SP Party के अध्यक्ष अखिलेश यादव पूर्व सांसद, पूर्व मुख्यमंत्री के बाद अब एक और पूर्व …

SP Party: SP Party के अध्यक्ष अखिलेश यादव पूर्व सांसद, पूर्व मुख्यमंत्री के बाद अब एक और पूर्व ... SP Party के मुखिया Akhilesh yadav के नाम के पीछे एक और पूर्व लग जाएगा! वह आज से किसी भी सदन के सदस्य नहीं रहेंगें और ये अखिलेश की राजनीतिक करियर के 18 साल बाद होने जा रहा है! चुटीले अंदाज में अब अखिलेश न तो Yogi सरकार को और न ही केंद्र की Modi सरकार को सदन में घेर पायेगें! इसके लिए उन्हें अपनी पार्टी के सदस्यों का सहारा लेना पड़ेगा! SP Party- SP Party के अध्यक्ष अखिलेश यादव पूर्व सांसद, पूर्व मुख्यमंत्री के बाद अब पूर्व MLC यानी पूर्व विधान परिषद् सदस्य होने जा रहे हैं! देश के सबसे बड़े सियासी परिवार से ताल्लुक रखने वाले Akhilesh yadav ने साल 2000 से अपने सियासी सफर की शुरुआत की! कन्नौज उपचुनाव में सांसद चुने गए! इसके बाद वो 2 बार और MP बने! साल 2009 में वो कन्नौज और फ़िरोज़ाबाद दोनों सीट से win, लेकिन बाद में फ़िरोज़ाबाद सीट उन्होंने छोड़ दी! 3 बार बन चुके अखिलेश यादव ने साल 2012 में सांसद के पद से इस्तीफ़ा दिया! क्योंकि उन्हें यूपी का CM की कुर्सी मिल गयी थी! CM बनने के बाद उनका यूपी के किसी न किसी सदन का सदस्य होना जरूरी था! लिहाज़ा वो 6 साल के लिए MLC यानी विधान परिषद् सदस्य बन गए! जिसका कार्यकाल आज खत्म हो जायेगा और अखिलेश के नाम के आगे पूर्व लग जायेगा! लोकसभा चुनाव तक वो देश के किसी सदन सदस्य नहीं बनेगें! आपको बता दें की अखिलेश अगले साल होने वाले लोकसभा चुनाव की तैयारी में अभी से जोर-शोर में जुटे हैं! इसके लिए उन्होंने पिछले दिनों बहुजन समाज पार्टी से हाथ मिलाया और गोरखपुर-फुलपुर लोकसभा चुनाव में जीत दर्ज की! अब उनकी नजर कैराना सीट पर है! इस सीट के लिए भी विपक्षी दल SP पार्टी का साथ देने के लिए तैयार है! अखिलेश लगातार राज्य की योगी सरकार पर हमलावर हैं! और देखें - CM योगी ने दिया मुसलमानों को बड़ा तोहफा, दौड़ी खुशी की लहर.. Follow @Indiavirals
 

SP Party: SP Party के अध्यक्ष अखिलेश यादव पूर्व सांसद, पूर्व मुख्यमंत्री के बाद अब एक और पूर्व ... SP Party के मुखिया Akhilesh yadav के नाम के पीछे एक और पूर्व लग जाएगा! वह आज से किसी भी सदन के सदस्य नहीं रहेंगें और ये अखिलेश की राजनीतिक करियर के 18 साल बाद होने जा रहा है! चुटीले अंदाज में अब अखिलेश न तो Yogi सरकार को और न ही केंद्र की Modi सरकार को सदन में घेर पायेगें! इसके लिए उन्हें अपनी पार्टी के सदस्यों का सहारा लेना पड़ेगा! SP Party के अध्यक्ष अखिलेश यादव पूर्व सांसद, पूर्व मुख्यमंत्री के बाद अब एक और पूर्व …

SP Party-

SP Party के अध्यक्ष अखिलेश यादव पूर्व सांसद, पूर्व मुख्यमंत्री के बाद अब पूर्व MLC यानी पूर्व विधान परिषद् सदस्य होने जा रहे हैं! देश के सबसे बड़े सियासी परिवार से ताल्लुक रखने वाले Akhilesh yadav ने साल 2000 से अपने सियासी सफर की शुरुआत की! SP Party के अध्यक्ष अखिलेश यादव पूर्व सांसद, पूर्व मुख्यमंत्री के बाद अब एक और पूर्व … कन्नौज उपचुनाव में सांसद चुने गए! इसके बाद वो 2 बार और MP बने! साल 2009 में वो कन्नौज और फ़िरोज़ाबाद दोनों सीट से win, लेकिन बाद में फ़िरोज़ाबाद सीट उन्होंने छोड़ दी! 3 बार बन चुके अखिलेश यादव ने साल 2012 में सांसद के पद से इस्तीफ़ा दिया! क्योंकि उन्हें यूपी का CM की कुर्सी मिल गयी थी! SP Party के अध्यक्ष अखिलेश यादव पूर्व सांसद, पूर्व मुख्यमंत्री के बाद अब एक और पूर्व … CM बनने के बाद उनका यूपी के किसी न किसी सदन का सदस्य होना जरूरी था! लिहाज़ा वो 6 साल के लिए MLC यानी विधान परिषद् सदस्य बन गए! जिसका कार्यकाल आज खत्म हो जायेगा और अखिलेश के नाम के आगे पूर्व लग जायेगा! लोकसभा चुनाव तक वो देश के किसी सदन सदस्य नहीं बनेगें! SP Party के अध्यक्ष अखिलेश यादव पूर्व सांसद, पूर्व मुख्यमंत्री के बाद अब एक और पूर्व … आपको बता दें की अखिलेश अगले साल होने वाले लोकसभा चुनाव की तैयारी में अभी से जोर-शोर में जुटे हैं! इसके लिए उन्होंने पिछले दिनों बहुजन समाज पार्टी से हाथ मिलाया और गोरखपुर-फुलपुर लोकसभा चुनाव में जीत दर्ज की! अब उनकी नजर कैराना सीट पर है! इस सीट के लिए भी विपक्षी दल SP पार्टी का साथ देने के लिए तैयार है! अखिलेश लगातार राज्य की योगी सरकार पर हमलावर हैं! और देखें -  CM योगी ने दिया मुसलमानों को बड़ा तोहफा, दौड़ी खुशी की लहर..