं तोड़ सकते हैं। इस ताजा गठबंधन से एक बात तो साफ हो गई है कि राजनीति केवल सत्ता के लिए ही की जाती है। लोगों की इच्छा से इसका कोई लेना देना नहीं। और पढ़े: जिद्दी BS येदियुरप्पा जाते-जाते कल की राजनीति पारी खेल गए ..

------