एक मैसेज ने मचाया बवाल, 2019 में भाजपा सरकार बनने के बावजूद नरेंद्र मोदी नही होंगे प्रधानमंत्री …

Win BJP Change PM 2019: हाल ही में Social Media पर एक Massage Viral हो रहा है जिसमें यह साफ-साफ लिखा गया है कि Politics का निर्णायक वर्ष 2019 बेहद करीब आ रहा है। ऐसे में NDA के साथी गुट जहां उसका साथ छोड़ कर जा रहे हैं वहीं दूसरी ओर Opposition में बढ़ रही एकता PM Modi को सत्ता से बाहर निकालने के लिए मजबूत हो रही है। Win BJP Change PM 2019- हालांकि प्रश्न इस बात का नही है कि क्या PM Narender Modi 2019 में एक बार पुनः जीत हासिल कर इतिहास रच पाएंगे या खुद History के पन्नों में सिमट कर रह जाएंगे। बल्कि इस बात का है कि यदि 2019 में BJP को पूर्ण बहुमत ना मिला तो क्या NDA में शामिल अन्य गुट नरेंद्र मोदी को ही अपना PM चुनेंगे या कोई अन्य सियासी पैंतरा आजमाएंगे। NDA की तरफ से मोदी नहीं तो आखिर कौन होगा PM? साथ ही इस Massage में यह भी लिखा है कि जिस तरह कुछ समय पहले अविश्वास प्रस्ताव (No-Confidence Motion) के द्वारा बाजपेई सरकार को मात्र 1 Vote से गिरा दिया गया था। उससे आज तक Politics में षड्यंत्र की बू आती है। जिससे साफ तौर पर यह कह पाना मुश्किल है कि 2019 में BJP को पूर्ण बहुमत ना मिलने पर NDA के अन्य सभी गुटों के दिल Modi के नाम पर मिल जाएंगे। ऐसे में Question यह उठता है कि यदि देश के अगले PM NDA की तरफ से मोदी नहीं तो आखिर कौन होगा? नरेंद्र मोदी की जगह लालकृष्ण आडवाणी - आगे इस Viral Massage में लिखा है की नरेंद्र मोदी की जगह लालकृष्ण आडवाणी के लिए NDA के अन्य गुटों के दिल मिल सकते हैं परंतु उनकी बढ़ती उम्र और सेहत बीच मे आड़े आ सकती है। जिसके बाद Lalkrishan Aadvani (BJP) की बेहद करीबी माने जाने वाली सुषमा स्वराज एक बेहतर विकल्प शामिल हो सकती हैं। क्योंकि UPA सरकार में जब Opposition में NDA था तब प्रतिपक्ष सुषमा स्वराज के पास ही था। इसके अलावा हाल ही में कुछ दिन पहले जब सुषमा स्वराज Twitter पर Troll इन का शिकार हुई थी तो विपक्षी दल के नेताओं ने भी अपने दल के स्तर से ऊपर उठकर Sushma Swaraj का साथ दिया। अन्य गुटों के दिल सुषमा स्वराज - ऐसे में यह स्पष्ट करता है कि सुषमा स्वराज के Opposition Party के साथ संबंध भी अच्छे हैं। इस कारण से NDA के अन्य गुटों के दिल सुषमा स्वराज के नाम पर मिल सकते हैं परंतु ऐसा तभी संभव है जब BJP के पास बहुमत ना हो। हमें यह पता चला कि चुनाव 2019 में यदि NDA के पास बहुमत आता है परंतु BJP के पास बहुत कम होता है। मोदी के पास उत्तर भारत में एक बेहद मजबूत पकड़ - ऐसे में भी NDA के अन्य दल PM नरेंद्र मोदी के नाम पर ही हामी भरेंगे क्योंकि PM मोदी के पास उत्तर भारत में एक बेहद मजबूत पकड़ है। जिसका मुख्य उदाहरण Loksabha Election 2014 में उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, हरियाणा, उत्तराखंड, राजस्थान, दिल्ली, असम, गुजरात इत्यादि राज्य रह चुके हैं। साथ ही UPA सरकार में Opposition में सुषमा स्वराज को नेता इसीलिए चुना गया था क्योंकि नरेंद्र मोदी उस समय पर गुजरात के CM थे तथा किसी भी व्यक्ति को एक समय पर 2 Position संभालने का अधिकार नहीं है। देश के अगले प्रधानमंत्री बनेंगे - इसलिए हमारी पड़ताल में यह पता चलता है कि यदि Loksabha Election 2019 में NDA सरकार के पास बहुमत आता है तो PM नरेंद्र मोदी ही निश्चित तौर पर देश के अगले प्रधानमंत्री बनेंगे और एक ऐसा इतिहास लिखेंगे जो पहले कभी नहीं लिखा गया। क्योंकि भारत के इतिहास में इससे पहले Congress के अलावा किसी भी अन्य Party ने लगातार 2 बार लोकसभा चुनाव नहीं जीता है! और देखे - कांग्रेस पार्टी सदमे में, अब आप पार्टी का ये बड़ा नेता शामिल होने जा रहा है बीजेपी में … Follow @Indiavirals
 

Win BJP Change PM 2019: हाल ही में Social Media पर एक Massage Viral हो रहा है जिसमें यह साफ-साफ लिखा गया है कि Politics का निर्णायक वर्ष 2019 बेहद करीब आ रहा है। ऐसे में NDA के साथी गुट जहां उसका साथ छोड़ कर जा रहे हैं वहीं दूसरी ओर Opposition में बढ़ रही एकता PM Modi को सत्ता से बाहर निकालने के लिए मजबूत हो रही है।

Win BJP Change PM 2019-

एक मैसेज ने मचाया बवाल, 2019 में भाजपा सरकार बनने के बावजूद नरेंद्र मोदी नही होंगे प्रधानमंत्री … हालांकि प्रश्न इस बात का नही है कि क्या PM Narender Modi 2019 में एक बार पुनः जीत हासिल कर इतिहास रच पाएंगे या खुद History के पन्नों में सिमट कर रह जाएंगे। बल्कि इस बात का है कि यदि 2019 में BJP को पूर्ण बहुमत ना मिला तो क्या NDA में शामिल अन्य गुट नरेंद्र मोदी को ही अपना PM चुनेंगे या कोई अन्य सियासी पैंतरा आजमाएंगे।

NDA की तरफ से मोदी नहीं तो आखिर कौन होगा PM?

एक मैसेज ने मचाया बवाल, 2019 में भाजपा सरकार बनने के बावजूद नरेंद्र मोदी नही होंगे प्रधानमंत्री … साथ ही इस Massage में यह भी लिखा है कि जिस तरह कुछ समय पहले अविश्वास प्रस्ताव (No-Confidence Motion) के द्वारा बाजपेई सरकार को मात्र 1 Vote से गिरा दिया गया था। उससे आज तक Politics में षड्यंत्र की बू आती है। जिससे साफ तौर पर यह कह पाना मुश्किल है कि 2019 में BJP को पूर्ण बहुमत ना मिलने पर NDA के अन्य सभी गुटों के दिल Modi के नाम पर मिल जाएंगे। ऐसे में Question यह उठता है कि यदि देश के अगले PM NDA की तरफ से मोदी नहीं तो आखिर कौन होगा?

नरेंद्र मोदी की जगह लालकृष्ण आडवाणी -

आगे इस Viral Massage में लिखा है की नरेंद्र मोदी की जगह लालकृष्ण आडवाणी के लिए NDA के अन्य गुटों के दिल मिल सकते हैं परंतु उनकी बढ़ती उम्र और सेहत बीच मे आड़े आ सकती है। एक मैसेज ने मचाया बवाल, 2019 में भाजपा सरकार बनने के बावजूद नरेंद्र मोदी नही होंगे प्रधानमंत्री … जिसके बाद Lalkrishan Aadvani (BJP) की बेहद करीबी माने जाने वाली सुषमा स्वराज एक बेहतर विकल्प शामिल हो सकती हैं। क्योंकि UPA सरकार में जब Opposition में NDA था तब प्रतिपक्ष सुषमा स्वराज के पास ही था। इसके अलावा हाल ही में कुछ दिन पहले जब सुषमा स्वराज Twitter पर Troll इन का शिकार हुई थी तो विपक्षी दल के नेताओं ने भी अपने दल के स्तर से ऊपर उठकर Sushma Swaraj का साथ दिया।

अन्य गुटों के दिल सुषमा स्वराज -

एक मैसेज ने मचाया बवाल, 2019 में भाजपा सरकार बनने के बावजूद नरेंद्र मोदी नही होंगे प्रधानमंत्री … ऐसे में यह स्पष्ट करता है कि सुषमा स्वराज के Opposition Party के साथ संबंध भी अच्छे हैं। इस कारण से NDA के अन्य गुटों के दिल सुषमा स्वराज के नाम पर मिल सकते हैं परंतु ऐसा तभी संभव है जब BJP के पास बहुमत ना हो। हमें यह पता चला कि चुनाव 2019 में यदि NDA के पास बहुमत आता है परंतु BJP के पास बहुत कम होता है।

मोदी के पास उत्तर भारत में एक बेहद मजबूत पकड़ -

एक मैसेज ने मचाया बवाल, 2019 में भाजपा सरकार बनने के बावजूद नरेंद्र मोदी नही होंगे प्रधानमंत्री … ऐसे में भी NDA के अन्य दल PM नरेंद्र मोदी के नाम पर ही हामी भरेंगे क्योंकि PM मोदी के पास उत्तर भारत में एक बेहद मजबूत पकड़ है। जिसका मुख्य उदाहरण Loksabha Election 2014 में उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, हरियाणा, उत्तराखंड, राजस्थान, दिल्ली, असम, गुजरात इत्यादि राज्य रह चुके हैं। एक मैसेज ने मचाया बवाल, 2019 में भाजपा सरकार बनने के बावजूद नरेंद्र मोदी नही होंगे प्रधानमंत्री … साथ ही UPA सरकार में Opposition में सुषमा स्वराज को नेता इसीलिए चुना गया था क्योंकि नरेंद्र मोदी उस समय पर गुजरात के CM थे तथा किसी भी व्यक्ति को एक समय पर 2 Position संभालने का अधिकार नहीं है।

देश के अगले प्रधानमंत्री बनेंगे -

एक मैसेज ने मचाया बवाल, 2019 में भाजपा सरकार बनने के बावजूद नरेंद्र मोदी नही होंगे प्रधानमंत्री … इसलिए हमारी पड़ताल में यह पता चलता है कि यदि Loksabha Election 2019 में NDA सरकार के पास बहुमत आता है तो PM नरेंद्र मोदी ही निश्चित तौर पर देश के अगले प्रधानमंत्री बनेंगे और एक ऐसा इतिहास लिखेंगे जो पहले कभी नहीं लिखा गया। क्योंकि भारत के इतिहास में इससे पहले Congress के अलावा किसी भी अन्य Party ने लगातार 2 बार लोकसभा चुनाव नहीं जीता है! और देखे -  कांग्रेस पार्टी सदमे में, अब आप पार्टी का ये बड़ा नेता शामिल होने जा रहा है बीजेपी में …